Coronavirus Updates: कोलकाता में दो यात्रियों में कोरोनावायरस के लक्षण, निगरानी में रखा

चीन में फैले Coronavirus से पूरी दुनियाभर में दहशत का माहौल है। भारत सरकार, इससे निपटने के लिए जरूरी कदम उठा रहा है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 14, 2020Updated at: Feb 14, 2020
Coronavirus Updates: कोलकाता में दो यात्रियों में कोरोनावायरस के लक्षण, निगरानी में रखा

COVID 19: मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बैंकॉक से कोलकाता अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे दो यात्रियों में नोवेल कोरोनावायरस (coronavirus) के लक्षण मिलने के बाद उन्‍हें आइसोलेशन में रखा गया है। 

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, मंगलवार को हिमाद्री बर्मन नाम की एक यात्री को और बुधवार को नागेंद्र सिंह को आइसोलेशन में रखा गया था। 

कोलकाता हवाई अड्डे के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों यात्रियों को बेलियाघाटा आईडी अस्पताल भेजा गया है। कोलकाता एयरपोर्ट के निदेशक कौशिक भट्टाचार्जी ने कहा कि इससे पहले अनीता उरांव नाम की एक यात्री में थर्मल स्कैनिंग के दौरान बुखार के लक्षण दिखाए थे।

coronavirus-in-india

कोलकाता से चीन जाने वाली उड़ानें रद्द

पहले से ही दो एयरलाइनों की कोलकाता और चीन के बीच सीधी उड़ान थी, जिन्होंने अपनी उड़ानें रद्द कर दी हैं। जबकि लो-कॉस्ट कैरियर इंडिगो ने 6 फरवरी से कोलकाता और गुआंगझोउ के बीच अपनी उड़ानों को अस्थायी रूप से रद्द कर दिया है।

बताया जा रहा है कि, एयरलाइन ने कोरोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए डब्लूएचओ के दिशानिर्देश के अनुसार, इंडिगो 6 फरवरी, 2020 से 25 फरवरी, 2020 तक अपनी कोलकाता-गुआंगझोउ सेवा और 7 फरवरी से 26 फरवरी तक गुआंगझोउ-कोलकाता की उड़ानें निलंबित रहेंगी। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचने के उपाय: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने जारी किए दिशानिर्देश

हवाई अड्डों पर चल रही है स्क्रीनिंग

17 जनवरी से चीन, हॉन्ग कॉन्ग, सिंगापुर और बैंकाक के कुनमिंग और गुआंगझोउ से कोलकाता आने वाली फ्लाइट के यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही थी। फिलहाल, हॉन्गकॉन्ग, सिंगापुर और बैंकॉक से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है क्योंकि कोई भी फ्लाइट चीन से ऑपरेट नहीं की जा रही है। 

इसे भी पढ़ें: क्‍या कोरोना वायरस का इलाज संभव है?

उड़ीसा में 74 लोगों पर निगरानी

कोरोनावायरस से प्रभावित देशों से लौटे 74 यात्रियों को ओडिशा में निगरानी में रखा गया है। ये सभी 15 जनवरी के बाद भारत आए हैं। जिन्‍हें राज्‍य सरकार के स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा निगरानी की जा रही है।

Read More Artiles On Health News In Hindi

Disclaimer