Expert

बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद है शंख मुद्रा, रोजाना 5 मिनट के अभ्यास से मिलेंगे ये 5 फायदे

Shankha Mudra Benefits For Children: शंख मुद्रा का अभ्यास करने से बच्चों की कई समस्याएं दूर हो सकती हैं, जानें बच्चों के लिए शंक मुद्रा के फायदे।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 12, 2022Updated at: Apr 12, 2022
बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद है शंख मुद्रा, रोजाना 5 मिनट के अभ्यास से मिलेंगे ये 5 फायदे

हम सभी चाहते हैं कि हमारे बच्चे स्वस्थ रहें और उन्हें किसी भी तरह की कोई समस्या ना हो। लेकिन वर्तमान समय में ज्यादातर बच्चे बोलने में हिचकिचाहट, कमजोर इम्यूनिटी, आत्मविश्वास में कमी जैसी समस्याओं का सामना कर रहे हैं, जो ज्यादातर पेरेंट्स के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ मुद्राओं का अभ्यास करने से बच्चों की इन समस्याओं को दूर करने में मदद मिल सकती है? मुद्राएं सिर्फ बड़ों के लिए ही नहीं बच्चों के लिए भी बेहद फायदेमंद होती हैं। फिटनेस ट्रेनर, न्यूट्रिशनिस्ट, योगा टीचर और मुद्रा एक्सपर्ट जूही कपूर के अनुसार कुछ मुद्राएं बच्चों को शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनाने में मदद कर सकती हैं, जिनमें से एक है शंख मुद्रा। शंख मुद्रा का अभ्यास करने से बच्चों कई फायदे (Shankha Mudra Benefits For Children In Hindi) मिल सकते हैं, जिनके बारे में हम इस लेख में जानेंगे।

Image Source: Freepik.com

बच्चों के लिए शंख मुद्रा के फायदे (Shankha Mudra Benefits For Children In Hindi)

  1. शंख मुद्रा का अभ्यास करने से बच्चों में मोटापे का जोखिम कम होता है
  2. बच्चों का फोकस बढ़ता है और याददाश्त में सुधार होता है
  3. इम्यूनिटी मजबूत होती है, जिससे वे सर्दी-जुकाम, खांसी, बुखार जैसे वायरल संक्रमण की चपेट में नहीं आते हैं।
  4. आत्मविश्वास बढ़ता है और बोलने में हिचकिचाहट की समस्या दूर होती है।
  5. खराब जीवन शैली के चलते बच्चों की लंबाई नहीं बढ़ती है, शंख मुद्रा का अभ्यास करने से बच्चों का शारीरिक विकास बेहतर तरीके से होता है।

कैसे करें शंख मुद्रा का अभ्यास (How To Do Shankha Mudra In Hindi)

  • शंख मुद्रा का करना बहुत आसान है इसे बच्चे आसानी से कर सकते हैं। आपको बस कुछ सिंपल स्टेप्स को फॉलो करना है:
  • सबसे पहले हाथ के अंगूठे को दोनों हाथ की मुट्ठी बनाकर उसमें बंद कर लें
  • फिर बाएं हाथ की तर्जनी उंगली को दाएं हाथ के अंगूठे से मिलाएं। इस तरह शंख की मुद्रा बन जाएगी।
  • अब बाएं हाथ की बाकी तीन उंगलियों को पास में सटाकर दाएं हाथ की बंद उंगलियों पर हल्का-सा दबाव दें।
  • ठीक इसी तरह आपको अपने दूसरे हाथ के साथ भी करना है यानी दाएं हाथ के अंगूठे को बाएं हाथ की मुट्ठी में बंद करके शंख मुद्रा बनाएं।

जूही कपूर के अनुसार इस मुद्रा का अभ्यास रोजाना 5 से 15 मिनट तक किया जा सकता है।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Juhi Kapoor (@theyoginiworld)

सिर्फ बच्चों के लिए ही नहीं सभी के लिए फायदेमंद है शंख मुद्रा (Shankha Mudra Benefits In Hindi)

मुद्रा एक्सपर्ट जूही कपूर के अनुसार शंख मुद्रा का अभ्यास करने से न सिर्फ बच्चों को लाभ मिलता है, बल्कि यह बड़ों को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है। अगर वयस्क भी रोजाना इस मुद्रा का अभ्यास करते हैं तो इससे उन्हें बेहतर नींद लेने में मदद मिलती है, त्वचा में चमक आती है, त्वचा के उपचार में मदद मिलती है, आवाज में सुधार होता है, थायराइड ग्रंथि का कामकाज बेहतर होता है साथ ही मोटापे से निपटने में भी मदद मिलती है।

इसे भी पढें: बच्चों को कितनी देर सोना चाहिए? जानें किस उम्र में बच्चों के लिए कितनी नींद जरूरी है

शंख मुद्रा कैसे काम करती है

हमारे हाथ के अंगूठे अग्नि तत्व का प्रतिनिधित्व करते हैं और चारों उंगलियों की मदद से जब अंगूठे पर दबाव डाला जाता है तो इससे शरीर में पित्त को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। अंगूठे के चारों ओर उंगलियों का दवाब शरीर के पित्त को नियंत्रित करता है। वहीं शंख मुद्रा में जब एक हाथ के अंगूठे का दबाव दूसरे हाथ की हथेली पर पड़ता है और दूसरे हाथ की मुडी हुई उंगलियों का दबाव उसी हाथ के अंगूठे के नीचे के कुशन पर पड़ता है तो ये दबाव नाभि व गले की ग्रंथियों को प्रभावित करता है।

Disclaimer