ब्रेकअप के बाद उठ गया प्यार से भरोसा? जानें क्यों नहीं छोड़नी चाहिए आपको सच्चे प्यार की उम्मीद

जीवन के उतार-चढ़ाव के बाद भी अपने प्यार को थामे रहना क्यों कभी-कभी हो जाता है जरूरी। जानें प्यार हमारे लिए क्यों जरूरी है।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Oct 30, 2022 17:00 IST
ब्रेकअप के बाद उठ गया प्यार से भरोसा? जानें क्यों नहीं छोड़नी चाहिए आपको सच्चे प्यार की उम्मीद

प्‍यार एक अद्भुत एहसास है जो दो अलग-अलग व्‍यक्तियों को एक साथ लाता है। लेकिन प्‍यार हर किसी के लिए एक समान नहीं होता। कुछ लोग प्‍यार में सफल हो जाते हैं और खूबसूरत यादगार पल साथ बिताते हैं वहीं कुछ लोग प्‍यार की बुरी यादों का अनुभव करते हैं और इसे छोड़ने का फैसला कर लेते हैं। किसी से प्‍यार करना आसान है, लेकिन उस रिश्‍ते में साथ रहना और उतार-चढ़ाव को धैर्य के साथ निभाना काफी मुश्किल भरा होता है। कुछ लोग में धैर्य की कमी होती है। जिस वजह से वह रिश्‍ते को खत्‍म करने में ही भलाई समझते हैं। हर किसी की जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते हैं, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि सालों पुराना रिश्‍ता खत्‍म कर दिया जाए। व्‍यक्ति को उम्‍मीद खोने की बजाय नए जोश के साथ आगे बढ़ना चाहिए और रिश्‍ता खत्‍म करने से पहले एक बार जरूरी विचार कर लेना चाहिए। चलिए जानते हैं प्‍यार को छोड़ने का क्‍या मतलब है और ऐसा क्‍यों नहीं करना चाहिए। 

प्‍यार को छोड़ने का क्‍या मतलब है

लाइफ में कई बार ऐसे अप्रिय अनुभवों का सामना करना पड़ता है, जिसके बाद व्‍यक्ति निराशावादी और अकेला महसूस करने लगता है। आप भले ही सोशल मीडिया और लोगों से पीछा छुड़ा लें, लेकिन कभी न कभी तो इसका सामना करना ही पड़ता है। प्‍यार को छोड़ने से व्‍यक्ति अकेला और तन्हा रह जाता है। माना कि प्‍यार ही व्‍यक्ति को हर्ट करता है लेकिन ये भी सच है कि प्यार ही सब ठीक भी करता है। रिश्‍ते को बरकरार रखने के लिए सच्‍चाई को स्‍वीकारें और बिना उम्‍मीद खोए आगे बढ़ें। 

इसे भी पढ़ें- ब्रेकअप के बाद कभी न करें ये 5 गलतियां, बंद हो जाएंगे दोबारा पैचअप के रास्ते

हर अनुभव एक जैसा नहीं होता

हर रिश्‍ता या अनुभव एक जैसा नहीं होता। दिल टूटने के बाद कई लोगों का रिश्‍तों के ऊपर से विश्‍वास उठ जाता है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि हर रिश्‍ता और अनुभव एक जैसा हो। हो सकता है कि आपको आगे भी इस तरह के दर्द का अनुभव करना पड़े लेकिन ये ध्‍यान में रखना चाहिए कि ये अनुभव आपको मजबूत बनाएंगे और स्थिति को आंकने में मदद करेंगे।

यही है सही समय

क्‍या आपने कभी खुद से पूछा है कि क्‍या आप वाकई में प्‍यार के लिए तैयार हैं। किसी भी‍ रिश्‍ते में बंधने से पहले विचार कर लें कि आप उसके साथ पूरी जिंदगी साथ रह पाएंगे या नहीं। प्‍यार का इजहार और आगे बढ़ने के लिए सही समय बताने वाली कोई घड़ी नहीं होती। इसलिए जब आप आश्‍वस्‍त महसूस करें तभी नए रिश्‍ते में बंधने को तैयार हों। आपको बस धैर्य रखना है और तत्परता से किसी का इंतजार करना है। याद रखें आपको फिर से प्‍यार में विश्‍वास करने के लिए बस एक सच्‍चे संबंध की आवश्‍यकता होती है।

thinking breakup 

प्‍यार आपको खुश रहना सिखाता है

दूसरों का प्‍यार पाना और दूसरों को प्‍यार देने से व्‍यक्ति खुश रहता है। इससे अकेलापन महसूस नहीं होता और जीवन जीने का आनंद आता है। जब आप प्‍यार को छोड़ देते हैं तो ये सभी अद्भुत अहसास दूर हो जाते हैं। इसलिए प्‍यार को छोड़ने से पहले एक बार अवश्‍य विचार कर लें। 

प्यार करने का तरीका हो सकता है अलग

हर व्‍यक्ति के प्‍यार करने का तरीका अलग होता है। किसी को स्‍पर्श करके प्‍यार जताना अच्‍छा लगता है तो कोई मदद करके प्‍यार जताता है। ये जरूरी नहीं कि आप जिस तरह का प्‍यार चाहते हैं सामने वाला भी उसी तरह आपको प्‍यार करे। इसका मतलब ये नहीं है कि उसको आपसे प्‍यार नहीं है। निराश न हो सामने वाले के प्‍यार को समझें और आगे बढ़ें।

इसे भी पढ़ें- ब्रेकअप के बाद किसी काम में नहीं लग रहा मन, तो खुद को इन 7 तरीकों से करें मोटिवेट

किसी कारणवश एक साथ मिले

प्‍यार हर किसी से नहीं होता है। साथ रहने और मिलने के पीछे कोई तो विशेष कारण जरूर होता है। रिश्‍ते को बरकरार रखने के लिए एक-दूसरे के सकारात्‍मक गुणों को सजोएं और नकारात्‍क पहलुओं पर काम करें। कोई भी व्‍यक्ति पूर्ण नहीं होता हर किसी में कोई न कोई खामी या कमी होती है। प्‍यार को छोड़ने के बजाय ये पता करें कि किसी रिश्‍ते में अधूरी उम्‍मीदों से कैसे निपटें।

किसी को प्यार करना आसान है लेकिन उसके साथ उतना ही गहरा रिश्ता बनाए रखना और अपनी रिश्ते को मजबूती देना थोड़ा मुश्किल लेकिन किसी रिश्ते को तोड़ देना आसान। माना जीवन में बहुत उतार-चढ़ाव आते हैं लेकिन किसी भी निर्णय पर पहुंचने से पहले इन सब बातों पर गौर करना भी जरूरी है।

Disclaimer