रेगुलर सनस्क्रीन लगाने से दूर रहती हैं स्किन की ये 5 समस्याएं

अगर आप नियमित रूप से सन स्क्रीन का प्रयोग करती हैं तो आप बहुत सी स्किन से जुड़ी समस्याओं से और एजिंग से बच सकती हैं। 

 
Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Jul 25, 2021 10:30 IST
रेगुलर सनस्क्रीन लगाने से दूर रहती हैं स्किन की ये 5 समस्याएं

जब चेहरे पर वक्त से पहले उम्र दिखना शुरू हो जाये या झुर्रियां पड़ने लगे या फिर त्वचा का रंग गहरा होने लगे,तो समझ जाना चाहिए कि आपको त्वचा से जुड़ी इन समस्याओं को रोकने के लिए एक अच्छी यूवी क्रीम यानी सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) की जरूरत है। इसका प्रयोग हमें न केवल सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाता है बल्कि यह हमें बहुत सी स्किन से जुड़ी समस्याओं से निजात दिलाने में भी बहुत लाभदायक है। दरअसल अधिकतर समस्याएं सूर्य की यूवीए और यूवीबी किरणों से ही होती हैं। इसलिए अगर आप उनसे खुद को बचा लेती हैं तो आपकी स्किन काफी स्वस्थ और जवां रहेगी। यहां तक कि ये आपको स्किन की बहुत सारी बीमारियों जैसे स्किन कैंसर से भी बचाने में सहायक है। इसलिए आपको सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) का प्रयोग नियमित कर देना चाहिए। आगे जानिए सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) के प्रयोग से मिलने वाले फायदे।

inside1BenefitsofSunscreen

सनस्क्रीन लगाने के फायदे-Sunscreen cream benefits

1. सनस्क्रीन और विटामिन सी का कॉम्बो (Sunscreen Cream & Vitamin Combo)

जब आपकी स्किन कहीं कहीं से ब्राउन, लाल या हरी हो जाती है तो इसे स्किन डिस कलरेशन कहा जाता है। इसे कम करने के लिए विटामिन सी के साथ सन स्क्रीन का प्रयोग करना बेहद लाभदायक हो सकता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि विटामिन सी के एंटी ऑक्सीडेंट्स एक्स्ट्रा मेलानिन को कंट्रोल करते हैं और सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) सूर्य द्वारा होने वाले इन्फ्लेमेटरी डेमेज से आपको बचाती है।

2. हाइपर पिगमेंटेशन से मिलेगा छुटकारा (Avoids Hyperpigmentation)

हाइपर पिगमेंटेशन यानी शरीर के किसी एक भाग में अधिक कालापन होना। जो कि अधिक मेलानिन के जमा होने के कारण होता है और यह जेनेटिक या हार्मोन्स में आने वाले बदलाव के कारण हो सकता है। अगर आप हाइपर पिगमेंटेशन से दूर रहना चाहती हैं तो नियमित रूप से सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) का प्रयोग करना शुरू कर दें क्योंकि इसका प्रयोग डॉक्टरों द्वारा भी सुझाया जाता है।

इसे भी पढ़ें : पनीर फेसपैक लगाने से दूर होते हैं त्वचा पर दिखने वाले बढ़ती उम्र के लक्षण, जानें इसे बनाने का तरीका

3. एक्ने मार्क्स को कम करने में सहायक (Removes Acne Marks)

हो सकता है यह आपको सुनने में थोड़ा अजीब और अनोखा लगे, लेकिन अगर आप एक्ने मार्क्स को दूर करना चाहती हैं तो आपको इनके लिए खास प्रोडक्ट्स के साथ साथ सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) का भी नियमित प्रयोग शामिल करना होगा। एक्ने प्रोडक्ट्स में होने वाले रेटीनोल के कारण स्किन में इंफ्लेमेशन होने का खतरा बढ़ जाता है और इसे आप सन स्क्रीन के बिना ठीक नहीं कर सकती हैं।

inside2acne

4. स्किन कैंसर से बचाव (Protects From Skin Cancer)

सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) का प्रयोग करने से आपका स्किन कैंसर होने का रिस्क बहुत ही कम हो जाता है। क्योंकि सूर्य की यूवी किरणों द्वारा ही स्किन कैंसर का रिस्क बढ़ता है और जब आप अपनी स्किन और उन किरणों के बीच में इस क्रीम की एक लेयर एड कर देती हैं या कहें एक रूकावट (बैरियर) खड़ा कर देती हैं तो वह किरणें आपकी स्किन को बहुत ही कम नुकसान पहुंचा पाती हैं। इस तरह आप खुद को स्किन कैंसर से बचा सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : तरबूज के बीजों से दूर होती हैं स्किन की कई समस्याएं, जानें कैसे करें इस्तेमाल

5. स्किन की प्री मैच्योर एजिंग से पाएं राहत (Stops Premature Skin Ageing)

उम्र बढ़ने के साथ साथ या खराब लाइफस्टाइल के कारण कम उम्र में भी हमें झुर्रियां, फाइन लाइंस और स्पॉट्स जैसी समस्याएं हो सकती हैं। अगर यह समय से पहले हो जाती हैं तो, इसे प्री मैच्योर एजिंग कहा जाता है। इस परेशानी का सबसे पहला कारण होता है धूप में निकलना या इससे पहले सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) का प्रयोग न करना। इसलिए अगर आप सन स्क्रीन का प्रयोग करेंगी तो धूप के कारण होने वाली एजिंग से खुद को बचा सकेंगी।

अगर आप सनस्क्रीन क्रीम (Sunscreen Cream) का नियमित प्रयोग करती हैं तो सूर्य के कारण होने वाली इतनी सारी समस्याओं। से आप खुद को बचा सकती हैं। इसलिए 30spf वाली क्रीम का प्रयोग करें। नहीं तो आपको कम उम्र में ही एजिंग लक्षण जैसी समस्या देखने के साथ ही बहुत सारी स्किन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

Read more articles on Skin-Care in Hindi 

Disclaimer