बालों की स्ट्रेटनिंग के बाद अपने हेयर केयर रूटीन में करें बदलाव, इन 5 बातों का रखें खास ख्याल

केमिकल हेयर ट्रीटमेंट आपके बालों को लंबे समय तक सॉफ्ट रखने का एक अच्छा तरीका है, लेकिन स्ट्रेटनिंग के बाद असली चुनौती शुरू होती है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Mar 16, 2020 15:20 IST
बालों की स्ट्रेटनिंग के बाद अपने हेयर केयर रूटीन में करें बदलाव, इन 5 बातों का रखें खास ख्याल

कपड़ों के स्टाइल और लुक बदलने के साथ-साथ आज कल सभी अपने बालों के स्टाइल का भी खास ख्याल रखते हैं। खूबसूरत और ग्लैमर्स लुक पाने के लिए लड़कियां कभी बालों को कर्ली करवा रही हैं, तो कभी स्ट्रेट। पर इन सभी हेयर स्टाइल के फायदे और नुकसान भी हैं। स्थायी रूप से सीधे स्ट्रेट, यानी कि बालों को सीधा करने के बाद आवश्यक देखभाल करना बेहद जरूरी है। लेकिन जब आप रोजाना फ्रिज़ और नम जलवायु से जूझ रहे होते हैं, तो बालों की स्ट्रेटनिंग करवाना दीर्घकालिक समाधान हो सकता है। जबकि रासायनिक स्ट्रेटनिंग के लिए हर किसी के पास अपने कारण हैं। वहीं बालों में स्ट्रेटनिंग करवाने के बाद कई चीजों के इस्तेमाल को लेकर जागरूक रहने के लिए भी कहा जाता है। जैसे कि स्ट्रेटनिंग के बाद बालों पर सल्फेट शैंपू का उपयोग करने से बचना चाहिए। आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ और टिप्स के बारे में, जिनका हमें स्ट्रेटनिंग के बाद खास ख्याल रखना चाहिए।

insidehaircare

बालों पर स्ट्रेटनिंग का असर

जब आप बालों पर स्ट्रेटनर का इस्तेमाल कर रही हों, तो आपको इस बात का ख्याल रखना होगा कि आप बालों में स्ट्रेट नर लगाकर रूके नहीं। अगर बाल सही से स्ट्रेट नहीं होते तो आप बालों के उस हिस्से पर दोबारा स्ट्रेटनर का इस्तेमाल कर सकती हैं, लेकिन बालों में स्ट्रेटनर लगाकर होल्ड न करें। इससे आपके बाल जल सकते हैं। वहीं इसमें इस्तेमाल होने वाले मजबूत रसायन आपके बालों में घुस जाते हैं और आपके बालों के आकार और बनावट को बदल देते हैं। इसके साथ ही ये बालों की जड़ो यानी की आपके स्कैल्प को भी खासा नुकसान पहुंचाते हैं। अगर आप घर पर बालों को स्ट्रेट कर रही हैं तो आपको आयरन के तापमान पर विशेष ध्यान रखना चाहिए। दरअसल, बालों के टेक्सचर के हिसाब से तापमान सेट किया जाता है। आमतौर पर बालों को स्ट्रेट करते वक्त तापमान को कम रखने की ही कोशिश करनी चाहिए। 

इसे भी पढ़ें : क्या आपके बाल भी होते हैं फ्रिजी? अगर हां तो इन तरीकों से पाएं छुटकारा

स्ट्रेटनिंग के बाद इन बातों का ख्याल रखें

-रॉड सल्फर बताते हैं कि सल्फेट्स के साथ कोई भी शैम्पू आपके स्कैल्प के लिए बहुत कठोर हो सकता है। इसलिए अपने बालों के स्वास्थ्य को और खराब करने से बचने के लिए सल्फेट मुक्त बाल उत्पादों पर स्विच करें।

-शैम्पू करने की कोशिश भी कर सकते हैं। जरूरत होने पर बालों को लाइट शैंपू से धोएं। 

-अपने बालों को धूप और प्रदूषण से बचाने के लिए हर दो हफ्ते में एक बार हेयर स्पा का विकल्प चुनें।

insidehairstraight

इसे भी पढ़ें : पैराबेन फ्री शैम्पू कैसे है बालों के लिए फायदेमंद, जानें इससे होने वाले नुकसान और फायदे

क्या स्ट्रेट बाल पर्यावरण से ज्यादा क्षतिग्रस्त हो जाते हैं?

पर्यावरण से सभी बाल आसानी से खराब हो जाते हैं, विशेष रूप से सीधे बाल। ये आपके बालों के प्राकृतिक तेलों से छीन लेता है और रसायनों के संपर्क से इसे और खराब कर देता है। यह आपके बालों की जड़ों को पर्यावरणीय तत्वों, जैसे सूरज, मौसम में बदलाव और प्रदूषण के प्रति अधिक संवेदनशील बनाता है। स्ट्रेटनिंग बालों को झड़ने से रोकने के लिए करवाते हैं पर अगर आप इसका खास ख्याल नहीं रखते तो ये आपके बालों को और खराब कर सकता है।

Watch Video: बालों को मजबूत बनाने लिए मिसोथैरेपी 

बाल सीधे करवाने के बाद घर पर हेयरकेयर की दिनचर्या कैसी होनी चाहिए?

  • -अपने सामान्य हेयरकेयर रूटीन से चिपके रहें पर बालों को कम धोने की कोशिश करें। 
  • -स्ट्रेट किए गए बाल ड्राय और अजीब से होते हैं, इसलिए सप्ताह में एक बार या हर 10 दिनों में गहरी कंडीशनिंग करने की कोशिश करें।
  • - अपने बालों को सीधा करने के बाद नमी बनाए रखने के लिए एक अच्छा अच्छी गुणवत्ता वाले हेयर सीरम का इस्तेमाल करें। 
  • - अपने आहार में बालों में विटामिन-ई और प्रोटीन शामिल करने की कोशिश करें।
  • - एंटीऑक्सिडेंट और हेल्दी फैट को भी अपने आहार में शामिल करने की कोशिश करें।

Read more articles on Hair-Care in Hindi

Disclaimer