सोनाली फोगाट को मेथामफेटामाइन ड्रग के कारण आया हार्ट अटैक, जानें क्या है ये और क्यों खतरनाक है

Methamphetamine Drug : बीजेपी नेता और एक्ट्रेस सोनाली फोगाट की मौत के बाद गोवा पुलिस ने खुलासा किया है कि उन्हें मेथामफेटामाइन ड्रग दिया गया था.

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Aug 31, 2022Updated at: Aug 31, 2022
सोनाली फोगाट को मेथामफेटामाइन ड्रग के कारण आया हार्ट अटैक, जानें क्या है ये और क्यों खतरनाक है

बीजेपी नेता और एक्ट्रेस सोनाली फोगाट की 23 अगस्त को हार्ट की वजह से मौत हो गई है। सोनाली फोगाट की उम्र महज 41 साल थी। 41 साल की उम्र में एक्ट्रेस की हार्ट अटैक से मौत के बाद सबके होश उड़ गए। सोनाली की मौत के बाद उठ रहे सवालों के बाद गोवा पुलिस ने जांच की। गोवा पुलिस ने अपने बयान में कहा कि सोनाली की मौत मेथमफेटामाइन (Methamphetamine) के ओवरडोज की वजह से हुई है। सोनाली को मेथमफेटामाइन (Methamphetamine) उनके दो सहयोगियों ने दी थी। मेथमफेटामाइन की वजह से एक्ट्रेस सोनाली फोगाट की मौत के बाद लोगों के मन में मेथमफेटामाइन को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं? हर कोई जानना चाहता है कि आखिरकार मेथमफेटामाइन ड्रग क्या है, मेथमफेटामाइन कितनी हानिकारक है और इसका हार्ट अटैक रिलेशन है, आइए जानते हैं इन सभी सवालों के जवाब

मेथमफेटामाइन ड्रग क्या है?- What Is Methamphetamine Drug

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ पर प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक मेथमफेटामाइन एक ड्रग है। इसका इस्तेमाल ज्यादा नशे वाले लोग करते हैं। मेथमफेटामाइन सेन्ट्रल नर्वस सिस्टम को स्टिमुलेट (उत्तेजित) करता है जिसका उपयोग ADHD (अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर) के लिए रिक्रिएशन ड्रग और थेरेपी के रूप में किया जाता है। मेथमफेटामाइन आमतौर पर देखने में सफेद होता है। इस ड्रग की खास बात ये है कि कि इसमें किसी प्रकार की कोई खुशबू नहीं होती है। हालांकि इसका स्वाद थोड़ा सा कड़वा होता है। मेथमफेटामाइन नमक की तरह पानी में बहुत ही आसानी से घुल जाता है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन ड्रग अब्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक मेथामफेटामाइन  की खोज 1893 में हुई थी। एक बार लेने के बाद मेथामफेटामाइन का असर लगभग 6 से 8 घंटे तक रहता है। 

इसे भी पढ़ेंः पेट में मरोड़ उठने पर अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्खे, जल्द मिलेगा आराम

What Is Methamphetamine Drug

मेथमफेटामाइन का हार्ट अटैक से कनेक्शन?

मेथमफेटामाइन ड्रग लेने के बाद इंसान को थोड़ी देर खुशी का एहसास होता है। उसका दिमाग बिल्कुल शांत हो जाता है। हालांकि इसकी ज्यादा मात्रा ली जाए, तो गुस्सा आना, हाइपरएक्टिविटी, साइकोसिस, शरीर का तापमान बढ़ना, हाई ब्लड प्रेशर और हार्ट अटैक आने का खतरा कई गुना तक बढ़ जाता है। हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि अधिक मात्रा में मेथमफेटामाइन लेने से वजन कम हो जाना, चिंता, याददाश्त कम होने, नींद संबंधी परेशानी हो सकती है। अगर कोई व्यक्ति लंबे समय तक मेथमफेटामाइन का सेवन करता है, तो एचआईवी और हेपेटाइटिस B, हेपेटाइटिस C का खतरा हो सकता है।

ये भी पढ़ेंः वजन बढ़ाने के लिए रोज खाएं घी और गुड़, डायटीशियन से जानें इसके फायदे

कैसे होता है मेथमफेटामाइन का इस्तेमाल?

मेथामफेटामाइन ड्रग (Methamphetamine Drug) लेने वाले लोग कई तरह से इसका इस्तेमाल करते हैं। कुछ लोग इसे सिगरेट में मिलाकर पीते हैं, तो कुछ इसे पानी या शराब में घोलकर पीते हैं। वहीं, कुछ लोग इसे दवा की तरह सेवन करते हैं।

Disclaimer