Doctor Verified

तुलसी के बीज (Sabja Seeds) से दूर हो सकती हैं शरीर की ये 5 समस्‍याएं

Sabja Seeds Ke Fayde: वजन कम करने में सब्‍जा यानी तुलसी के बीजों का सेवन फायदेमंद माना जाता है। जानते हैं अन्‍य फायदे और इस्‍तेमाल का तरीका।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 22, 2022Updated at: Sep 22, 2022
तुलसी के बीज (Sabja Seeds) से दूर हो सकती हैं शरीर की ये 5 समस्‍याएं

Benefits Of Sabja Seeds: तुलसी के बीजों को सब्‍जा बीज के नाम से जाना जाता है। तुलसी एक औषधीय पौधा है। इस पौधे के बीज, पत्ते और जड़ आद‍ि सभी का प्रयोग बीमार‍ियों को ठीक करने में क‍िया जाता है। सब्‍जा सीड्स में प्रोटीन, फाइबर, व‍िटाम‍िन ए, व‍िटाम‍िन के, मैग्नीशियम, एंटी-ऑक्सीडेंट्स, आयरन, फैटी एसिड्स, पोटैशियम, फॉलिक एसिड, कॉर्ब्स जैसे पोषक तत्‍व पाए जाते हैं। सब्‍जा सीड्स की तासीर ठंडी होती है। सब्‍जा सीड्स गहरे काले रंग के द‍िखते हैं। इन्‍हें म‍िष्‍ठान में भी म‍िलाकर खाया जाता है। सब्‍जा सीड्स को भ‍िगोकर खाया जाता है। इसे 10 से 15 म‍िनट भ‍िगोने से बीज अच्‍छी तरह से फूल जाते हैं। जानते हैं शरीर की क‍िन समस्‍याओं को दूर करते हैं तुलसी के बीज। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।

sabja seeds ke fayde

1. मोटापे का इलाज 

बढ़ते वजन से परेशान हैं, तो सब्‍जा सीड्स का सेवन करने में देरी न करें। रात को 2 चम्‍मच बीजों को भ‍िगोकर रख दें। सुबह उन बीजों को शहद और नींबू के साथ म‍िलाकर गुनगुने पानी में डालकर प‍िएं। हफ्ते में 2 से 3 आप इस ड्र‍िंक का सेवन कर सकते हैं। सब्‍जा सीड्स में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है। इसका सेवन करने से भूख कंट्रोल होती है और फैट सेल्‍स को कम करने में मदद म‍िलती है।    

2. पीसीओडी का इलाज 

अगर आपको पीसीओडी की समस्‍या है, तो 1 चम्‍मच बीजों को रात में भ‍िगो दें। सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ इस बीजों का सेवन करें। सब्‍जा सीड्स का सेवन करने से अन‍ियम‍ित पीर‍ियड्स की समस्‍या दूर होती है और हार्मोनल समस्‍याओं को कंट्रोल करने में मदद म‍िलती है। सब्‍जा सीड्स में प्रोटीन, म‍िनरल्‍स, व‍िटाम‍िन्‍स और ओमेगा 3 फैटी एसिड मौजूद होता है ज‍िससे पीसीओडी के लक्षणों को दूर क‍िया जा सकता है।       

3. कब्‍ज का इलाज 

रात को सोने से पहले एक ग‍िलास दूध में भ‍िगोए हुए सब्‍जा सीड्स का पेस्‍ट डालकर पीने से कब्‍ज की समस्‍या दूर होती है। अगर आपको दूध पीने से गैस होती है, तो गुनगुने नींबू पानी के साथ भी सीड्स का सेवन कर सकते हैं। पाचन तंत्र के ल‍िए सब्‍जा सीड्स का सेवन फायदेमंद माना जाता है। अपच, गैस, कब्‍ज, पेट में दर्द आद‍ि समस्‍याएं आपको सताती हैं, तो तुलसी के बीज का प्रयोग करें। 

इसे भी पढ़ें- तुलसी के बीज (सब्जा सीड्स) होते हैं पोषक तत्वों का पावर हाउस, जानें इसे खाने के 6 फायदे और कुछ नुकसान 

4. त्‍वचा और बालों से जुड़ी बीमारी का इलाज 

सब्‍जा सीड्स में प्रोटीन, आयरन जैसे पोषक तत्‍व पाए जाते हैं। आपकी त्‍वचा का ग्‍लो खत्‍म हो गया है या हेयर फॉल से परेशान हैं, तो तुलसी के बीजों का फायदा उठाएं।  त्‍वचा और बालों की ज्‍यादातर समस्‍याओं को दूर करने के ल‍िए आप सब्‍जा सीड्स से तैयार होने वाले पेस्‍ट का उपयोग कर सकते हैं। इस बीजों के पेस्‍ट को चेहरे पर फेसपैक की तरह लगा सकते हैं या बालों पर हेयर पैक की तरह इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 

5. कैल्‍श‍ियम की कमी दूर होगी 

शरीर में कैल्‍श‍ियम की कमी के कारण हड्ड‍ियां कमजोर होने लगती हैं। जोड़ों और मांसपेश‍ियों में दर्द होता है। कैल्‍श‍ियम की कमी दूर करने के ल‍िए द‍िन में 1 चम्‍मच सब्‍जा सीड्स का सेवन करें। सब्‍जा सीड्स को आप सब्‍जी, सूप, दूध या क‍िसी भी खाने की चीज में म‍िलाकर खा सकते हैं। फालूदा में भी इसे डालकर खाया जाता है। सुबह नाश्‍ते में दूध के अंदर भ‍िगोए हुए सब्‍जा सीड्स डालकर भी खा सकते हैं।

सब्‍जा सीड्स के फायदे: सब्‍जा सीड्स को वजन घटाने, कैल्‍श‍ियम की कमी, त्‍वचा और बालों की समस्‍या दूर करने इस्‍तेमाल क‍िया जा सकता है। रात को 2 चम्‍मच बीजों को भ‍िगोकर रख दें। सुबह उन बीजों को पीसकर पेस्‍ट बना लें और गुनगुने पानी में म‍िलाकर खाली पेट सेवन करें। 

सब्‍जा सीड्स को केवल भ‍िगोकर खाया जाता है। सही तरह से भ‍िगोकर न रखने से ये गले में अटक सकता है और न‍िगलने में परेशानी हो सकती है। लेख पसंद आया हो, तो शेयर करना न भूलें। 

image credit: exportersindia, rppoojaghar

Disclaimer