Foot Corns: पैरों में कील या फुट कॉर्न्‍स (Foot Corns) के इलाज में मदद करेंगे ये 5 आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

पैर कॉर्न यानि कील या गोखरू होना आम नहीं हैं। ये आपके जीवन को बुरी तरह प्रभावित कर सकते हैं। यहां इसके लिए कुछ प्रभावी आयुर्वेदिक उपाय हैं। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtUpdated at: May 07, 2020 12:59 IST
Foot Corns: पैरों में कील या फुट कॉर्न्‍स (Foot Corns) के इलाज में मदद करेंगे ये 5 आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

क्या आप अपने हाथ-पैरों की सही देखभाल करते हैं, जैसे आप शरीर के अन्य अंगों की देखभाल करते हैं? यदि नहीं, तो यह आपके पैरों के लिए परेशानी का कारण हो सकता है। फुट कॉर्न यानि पैर में कील, जिसे गोखरू भी कहते हैं यह आपको काफी दर्द दे सकता है। यह कठोर त्वचा के ऊतक हैं, जो खराब पैरों की देखभाल सहित कई कारणों से हो सकते हैं। दुर्लभ मामलों में, हाथों पर भी कॉर्न्स हो सकते हैं। यदि वे दर्द रहित और आकार में छोटे हैं, तो आप उन्हें अनुपचारित छोड़ सकते हैं। लेकिन किसी भी अंतर्निहित समस्या को हल करने के लिए उनका इलाज करना हमेशा बेहतर होता है। पैरों में लंबे समय में, ये कॉर्न्स विकसित हो सकते हैं और फिर आपके चलने को प्रभावित कर सकते हैं।

पैर कॉर्न्स के कारण क्या हैं?

Foot Corns

  • पैरों की सही देखभाल न करना 
  • खराब चलने की आदत 
  • लंबे समय तक ऊँची एड़ी के सैंडल या जूते पहनना
  • स्‍टैंडिंग जॉब 
  • असहज जूते 
  • मोटापा

कॉर्न्स के लिए आयुर्वेदिक घरेलू उपचार

आयुर्वेद का मानना है कि मानव शरीर में वात और कपा दोष के असंतुलन के कारण फुट कॉर्न होते हैं। यहां कुछ आयुर्वेदिक घरेलू उपाय हैं, जो फुट कॉर्न्स के इलाज में मदद कर सकते हैं। लेकिन अगर समस्या बनी रहती है, तो डॉक्‍टर को दिखाएं। 

1. एप्सम सॉल्ट वॉटर बाथ

Epsom Salt Water Bath

आप अपने फुट कॉर्न्‍स से निपटने के लिए पैरों को एप्सम सॉल्ट वॉटर बाथ दें। इसके लिए आप गर्म पानी के साथ एक टब में, कुछ एप्सम सॉल्‍ट डालें और उसमें अपने पैरों को डुबोएं। आप उन्हें 10-15 मिनट के लिए भिगो कर रखें और फिर आप ऐसा हर हफ्ते में दो या तीन बार करें। वैकल्पिक रूप से, आप अतिरिक्त लाभ के लिए कैमोमाइल चाय को पानी में डालकर पैरों को पानी में रख सकते हैं। पानी से पैरों को बाहर निकालने के बाद, उन्हें एक साफ तौलिये से साफ़ करें और नारियल के तेल लगाकर पैरों को मॉइस्चराइज़ करें।

2. लहसुन लौंग

  • कुछ लहसुन लौंग छीलें।
  • एक पैन में, 2-3 बूंद घी डालें और लहसुन भूनें।
  • प्रत्येक फुट कॉर्न पर एक लौंग रखें और इसे एक पट्टी से कवर कर लें। 
  • जब तक आपको आराम न मिले तब तक रोज ऐसा करें।

3. बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा फुट कॉर्न को घेरने वाली डेड स्किन सेल्‍स को हटाने में मदद करता है। इसके अलावा, बेकिंग सोडा के ऐंटिफंगल और जीवाणुरोधी गुण तेजी से चिकित्सा में मदद करते हैं।

Baking Soda For Foot Corns

  • एक कटोरी में, बेकिंग सोडा के 3 बड़े चम्मच डालें। 
  • अब इसमें 1 बड़ा चम्मच पानी डालें और एक पेस्ट बनाने के लिए अच्छी तरह मिलाएं।
  • इस पेस्ट को फुट कॉर्न्स पर लगाएं और 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • आप बेकिंग सोडा को पानी में डालकर पैरों को उस पानी में डुबो भी सकते हैं। 

4. हल्दी का पेस्ट

  • सरसों के तेल में, हल्दी पाउडर डालकर भुने।
  • अब फुट कॉर्न्‍स पर पेस्ट लगाएं और एक पट्टी से कवर कर लें। 
  • इसे रात भर के लिए छोड़ दें।
  • ऐसा रोजाना करने से तेजी से आपके फुट कॉर्न्‍स को ठीक करने में मदद मिलगी। 
Turmeric Paste For Foot Corns

5. सिरका

  • गर्म पानी के एक कप सिरका डालें।
  • 15 मिनट के लिए अपने पैरों को उस पानी में भिगोएँ।
  • अब पानी से पैर बाहर निकालने के बाद पैरों को पोंछ लें और फिर जैतून का तेल या अरंडी के तेल की मालिश करें।
  • फिर आप एक कपड़ें को सिरके में डुबोएं और कॉर्न्‍स को उससे कवर कर लें। 
  • सिरका मृत त्वचा को आसानी से साफ़ करने में मदद करता है।

ध्यान दें कि ये आयुर्वेदिक उपचार तत्काल परिणाम प्रदान नहीं करते हैं। प्रभावी उपचार के लिए इनका नियमित रूप से इस्‍तेमाल किया जाना आवश्यक है। इन उपायों से समस्या का पूरी तरह से हल होना जरूरी नहीं है।

Read More Article On Ayurveda In Hindi

Disclaimer