चर्बी बढ़ने का कारण केवल आपकी डाइट नहीं बल्कि...

पेट पर इकट्ठा जिद्दी चर्बी से छुटकारा पाने के लिए हम बता रहा है वो छोटी-छोटी बातें जो बेहद जरूरी है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Jul 27, 2017
चर्बी बढ़ने का कारण केवल आपकी डाइट नहीं बल्कि...

हर कोई खुद को फिट और तंदरूस्‍त रखना चाहता है। जिसके लिए वह लाख कोशिशें करता है। फिर भी पेट निकल आए तो सारी मेहनत पर पानी फिर जाता है। पेट की चर्बी कम करने के लिए आप लगातार जिम नहीं जा पाते और डाइटिंग होती नहीं है। ऐसे में आप क्या करेंगे? पेट पर इकट्ठा जिद्दी चर्बी से छुटकारा पाने के लिए हम बता रहा है वो छोटी-छोटी बातें जो बेहद जरूरी है।

इस जादुई पेय पदार्थ के 2 ग्लास पीएं, वजन घटाएं


इस कारण जमा होती है चर्बी

पेट पर फैट की वजह सिर्फ ज्यादा खाना और व्यायाम ना करना ही नहीं होता। इसका एक कारण बैठने की गलत स्थिति भी होती है। लंबे समय तक बैठकर, कंधे झुकाकर बैठकर काम करने के कारण पेट की मांसपेशियां बाहर की ओर आने लगती हैं। गलत पोश्चर की वजह से पेट पर चर्बी इकट्ठा होती है।

तो बर्न होगा फैट

दोपहर का समय पेट की चर्बी को कम करने के लिए सही काम करेगा। इस वक्त प्रोटीन से भरा (जैसे उबले हुए अंडे) और कम वसा वाले डेयरी प्रोडक्ट्स वाला खाना खाएं। इस समय खाने से मेटाबॉलिज्म में तेजी आती है और वसा जल्दी बर्न होती है।

खाएं फाइबर वाली चीजें

पेट पर चर्बी बढ़ने से रोकना है तो जरूरी है कि फाइबर युक्त डाइट लें। उससे पेट देर तक भरा रहता है और खाना भी जल्दी पचता है। फाइबर सेब, खट्टे फल जैसे संतरा और बीन्स व बीजों में पाया जाता है। दरअसल खट्टे फलों में विटामिन-सी होता है, जिसमें एक तरह का एमिनो एसिड बनता है, जो फैट को दिन भर के कामों में इस्तेमाल करने के लिए ऊर्जा में बदल देता है। जिससे वसा शरीर में जमा ना होकर इस्तेमाल हो जाता है। इसके अलावा हरी पत्तेदार सब्जियां, बेरीज, अंडा, बादाम, ओट्स, पपीता, दही, गाजर, अंगूर, सोयाबीन, ग्रीन टी और नींबू को भी डाइट में शामिल करें।

वाइट सॉल्‍ट न खाएं

खानपान में इस्तेमाल होने वाला सफेद नमक सेहत के लिए अच्छा नहीं होता। डाइट में सिर्फ और सिर्फ सेंधा नमक या काला नमक का ही इस्तेमाल करना चाहिए. सफेद नमक के सेवन से भी हमारे पेट के निचले हिस्से में चर्बी इकट्ठा होने लगती है और यह हिस्सा भारी हो जाता है।

एक्‍सरसाइज

प्लैंक वो एक्सरसाइज है जिसमें ऐसी स्थिति में निश्चित समय तक रहना होता है। इसमें पैर की उंगलियां और हाथ की कोहनियां ही जमीन से छूती हैं बाकि ऊपर होता है. इस व्यायाम से पेट की मांसपेशियों के साथ जांघों, सीने और शरीर के पिछले हिस्से की मांसपेशियां भी सही आकार में आ जाती हैं।

 

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप
Read More Articles On Weight Loss In Hindi

Disclaimer