Expert

क्या दाल-सब्जी में देसी घी का तड़का लगाना सेहत के लिए अच्छा है? जानें एक्सपर्ट की राय

Use Desi Ghee For Cooking: देसी घी बहुत फायदेमंद होता है, लेकिन क्या देसी घी का कुकिंग के लिए इस्तेमाल किया जाना चाहिए? जानें एक्सपर्ट की राय।

 
Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: May 18, 2022Updated at: May 18, 2022
क्या दाल-सब्जी में देसी घी का तड़का लगाना सेहत के लिए अच्छा है? जानें एक्सपर्ट की राय

घी का सेवन तो हम सभी करते हैं। हम भारतीय लोगों के खानपान का घी एक अहम हिस्सा है। रोटी या पराठों पर घी लगाने की बात हो, या दाल और पकवानों में घी डालने की, हम सभी कई तरह से घी को अपने आहार में शामिल करते हैं। कुछ लोग अपनी दाल-सब्जियों में तड़का लगाने के लिए भी तेल या रिफाइंड ऑयल की बजाए घी का प्रयोग करते हैं, लेकिन क्या ऐसा करना सही है (Is It Okay To Use Desi Ghee For Cooking In Hindi)? गट हेल्थ एक्सपर्ट और न्यूट्रिशनिस्ट अवंती देशपांडे की मानें तो सब्जियों में तड़का लगाने के लिए  देसी घी का इस्तेमाल करना सही नहीं है। बल्कि उनकी मानें तो सब्जियों में तड़का लगाने के लिए सरसों का तेल, जैतून का तेल या अन्य स्वस्थ तेल ही बेहतर ही विकल्प हैं। अब सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा क्यों हैं? इस लेख में हम आपको इसके बारे में विस्तार से बता रहे हैं कि सब्जियों में तड़का लगाने के लिए देसी घी का प्रयोग क्यों नहीं करना चाहिए (Should We Use Desi Ghee For Cooking In Hindi)।

आइए पहले जानते हैं घी सेहत के लिए कैसे फायदेमंद है? (Ghee Benefits In Hindi)

देसी घी एक बेहतरीन सुपर फूड है, जो आपको कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। यहां तक कि आयुर्वेद की मानें तो पारंपरिक चिकित्सा में सदियों से घी का इस्तेमाल हर्बल दवाओं के साथ किया जाता है, क्योंकि घी में औषधीय गुण मौजूद होते हैं। इसके साथ ही घी विटामिन ए, सी, डी, के जैसे कई पोषक तत्व और मिनरल्स का एक बेहतरीन स्रोत है, जो आपको सेहतमंद रखने में मदद करते हैं। घी न सिर्फ आपके शरीर को जरूरी पोषण प्रदान करता है बल्कि आपके दिल को स्वस्थ रखता है और कई गंभीर रोगों को भी दूर रखता है। घी में एंटी-एजिंग गुण होते हैं जो स्किन से बुढ़ापे के लक्षणों को कम करते हैं। यह आंखों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। घी खाने से आपका दिमाग तेज होता है और मेमोरी में सुधार होता है साथ ही आपके पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है।

इसे भी पढें: गर्मी में आने वाली खिरनी (खिन्नी) है सेहत के लिए बहुत फायदेमंद, जानें क्यों कहते हैं इसे राजाओं का फल

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by AvantiiDeshpaande (@nutritionist.avanti)

सब्जियों में देसी  घी का तड़का क्यों नहीं लगाना चाहिए? (Should We Use Desi Ghee For Cooking In Hindi)

न्यूट्रिशनिस्ट अवंती देशपांडे की मानें तो देसी घी में सैचुरेटेड फैट होता है। जबकि मूंगफली, तिल, सरसों और जैतून के तेल मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड (MUFA) मौजूद होते हैं। वहीं, सूरजमुखी और सोयाबीन के तेल में पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड (PUFA) मौजूद होता है। न्यूट्रिशनिस्ट अवंती की मानें तो हमारे शरीर के लिए इन तीनों ही फैट्स का सेवन जरूरी है। सैचुरेटेड फैट के साथ, मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड का कुछ मात्रा में सेवन किया जाना चाहिए क्योंकि उन्हें हृदय के लिए स्वस्थ माना जाता है साथ ही ये कई स्वास्थ्य लाभ भी प्रदान करते हैं।

इसे भी पढें: डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण है अलसी के बीज, जानें ब्लड शुगर कम करने के लिए कैसे करें सेवन

देसी घी के सेवन का सही तरीका क्या है? (Right Way To Consume Ghee In Hindi)

न्यूट्रिशनिस्ट अवंती की मानें तो शरीर में फैट के सही स्तर को बनाए रखने और घी के स्वास्थ्य लाभों को प्राप्त करने के लिए आपको सब्जियों में घी का तड़का लगाने के बीज बजाए अपनी सब्जी के ऊपर डालकर या रोटी और परांठे पर लगाकर खाना चाहिए। आप अन्य व्यंजनों में देसी घी डालकर उसका स्वाद और स्वास्थ्य लाभों को बढ़ा सकते हैं जैसे मिठाइयां। साथ ही आप चावलों के ऊपर भी घी डालकर खा सकते हैं।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer