COVID 19: चीन के बंद शहर 'वुहान' में पनपी एक आसाधरण मोहब्बत की कहानी, वीडियो में शेयर किए खूबसूरत पल

एक तरफ जहां पूरी दुनिया कोरोनावायरस की दहशत का शिकार है वहीं वुहान में एक दंपत्ति अपने प्यार की नई कहानी लिख रहे हैं, जानिए कैसे। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Mar 13, 2020Updated at: Mar 13, 2020
COVID 19: चीन के बंद शहर 'वुहान' में पनपी एक आसाधरण मोहब्बत की कहानी, वीडियो में शेयर किए खूबसूरत पल

गुजरते दिन के साथ जैसे-जैसे कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले सामने आ रहे हैं ठीक उसी तरह ये वायरस दुनिया को अपनी चपेट में लेता जा रहा है। हर गुजरते दिन के साथ मरने वाले लोगों की संख्या और इस वायरस से पीड़ित लोगों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। चीन के वुहान शहर से फैला यह वायरस अब दुनिया भर के लिए चिंता का सबब बन चुका है। कोरोना ने कई घरों में दस्तक दे ही, जिससे न केवल मरीज ही परेशान हैं बल्कि परिवार के सदस्यों को भी उतनी ही परेशानी झेलनी पड़ रही है। इस बीच, वुहान के रहने वाले एक दंपत्ति के हालिया व्लॉग ने सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा है। जी हां, मामला कुछ ऐसा है कि पत्नी को हाल ही में कोरोनावायरस से पीड़ित होने की बात पता चली है और पती उसकी देखभाल कर रहा है। ली टिंग नाम की यह महिला वुहान के सेंट्रल हॉस्पिटल की इमरजेंसी रूम में भर्ती है। दंपति ने एक खूबसूरत वीडियो बनाया है, जिसे नाम दिया है ''हमारी कोरोनावायरस डायरी''। वीडियो में ये दिखाया गया है कि कैसे कोई बीमार होने पर अपने खास का ख्याल रखे। महिला के पति हाय टैंग एक प्रोफेशनल कैमरामैन हैं, जिन्होंने वायरस से लड़ने के दौरान दंपति के सामने आने वाली चुनौतियों के बारे में बताया है।

LOVESTORY

कैसे हुई शुरुआत

वुहान में जब कोरोनावायरस के फैलने की शुरुआत हुई तो अस्पतालों में लोगों के आने का सिलसिला शुरु हुआ। उस वक्त महिला आपातकालीन कक्ष में कोरोनावायरस के मरीजों की देखभाल करने वाली नर्सों की एक टीम का हिस्सा थी। अस्पताल ने इस वायरस से निपटने के लिए तमाम दावे किए थे। 31 जनवरी को पोस्ट किए गए पहले वीडियो में ली मरीजों की देखरेख में आने वाली चुनौतियों के प्रति सकरात्मक रवैया दिखा रही है। ये बात तब की है जब कोरोना ने अपना कहर नहीं दिखाया था। वहीं दूसरी तरफ उनके पति शुरुआत से ही अपने प्यार और दुलार से अपनी बीबी का ख्याल रख रहे थे और नर्सिंग का काम सही प्रकार से चल रहा था। उनके पति का कहना है कि वह चाहते थी कि उनकी पत्नी ठीक रहे इसलिए वह हर संभव कोशिश कर रहे थे।

लेकिन जब ली में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई उस वक्त उनके लक्षण काफी हल्के थे और उन्हें खुद आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई। उनके डॉक्यूमेंट उनके बच्चों से लेकर घर के बड़े-बूढ़ों तक को भेजे गए ताकि वह सुरक्षित रहें। इस पूरे वक्त तक ली टैंग को घर पर आराम करने की सलाह दी गई और पति घर के बाकी काम किया करते थे। फिर चाहे वह खाना बनाना हो या अपनी बीबी के चेहरे पर खुशी लानी हो। ये वीडियो दिखाता है कि कैसे उन्होंने अपनी बीबी को सुरक्षित रखने के लिए हर संभव कोशिश की और बार-बार घर की सफाई ताकि घर में किसी प्रकार से वायरस न फैले।

इसे भी पढ़ेंः COVID 19: जल्द टलने वाला है कोरोनावायरस का खतरा! इस देश ने तैयार की वैक्सीन, जानिए कितने दिन में मिलेगी

कैसा है पति का स्वास्थ्य

इस दौरान ली टैंग ने यह ध्यान रखने की पूरी कोशिश की, कि उनके पति सुरक्षित रहें क्योंकि उन दोनों ने खुद को एक अलग कमरे में बंद कर लिया था। लक्षणों के अलावा उनकी चिंता ने टैंग को ज्यादातर वक्त परेशान किया लेकिन पति हमेशा शांत रहे क्योंकि उन्हें अपनी बीबी की न सिर्फ मदद करनी थी बल्कि उन्हें इस मुश्किल भरे दौर से बाहर भी निकालना था। एक नर्स होने के नाते ली इस बात से भलीभांति वाकिफ थी कि ये वायरस कितना खतरनाक है और उन्होंने ये सुनिश्चित करने की कोशिश की हर वक्त उनके पति उनसे दूर रहें। उन्होंने अपने पति से सूट पहनने और अपार्टमेंट को गंदा न करने के सही तरीके के बारे में बताया और पूरी तरह से सुरक्षा अपनाने को कहा। 

ली को उनके पति इस दर्द भरे वक्त में गले लगाना चाहते थे लेकिन इसके बावजूद उन्हें अलग ही रहना पड़ा। वे एक घर में होते हुए वीडियो कॉल पर बात किया करते थे और दर्द से पार पाने में मदद किया करते थे। ली हमेशा पति को अपने से अलग रहने की बात किया करती थी क्योंकि उन्हें लगता था कि कहीं उनके पति को ये वायरस न फैल जाए। एक दिन जब ली अपने स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए अस्पताल गई तो उन्हें वहां पता चला कि वह पहले से ठीक हो रही हैं।

इसे भी पढ़ेंः कोरोना से मिलते-जुलते हैं निमोनिया के लक्षण पहचानने में न करें भूल, इन जांच से पता लगाएं कोरोना है या निमोनिया

कोरोनावायरस का 7 दिन

संक्रमण का सातवां दिन बिल्कुल असाधारण था क्योंकि पति ने एक गुलदस्ता और एक केक अपनी पत्नी के रूम में रखा हुआ था। दरअसल ये उनकी शादी की चौठी सालगिरह थी। ली की आंखों में पानी था क्योंकि उन्हें अहसास था कि उनके पति ने एक बंद शहर में ये सब कैसे किया होगा। इसी के साथ पति ने अपनी पत्नी को एक पत्र लिखा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि एक बार कोरोनावायरस के खत्म होने पर वह उन्हें पूरी दुनिया में कहीं भी लेकर जाएंगे।

नर्स के रूप में ली का सफर

एक नर्स के रूप में वह इस बात को बखूबी जानती है कि आम लोगों के लिए इस महामारी से खुद को सुरक्षित रह पाना कितना मुश्किल हो सकता है। उन्होंने अपने माइक्रोब्लॉग में न्यूक्लैक एसिड टेस्ट के दौरान डॉक्टरों के साथ कैसे मिलकर काम करना है ये संदेश दिया है। उनका कहना है कि न्यूकैलिक टेस्ट के लिए नाक और गले में एक स्वैब डाली जाती है और यह प्रक्रिया सभी को मदद करती है। 5 मार्च को एक और वीडियो पोस्ट में उन्होंने बताया कि कैसी उनकी स्थिति पहले से बेहतर हुई और अब उनके ज्यादातर टेस्ट नेगिटिव आ रहे हैं। उन्होंने इसका पूरा श्रेय अपने पति को दिया है, जिन्होंने इस बीमारी से पार पाने में उनकी मदद की।

Read More Articles On Coronavirus In Hindi

Disclaimer