बच्चे को आता है ज्यादा गुस्सा तो कभी न करें ये 5 काम, बिगड़ सकती है बात

अगर आपके बच्‍चे को ज्‍यादा गुस्‍सा आता है तो आपको कुछ आदत या चीजों को अवॉइड करना चाह‍िए, जान‍िए क्‍या हैं वो 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 01, 2022Updated at: Jun 01, 2022
बच्चे को आता है ज्यादा गुस्सा तो कभी न करें ये 5 काम, बिगड़ सकती है बात

कुछ बच्‍चों को ज्‍यादा गुस्‍सा आता है और उन्हें संभालने का तरीका भी अलग होता है पर अगर ज‍िद्दी या ज्‍यादा गुस्‍से वाले बच्‍चे को आप ठीक ढंग से हैंडल नहीं करेंगे तो बात ब‍िगड़ सकती है। अगर आपका बच्‍चा गुस्‍सा कर रहा है तो उस समय उसे कुछ बोलने के बजाय बाद में बात करें या क‍िसी बाहरी व्‍यक्‍ति‍ के सामने अपने बच्‍चे की बुराई न करें। इसी तरह और भी कई चीजें हैं ज‍िनपर आपको गौर करना चाह‍िए। इस लेख में हम ऐसी 5 चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके बच्‍चे के ल‍िए महत्‍वपूर्ण हो सकते हैं इसल‍िए लेख को अंत तक पढ़ें।

aggresive child

1. तेल च‍िल्‍लाना या डांटना अवॉइड करें 

अगर आपका बच्‍चा ज्‍यादा गुस्‍सा करता है तो आपको उस पर ज्‍यादा च‍िल्‍लाना या डांटना अवॉइड करना चाह‍िए। ज्‍यादा डांटने या च‍िल्‍लाने से बच्‍चे ज‍िद्दी हो जाते हैं और हर छोटी बात पर बहस करने लगते हैं इसल‍िए आप उन्‍हें गुस्‍सा करने पर शांत करवाएं और प्‍यार से समझाएं।

इसे भी पढ़े- क्‍या आपका बच्‍चा भी करता है ज्‍यादा बातें? इन 5 तरीके से स‍िखाएं उसे बात करने का सही तरीका     

2. बच्‍चे को बार-बार गलती का अहसास न करवाएं 

आपको बच्‍चे को बार-बार गलती का अहसास करवाना भी अवॉइड करना है। अगर आप बच्‍चे को बार-बार उसकी गलती का अहसास द‍िलाएंगे तो उसके मन में आपके प्रत‍ि क्रोध बढ़ेगा और वो क‍िसी भी समय नाराज हो सकता है या गुस्‍से वाले व्‍यवहार से आपको परेशान कर सकता है। अगर बच्‍चे की गलती है तो आप उसे प्‍यार से उदाहरण की मदद से समझा सकते हैं पर बार-बार बच्‍चे को गलती के बारे में न बोलें।

3. बच्‍चे की हर ज‍िद्द पूरी न करें 

कई माता-प‍िता बच्‍चे की हर जि‍द्द पूरी कर देते हैं और इस कारण से भी वो ज‍िद्दी या गुस्‍से वाले व्‍यवहार के बन सकते हैं। आपको बच्‍चे की हर ज‍िद्द को पूरी करने के बजाय उन्‍हें पॉज‍िट‍िव और नेगेट‍िव दोनों प्‍वॉइंट को बताना है।

4. बच्‍चे की हर बात पर नो मत करें 

आपको बच्‍चे की हर बात को नकारना नहीं चाह‍िए इससे भी बच्‍चे ज‍िद्दी और गुस्‍से वाले व्‍यवहार के बन जाते हैं। अगर आप उन्‍हें हर बात के ल‍िए मना करेंगे तो उनके  व्‍यवहार में फर्क नजर आएगा और कुछ समय में वो आपसे बात करना अवॉइड कर सकते हैं या आपकी बात को नजरअंदाज कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े- पेरेंट्स बच्‍चों को प्रतियोगी परीक्षा के ल‍िए कैसे तैयार करें? जानें दिमागी क्षमता बढ़ाने के खास ट‍िप्‍स     

5. गलती होने पर मारें नहीं 

अगर आपका बच्‍चा ज्‍यादा गुस्‍सा करता है तो आपको उसके गुस्‍सा करने पर हाथ न उठाएंं इससे बच्‍चे और भी ज्‍यादा गुस्‍से में आ जाते हैं। अगर आपको लग रहा है बच्‍चे में ज्‍यादा गुस्‍सा करने के लक्षण नजर आ रहे हैं तो आपको उसे चाइल्‍ड साइकोलॉजि‍स्‍ट के पास लेकर जाना चाह‍िए।

इन ट‍िप्‍स को फॉलो करें 

  • आज के समय में माता-प‍िता के पास ज्‍यादा समय नहीं होता इसके कारण भी बच्‍चे च‍िड़च‍िड़े हो जाते हैं और उन्‍हें गुस्‍सा आ सकता है।
  • अगर बच्‍चे ज्‍यादा समय नौकर या केयरटेकर के साथ ब‍िताते हैं तो भी वो ज्‍यादा गुस्‍से वाले स्‍वभाव के बन सकते हैं। 
  • सही डाइट की कमी से भी बच्‍चों में गुस्‍से के लक्षण नजर आते हैं, आप बच्‍चे को हेल्‍दी डाइट दें और उसे भूख लगने पर भी हेल्‍दी स्‍नैक्‍स दें।
  • कई बार हम बच्‍चों की बात अवॉइड कर देते हैं और बच्‍चे अपनी बात कह नहीं पाते और आपकी अटेंशन चाहते हैं इसल‍िए भी वे गुस्‍सा कर सकते हैं ऐसे में आप बच्‍चे को पूरा समय दें। 
  • कई बार हम अपने बच्‍चे को दूसरे बच्‍चों से कंपेयर कर लेते हैं और इस कारण से भी बच्‍चे ज्‍यादा गुस्‍से वाले बन सकते हैं।

अगर आपके बच्‍चे को ज्‍यादा गुस्‍सा आता है तो पहले तो लक्षणों पर गौर करें और देखें क‍ि ये उसका व्‍यवहार है या कुछ समय के ल‍िए है, अगर आपको लगता है क‍ि बच्‍चे का व्‍यवहार लंबे समय से गुस्‍से वाला नजर आ रहा है तो आप डॉक्‍टर से संपर्क कर सकते हैं।   

Disclaimer