मां बनने के बाद शेफाली ने कैसे घटाया 34 किलो वजन, जानें उनकी वेट लॉस जर्नी

Fat to Fit : मां बनने के बाद मेकअप आर्टिस्ट शेफाली ने 97 किलो की हो गई थीं. आज वे 63 किलो की हैं। आइए जानते हैं शेफाली की वेट जर्नी।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 11, 2022Updated at: Jul 11, 2022
मां बनने के बाद शेफाली ने कैसे घटाया 34 किलो वजन, जानें उनकी वेट लॉस जर्नी

Fat to Fit : “सिजेरियन डिलीवरी के बाद वजन घटाना नामुमकिन है”। इस तरह की बातें कई महिलाओं को सुननी पड़ जाती हैं। लेकिन मेकअप आर्टिस्ट शेफाली नागपाल ने इस नामुमकिन काम को मुमकिन करते दिखाया है। शेफाली नागपाल उन सभी महिलाओं के लिए प्रेरणा बन सकती हैं, जिन्हें सिजेरियन डिलीवरी के बाद वजन घटाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।  

ओनलीमायहेल्थ की Fat to Fit सीरीज में आज हम शेफाली की जर्नी लेकर आए हैं। शेफाली पेशे से मेकअप आर्टिस्ट हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान शेफाली का वजन 97 किलो तक बढ़ गया था, जिसकी वजह से कई बार उन्हें बॉडी शेमिंग का सामना करना पड़ा। इस तरह की परिस्थितियों का सामना करने के बाद शेफाली ने वजन कम करने की ठानी, जिसका उन्हें काफी बेहतर रिजल्ट मिला। आज शेफाली का वजन 63 किलो है। आज हम इस लेख के जरिए शेफाली की वेट लॉस जर्नी के बारे में विस्तार से जानेंगे।

शेफाली की कहानी उन्हीं की जुबानी - Shaifali Nagpal Weight Loss Journey

शेफाली का कहना है कि पोस्टमार्टम डिप्रेशन महिलाओं को प्रेग्नेंसी के बाद होती है, लेकिन उन्हें प्रेग्नेंसी के दौरान ही पोस्टमार्टम डिप्रेशन होने लगी थी। उनका कहना है कि वे प्रेग्नेंट हुई, तो 6 महीने तक सबकुछ नॉर्मल था। शेफाली ने बताया, "मैं इन 6 महीनों में काफी कंफर्ट और एक्टिव थी। मुझे सब कुछ अच्छा फील हो रहा था। लेकिन 7वें महीने में आते-आते पता नहीं क्या हुआ कि मैंने अचानक से वेट पुट-ऑन कर लिया" 

वे कहती हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान वो बहुत काम करती थी। अपनी बॉडी को जरा सा भी रेस्ट नहीं दे रही थी। उनका मानना है कि शायद इस वजह से उनका वजन अचानक से बढ़ गया था। "प्रेग्नेंसी के 7 से 9 महीने तक आते-आते मैं 100 Kg की हो गई थी। ऐसे में मुझे पोस्टमार्टम डिप्रेशन प्रेग्नेंसी के दौरान होने लगी थी। उस दौरान मुझे मन कर रहा था कब मेरी डिलीवरी हो, ताकि मैं वर्कआउट करके अपना वजन कम कर सकूं। मुझसे डिलीवरी का इंतजार नहीं किया जा रहा था।"

शेफाली का कहना है कि उनके लिए खुद को इस तरह से देखना नॉर्मल नहीं था। उन्होंने प्रेग्नेंसी के दौरान आईने के सामने खड़ा होना तक बंद कर दिया था। बढ़े हुए वजन और हार्मोनल बदलाव की वजह से उनकी स्किन का रंग भी काफी फीका पड़ने लगा था। 

शेफाली बताती है कि, "साथ ही मेरे अंदर इमोशनल बदलाव भी काफी देखने को मिला। हर महिला अपनी प्रेग्नेंसी अवस्था में काफी इंजॉय करती हैं। मैंने भी काफी हद तक प्रेग्नेंसी अवस्था को इंजॉय किया, लेकिन मेरे लिए यह दौर थोड़ा मुश्किल भरा सा हो गया। क्योंकि मेरा वजन इतना ज्यादा बढ़ गया था कि मैं कंफर्ट फील नहीं कर पा रही थी, मेरे थाइज इतने ज्यादा मोटे हो गए थे कि मुझे रात को सोने में भी परेशानी होती थी।"

शेफाली आगे बताती हैं कि वजन बढ़ने की वजह से उनका बीपी (हाई ब्लड प्रेशर) और शुगर लेवल भी काफी ज्यादा हाई हो गया था। साथ ही शरीर में काफी वीकनेस भी आ गई थी। इस दौरान ve बस बैठकर आराम करना चाहती थी, "मुझे फील होता था कि मुझे कोई उठाए न।"

इसे भी पढ़ें - Fat to Fit: आशु ने 4 महीने में 18 किलो कम किया वजन, जानें उनका डाइट प्लान और डेली रूटीन

डिलीवरी होने के बाद भी हाल वैसा का वैसा - Postpartum Weight Loss Journey of Shaifali Nagpal

शेफाली बताती हैं कि जब उनकी डिलीवरी हो गई थी, तब भी किसी को विश्वास नहीं हो रहा था कि उनकी डिलीवरी हो गई है। "मां बनने के बाद सभी को खुशी होती है, मुझे भी मां बनकर काफी खुशी महसूस हो रही थी। लेकिन मैं खुद से खुश नहीं थी। मुझे अंदर से खुशी जैसा महसूस नहीं हो रहा था।" 

उनके साथ कई ऐसी घटाएं हुई, जिसमें उन्हें बॉडी शेमिंग का सामना करना पड़ा। घर से लेकर बाहर तक कई लोग उनको ऐसा ट्रीट कर रहे थे, जैसे वे अभी भी प्रेग्नेंट हों। शेफाली 1 साल तक घर से बाहर नहीं गईं।

डॉक्टर की सलाह पर वर्कआउट किया शुरू

डिलीवरी के 6 महीने बाद शेफाली ने गायनाकोलॉजिस्ट से सलाह ली। डॉक्टर ने उन्हें सलाह दी कि वे इस दौरान वर्कआउट न लें। खासतौर पर हैवी एक्सरसाइज के लिए मना किया गया। हालांकि, उन्हें कुछ कार्डियो एक्सरसाइज करने के लिए कहा गया था। इसके बाद उन्होंने जिम जाना शुरू किया, लेकिन बीच में ही कोरोना की वजह से सारे जिम बंद हो गए। 

कोरोना में जिम बंद होने की वजह से 1 महीने तक उन्होंने कुछ भी नहीं किया। बाद में उन्होंने घर पर ही वर्कआउट करना शुरू किया। शेफाली ने बताय कि लोगों का कहना था कि सिजेरियन डिलीवरी के बाद वर्कआउट नहीं करना चाहिए, या वजन घटाना मुश्किल होता है। यह सभी बातें सिर्फ एक मिथ हैं, जिसे उन्होंने तोड़कर दिखाया है। कड़ी मेहनत, एक्सरसाइज और सही डाइट प्लान फॉलो करने की वजह से आज वे करीब 63 किलो की हो चुकी हैं। अब वे सभी काम करती हैं, जो वे करना चाहती थीं। आज उनका खोया हुआ आत्मविश्वास भी वापस आ चुका है। 

कैसा था डाइट प्लान - Weight Loss Diet Plan

शेफाली ने अपना डाइट प्लान काफी सिंपल सा रखा था। उन्होंने कहा कि वे सभी चीजें खाती थीं, जो एक मां के लिए जरूरी होता है। हालांकि, वे ब्रेकफास्ट में पराठा अवॉइड करती थीं। इसके बजाय वे मल्टीग्रेन ब्रेड, चीज, हरी सब्जियां, अंडे और सलाद एड करती थीं। ब्रेकफास्ट में अधिक से अधिक प्रोटीन लेती थीं, ताकि उन्हें कमजोरी न हो। इसके अलावा सप्ताह में कभी-कभार पराठे जैसी चीजों का सेवन कर लेती थीं।

लंच की बात कि जाए तो वह चावल भी खा लेती हैं। चावल के साथ छोले, राजमा, कढ़ी जैसी चीजों को भी शामिल कर लेती थीं। इसके साथ ही कभी-कभी ओट्स और दलिया जैसी चीजें भी एड करती थीं।

रात के डिनर में ग्रिल्ड चिकन, प्राउंस, ग्रिल्ड पनीर और ढेर सारी सब्जियां और सलाद खाया करती थीं। शेफाली का कहना है कि खाने में उन्होंने मीठे के पूरी तरह से अवॉइड किया था। 

Disclaimer