बिना पानी के दवा खाने से हो सकती हैं कई परेशानियां, जानें कितने पानी के साथ कैसे खाएं दवा

दवा को पानी से लेने की सलाह इसलिए दी जाती है ताकि इसे निगलने में आसानी हो और यह आपकी भोजन नलिका में न फंसे। अगर आप बिना पानी के दवा निगलते हैं तो इसे भोजन नलिका में फंसने की संभावना बढ़ जाती है, जिसके कारण आपको दिक्कत हो सकती है।

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Oct 18, 2019
बिना पानी के दवा खाने से हो सकती हैं कई परेशानियां, जानें कितने पानी के साथ कैसे खाएं दवा

क्या आप बिना पानी के दवा खाना पसंद करते हैं? कभी किसी वक्त ऐसे आपने करने का प्रयास जरूर किया होगा क्योंकि ज्यादा व्यस्त होने के कारण लोग पानी का गिलास उठाने में आलस करते हैं। बिना पानी के दवा खाने के पीछे कोई भी कारण हो लेकिन ऐसा करना आपके स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। ऐसा इसलिए नहीं कि यह आपके गले में फंसकर आपकी सांस रोक सकती हैं बल्कि यह आपके लिए और भी ज्यादा घातक साबित हो सकती है।

क्यों दी जाती है पानी के साथ दवा लेने की सलाह

दवा को पानी से लेने की सलाह इसलिए दी जाती है ताकि इसे निगलने में आसानी हो और यह आपकी भोजन नलिका में न फंसे। अगर आप बिना पानी के दवा निगलते हैं तो इसे भोजन नलिका में फंसने की संभावना बढ़ जाती है, जिसके कारण आपको दिक्कत हो सकती है। बिना पानी के दवा निगलने से आपकी भोजन नलिका में सूजन और जलन हो सकती है और सीने में जलन, सीने में दर्द जैसी समस्या हो सकती है। इतना ही नहीं यह रक्तस्त्राव का भी कारण बन सकती है।

जल्द नहीं दिखाई देते लक्षण

भोजन नलिका में दर्द की नसों की गैरमौजूदगी के कारण आपको तुरंत इसके लक्षण नहीं दिखाई देंगे। लेकिन अगर कोई दवा नीचे जाने के लिए अपना रास्ता नहीं बना पाती है तो यह भोजन नलिका के नाजुक ऊतकों को नुकसान पहुंचा सकती है। दवा के ऊतकों को नुकसान पहुंचाने की स्थिति में डिहाइड्रेशन और अल्सर की शिकायत हो सकती है। अगर आप ऑस्टियोपोरोसिस के लिए दवा ले रहे हैं या फिर एंटी-बायोटिक ले रहे हैं तो परिणाम और भी ज्यादा घातक हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः छोटा सा काजू वजन घटाने, आंखों और बालों की चमक बढ़ाने में है फायदेमंद, जानें इसके अन्य फायदे

अनचाही जटिलताओं से दूर रहने के लिए क्या करें

किसी भी अनचाही जटिलताओं से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि दवा लेते वक्त ढेर सारा पानी पानी। क्लीवलैंड क्लीनिक के मुताबिक, किसी भी व्यक्ति को दवा खाते वक्त 250 एमएल पानी जरूर पीना चाहिए। इसके अलावा आपको हमेशा दवा लेते वक्त या तो खड़े होना चाहिए या फिर बैठकर दवा लेनी चाहिए। अगर आप लेटकर दवा लेंगे तो आपका दम भी घुट सकता है। इसी कारण से आपको सोने से 15 मिनट पहले दवा लेने की सलाह दी जाती है ताकि गोली आराम से आपकी भोजन नलिका से निकल जाए।

जानें पर्याप्त मात्रा में पानी पीने के फायदे

बिना पानी के दवा खाना जितना मुश्किल है उतना ही इसके बिना जीवित रह पाना है। पानी न हमारी प्यास बुझाने के साथ-साथ पाचन-तंत्र से लेकर मस्तिष्क के विकास में अहम भूमिका निभाता है। पानी किसी भी बीमारी में रामबाण की तरह काम करता है। पानी डिहाईड्रेशन के कारण होने वाले सिरदर्द से राहत दिलाने के साथ-साथ शरीर को तरोताजा रखने का काम करता है। दवा को आराम से निगलने के अलावा पानी हमें ये 4 फायदे भी प्रदान करता है।

कब्ज की परेशानी होती है दूर

पानी पीने से पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है। सुबह उठकर एक गिलास पानी पीने से हमारा पेट साफ रहता है और कब्ज की परेशानी दूर होती है।

इसे भी पढ़ेंः शरीर के इन-इन अंगों पर लगाएं नारियल का तेल मिलेंगे ये 7 जबरदस्त फायदे

मेटाबॉलिज्म को सुधारने का करता है काम

पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पीने से मेटाबालिज्म की गति धीमी हो जाती है, जिसके कारण फैट बर्न नहीं हो पाता। जबकि वजन घटाने के लिए फैट को बर्न करना बहुत जरूरी है, जिसके लिए पानी बहुत ज्यादा जरूरी है। इसलिए दिन कम से कम 8 से 10 गिलास या दो फिर दो से तीन लीटर पानी पीएं।

सिरदर्द से दिलाता है राहत

सिरदर्द से बचने का एक उपाय है पानी पीना। दरअसल कभी-कभार डिहाइड्रेशन के कारण हमारा सिरदर्द करने लगता है इसलिए भरपूर मात्रा में पानी पीएं।

त्‍वचा को निखारने का काम करता है पानी

त्वचा को निखारने के लिए आपने बहुत से क्रीम और अन्य उत्पादों का प्रयोग किया होगा लेकिन फिर भी मनचाहा परिणाम देखने को नहीं मिलता है। अगर आप क्रीम लगा-लगा कर थक चुके हैं तो पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर देखें। यह त्वचा के ऊतकों को फिरसे भरता है और त्वचा को नमी व नरम बनाता है।

Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

Disclaimer