क्या सिर्फ रनिंग और जॉगिंग से कम हो सकता है वजन? जानें रनिंग या जॉगिंग के बाद बिना खाएं भी घट सकता है वजन

वजन घटाना जितना आसान शब्द सुनाई देता है उतना है नहीं क्योंकि वजन कम करने और शरीर पर चढ़ी चर्बी को कम करने से लेकर कई मिथक जुड़े हुए हैं।

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Apr 16, 2020
क्या सिर्फ रनिंग और जॉगिंग से कम हो सकता है वजन? जानें रनिंग या जॉगिंग के बाद बिना खाएं भी घट सकता है वजन

घटाना मौजूदा वक्त में किसी भी व्यक्ति के लिए किसी टेढ़ी खीर से कम नहीं है। इंटेंस वर्कआउट से लेकर डाइट तक सभी चीजों का बड़ी बारीकी से ध्यान रखना पड़ता है। बहुत से लोग वजन कम करने के लिए एक्सरसाइज को प्राथमिकता देते हैं तो कुछ लोग वजन कम करने के लिए अपने कैलोरी इनटेक पर ध्यान देते हैं। वजन घटाना जितना आसान शब्द सुनाई देता है उतना है नहीं क्योंकि वजन कम करने और शरीर पर चढ़ी चर्बी को कम करने से लेकर कई मिथक जुड़े हुए हैं। लेकिन हकीकत की बात की जाए तो वजन कम करने के लिए दौड़ना इसके कई फायदों में से एक है। शायह बहुत ज्यादा लोग इस बात को नहीं जानते होंगे कि मुक्त होकर दौड़ने से वजन कम करने में काफी मदद मिल सकती है। जी हां, जब आपका शरीर बिना किसी दबाव के लगातार गतिविधियां करता है तो आप बहुत तेजी से वजन कम करने में सफल साबित हो सकते हैं। इस लेख में हम आपको ये बताने जा रहे हैं कि कैसे जॉगिंग और रनिंग वजन कम करने में मददगार साबित हो सकती है और इन्हें करने के बाद किसी व्यक्ति को क्या खाना चाहिए। 

run

वजन कम करने के लिए दौड़ने से होने वाले प्रभाव 

इस बात को सभी जानते हैं कि दौड़ना हमारी सेहत के लिए कितना फायदेमंद होता है ये न सिर्फ हमारे पैरों को मजबूत बनाता है बल्कि हमें कैलोरी बर्न करने में भी काफी मदद करता है। दरअसल दौड़ने के लिए आप ऊर्जा का उपयोग करते हैं और वजन कम करने के लिए आपको अपनी खपत से अधिक कैलोरी का उपयोग करना होता है, जो कि रनिंग और जॉगिंग में होता है। इतनी ही नहीं रनिंग और जॉगिंग के कई अन्य सकारात्मक प्रभावों के बीच, एरोबिक रूप से दौड़ना आपके फैट मेटाबॉलिज्म को ट्रेन करने में भी मदद करता है। एक्सरसाइज के एक नियम के रूप में अगर आप दौड़ते समय किसी से बात नहीं करते हैं तो यह एरोबिक ट्रेनिंग का रूप ले लेता है।

Loading...

इसे भी पढ़ेंः नींबू पानी नहीं नींबू कॉफी के साथ करें दिन की शुरुआत तेजी से कम होगा वजन, जानें कब पीना है ज्यादा फायदेमंद

क्यों फायदेमंद है एरोबिक रनिंग 

अब सबसे जरूरी सवाल ये उठता है कि यह इतनी महत्वपूर्ण क्यों है? एरोबिक रनिंग का मतलब मांसपेशियों में पर्याप्त ऑक्सीजन पहुंचाना है। यह एरोबिक ऊर्जा उत्पादन की अनुमति देता है और शरीर द्वारा बर्न की जाने वाले कैलोरी की पूरी संख्या में वृद्धि करता है ताकि आप लंबे समय तक चल सकें। आमतौर पर, एक्सरसाइज के दौरान शरीर फैट की तुलना में अधिक कार्बोहाइड्रेट को मेटाबोलाइज करेगा। एरोबिक ट्रेनिंग के कारण शरीर अपनी ऊर्जा आपूर्ति प्रणालियों का अधिक प्रभावी ढंग से उपयोग करना सीखता है।

jog

इसके अलावा एरोबिक रनिंग के जरिए शरीर अधिक ऑक्सीजन का संचार कर सकता है और फैट के माध्यम से अधिक ऊर्जा उत्पन्न करने में सक्षम हो जाता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि हमें कार्बोहाइड्रेट के माध्यम से ऊर्जा उत्पन्न करने से अधिक ऑक्सीजन की आवश्यकता होती है। यह जरूरी है क्योंकि कार्बोहाइड्रेट के बिना, शरीर फैट को बर्न नहीं कर सकता है। चूंकि इस प्रक्रिया के माध्यम से अधिक कार्बोहाइड्रेट हमारे शरीर में रह जाता है इसलिए शरीर के धीमा होने से पहले इंटेंस ट्रेनिंग पूरी की जा सकती है जैसे कि अधिक दूरी तय करने के लिए अधिक गति। कुल मिलाकर, इसका मतलब है कि लंबी दूरी और तेज दौड़ना  (एरोबिक रनिंग) वजन घटाने की प्रक्रिया को तेज करता है। 

इसे भी पढ़ेंः किस ब्लड ग्रुप के लिए आसान है वजन घटाना? ब्लड ग्रुप के मुताबिक ऐसे फूड, जो चर्बी करेंगे कम

रनिंग के बाद क्या खाएं

वजन घटाने में पोषण एक बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। लेकिन इसका ये मतलब केवल कम खाने से नहीं है। दौड़ने यानी की रनिंग के बाद आपको सही चीजों को खाना आवश्यक है ताकि आपका शरीर ठीक से रिजेनरेट हो सके। विशेष रूप से तब जब आपको सक्रिय होने के लिए विभिन्न पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। अगर आप दौड़ने के बाद भोजन नहीं करते हैं, तो आपको चोट लगने का खतरा रहता है, आपके प्रदर्शन में गिरावट आ सकती है और आपका शरीर प्रभावी रूप से रिजेनरेट नहीं हो सकता है। आपके दौड़ने के बाद, प्रोटीन से भरपूर और थोड़ा बहुत कार्ब युक्त चीजों का सेवन करना चाहिए ताकि आप यह सुनिश्चित कर सकें कि आप स्वस्थ तरीके से अपना वजन कम कर सकते हैं।

कितना दौड़ना है सही 

सामान्य तौर पर, सप्ताह में एक या दो बार धीमी गति से लंबी दूरी तय करना वजन कम करने के लिए उतना प्रभावी नहीं होते हैं जितना कि छोटी दूरी तेज गति से दौड़ना क्योंकि आपका मेटाबॉलिज्म और आफ्टर बर्न इफेक्ट लंबे समय तक काम करता है। और केवल नियमित रूप से दौड़ने पर ही आप दूरगामी परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। आपके लक्ष्यों को प्राप्त करने में लगने वाला समय आपके शुरुआती वजन पर निर्भर करेगा  लेकिन सभी मामलों में सही पोषण के साथ-साथ धैर्य और स्थिरता बहुत ही जरूरी है। 

Read More Articles on weight loss in hindi

Disclaimer