Expert

क्या है एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेने की सही उम्र? एक्सपर्ट से जानें किस उम्र में कौन सा ट्रीटमेंट लेना चाहिए

एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेने से उम्र बढ़ने की प्रक्रिया धीमा करने और देरी करने में मदद मिल सकती है। जानें एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेने की सही उम्र क्या है।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Mar 30, 2022Updated at: Mar 30, 2022
क्या है एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेने की सही उम्र? एक्सपर्ट से जानें किस उम्र में कौन सा ट्रीटमेंट लेना चाहिए

उम्र बढ़ना या बुढ़ापा (Ageing) जीवन का एक अहम हिस्सा है। समय के साथ उम्र बढ़ने के लक्षणों का अनुभव करना स्वाभाविक है, लेकिन वर्तमान समय में अपनी खराब जीवनशैली के चलते समय से पहले उम्र बढ़ने के लक्षणों (Ageing Symptoms) का अनुभव करने लगे हैं। आप उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को रोक नहीं सकते हैं। हालांकि, आप उम्र बढ़ने की प्रक्रिया में देरी (How To Delay Ageing In Hindi) जरूर कर सकते हैं। एजिंग में देरी करने लिए बाजार में तरह-तरह के प्रोडक्ट्स मौजूद हैं। इसके अलावा कई स्किन ट्रीटमेंट्स भी हैं जो उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को रोकने और उसमें देरी करने में मदद करते हैं। लेकिन इन ट्रीटमेंट्स को उम्र के अनुसार लिया जाता है, इसलिए इस तरह के एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट्स को लेने के लिए आपको सही उम्र का पता होना चाहिए (Right Age For Anti Aging Treatment In Hindi)।

अब सवाल यह है कि एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेने की सही उम्र क्या है? साथ ही किस उम्र में कौन सा ट्रीटमेंट लेना चाहिए? अगर आप भी इसका जवाब ढूंढ रहे हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर हैं। इस लेख में हम आपको बोर्ड सर्टिफाइड डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. जयश्री शरद से जानेंगे एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेने की सही उम्र (Right Age For Anti Aging Treatment In Hindi) और आपको कौन सा ट्रीटमेंट कब लेना चाहिए।

एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेने की सही उम्र क्या है (Right Age For Anti Aging Treatment In Hindi)

डॉ. जयश्री शरद के अनुसार एंटी एजिंग शब्द का अर्थ (Anti Ageing Meaning In Hindi) ही उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को उलटना या देरी करना है। इसलिए आपको एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेना समय रहते ही शुरू कर देना चाहिए न कि चेहरे की नींव के टूटने के बाद। आपको उम्र बढ़ने के लक्षणों का अनुभव होने पर एंटी एजिंग ट्रीटमेंट्स को लेना शुरू कर देना चाहिए। अगर आप चेहरे पर फाइन लाइन्स, झुर्रियों, ढीली और लोचदार त्वचा जैसे लक्षण देखते हैं तो आपको जल्द ही उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को उलटने के लिए ट्रीटमेंट लेना चाहिए।

इसे भी पढें: ड्राई स्किन को नुकसान पहुंचाते हैं केमिकल वाले क्लींजर, ट्राई करें घर पर बने ये 4 नैचुरल क्लींजर

जल्दी उम्र बढ़ने के क्या कारण हैं (Ageing Causes In Hindi)

डॉ. जयश्री के अनुसार बढ़ती उम्र के साथ त्वचा में कोलेजन और इलास्टिन फाइबर की कमी होने के कारण त्वचा ढीली और लोचदार हो जाती है। इसका कारण त्वचा से फैट लॉस और मांसपेशियों का पतला होना। ये परिवर्तन खराब जीवनशैली, स्मोकिंग, तनाव, चीनी का अधिक सेवन, सूर्य के संपर्क में ज्यादा समय बिताने, प्रदूषण आदि के साथ तेज हो सकते हैं। जवां रहने के लिए एक स्वस्थ जीवन शैली का फॉलो करना महत्वपूर्ण है, अपना सनस्क्रीन और मॉइस्चराइजर लगाएं और समय पर कुछ उपचार करें।

आपको किस उम्र में कौन से एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट लेने चाहिए (Right Age For Anti Aging Treatment In Hindi)

25 की उम्र के बाद कौन सा ट्रीटमेंट लें

  • माइक्रोनीडलिंग ट्रीटमेंट
  • केमिकल पील ट्रीटमेंट

30 के बाद कौन सा ट्रीटमेंट लें

  • रेडियो फ्रीक्वेंसी (RF) स्किन टाइटनिंग
  • पीआरपी ट्रीटमेंट
  • हाई-इंटेंसिटी फोकस्ड अल्ट्रासाउंड (HIFU)

35 की उम्र के बाद कौन सा ट्रीटमेंट लें

  • फिलर बोटोक्स के साथ लिक्विड फेस लिफ्ट
  • थ्रेड लिफ्ट ट्रीटमेंट

40 की उम्र के बाद कौन सा ट्रीटमेंट लें

  • फिलर्स
  • बोटॉक्स
  • थ्रेड

50 की उम्र के बाद कौन सा ट्रीटमेंट लें

5ृ0 की उम्र को पार करने के बाद एंटी-एजिंग ट्रीटमेंट प्रभावी नहीं होते हैं। हालांकि उन सभी को डैमेज स्किन के इलाज के लिए इस्तेमाल किए जा सकता है।

इसे भी पढें: आंखों के आसपास की झुर्रियां बढ़ा सकती हैं आपकी ये 6 आदतें

समय रहते एंटी एजिंग ट्रीटमेंट लेने से उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को उलटने और इसमें देरी करने में मदद मिल  सकती है। जब आप एजिंग के लक्षणों का अनुभव करें तो इसके बारे में अपने त्वचा रोग विशेषज्ञ को बताएं, जिससे कि उपचार शुरू किया जा सके।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer