वर्क फ्रॉम होम के बाद ऑफिस में कर रहे हैं वापसी तो अपनाएं ये स्किन केयर रूटीन, स्किन रहेगी हेल्दी

वर्क फ्रॉम होम में स्किन की समस्याएं कम हुईं थीं, लेकिन ऑफिस में वापसी से ये समस्याएं वापस बढ़ेंगी, इसलिए ये स्किन केयर टिप्स आपके काम आ सकते हैं।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Mar 09, 2021Updated at: Mar 26, 2021
वर्क फ्रॉम होम के बाद ऑफिस में कर रहे हैं वापसी तो अपनाएं ये स्किन केयर रूटीन, स्किन रहेगी हेल्दी

वर्क फ्रॉम होम करते हुए स्किन को हील करने का समय मिल गया था। लेकिन अब वापसी करने पर स्किन से संबंधित परेशानियां बढ़ेंगी। फिर से सन एक्पोजर (Sun exposer) बढ़ेगा। एक्ने, डार्क स्पॉट्स, मुहांसे, ड्राइनेस जैसी परेशानियां फिर बढ़ेंगी। लेकिन आप चिंता मत करिए क्योंकि यहां आपको डर्मेटॉलोजिस्ट इशिता राका पंडित बता रही हैं कुछ जरूरी स्किन केयर रूटीन टिप्स। ये टिप्स आपकी हेल्दी और ग्लोइंग स्किन के लिए बहुत फायदेमंद साबित होंगी।  डॉ. इशिता ने बताया कि घर में काम करते हुए लोगों की स्किन संबंधी परेशानियां ठीक हुई हैं। लेकिन अब जब हम वापस काम बाहर निकल रहे हैं। तो हमें मास्क और सेनिटाइजर का भी साथ रखना पड़ेगा। बाहर निकलते समय सेनिटाइजर का इस्तेमाल होगा। सेनिटाइडर से स्किन ड्राई (रूखी) होगी। इसलिए जरूरी है कि सेनिटाइजर के बाद मॉश्चराइजर लगाएं। अब मास्क, सेनिटाइजर और मॉश्चराइजर आपके पर्स में जरूर होने चाहिए। 

inside2_healthyskincaretips

त्वचा के अनुसार स्किन केयर अपनाएं (Adopt skin care according to youy skin)

डॉ. इशिता के मुताबिक हर व्यक्ति की त्वचा अलग होती है। उसे अपनी त्वचा के प्रकार के हिसाब स्किन केयर फॉलो करना चाहिए। डॉ. इशिता के मुताबिक चार प्रकार की स्किन होती है। 

ऑयली स्किन- जिन लोगों के चेहरे पर ऑयल ज्यादा रहता है उसे तैलीय त्वचा (oily skin) कहते हैं। ऐसी स्किन वालों को जेल बेस्ड बॉडी लोशन लगाना चाहिए।

ड्राई स्किन- रूखी त्वचा (Dry skin) में चेहरे से पपड़ी जैसी निकलती रहती है। ऐसी स्किन वालों को क्रीम बेस्ड मॉश्चराइजर लगाना चाहिए। 

सेंसटिव स्किन- सेंसटिव स्किन (sensitive skin) में अक्सर देखा जाता है कि आपके गाल और नाक वाला एरिया लाल रहता है। धूप में जाने पर या गर्म चीजें खाने से चेहरा लाल होने लगता है। ऐसी स्किन वालों को लोशन बेस्ड बॉडी लोशन लगाना चाहिए।

कांबीनेशन स्किन- कांबीनेशन स्किन में आपका कुछ चेहरा ऑयली रहता है और बाकी स्किन ड्राई रहती है।

इसे भी पढ़ें : आंखों के नीचे काले घेरों (डार्क सर्कल्स) को दूर करेंगे गाजर से बने ये 2 आई मास्क, आई-बैग्स भी होंगे कम

inside2_kusumskin

बेसिक स्किन केयर रूटीन (Basic skin care routine)

जो लोग रोजाना धूप में निकलते हैं और सूरज के एक्सपोजर में ज्यादा आते हैं। तो वहीं वे लोग सुबह और शाम सूरज के एक्सपोजर में आते हैं, सभी को ये स्किन केयर अपनाना चाहिए।

1. क्लिंजर अपनाएं

अपनी स्किन के हिसाब से क्लिंजर लगाएं। अगर आपकी स्किन बहुत ऑयली है तो आप सेलिसिलिक बेस्ड क्लिंजर का इस्तेमाल करिए। अगर स्किन ड्राई है तो क्रीम या लोशन बेस्ड क्लिंजर इस्तेमाल करिए। अगर आपकी स्किन ड्राई है तो वो क्लिंजर जो बहुत ज्यादा झाग बनाएगा वो क्लिंजर इस्तेमाल नहीं करना है। ऐसे में आप मॉश्चराइजर क्लिंजर का इस्तेमाल करें। अगर आपकी सेंसटिव स्किन है तो उसके हिसाब से क्लिंजर यूज कर सकते हैं। 

2. मॉश्चराइजर लगाएं 

क्लिंजर लगाने के बाद अपनी स्किन के टाइप के हिसाब से मॉश्चराइजर लगाइए। 

3. सनस्क्रीन जरूर लगाएं 

बेसिक स्किन केयर रूटीन में तीसरा कदम सनस्क्रीन का है। मॉश्चराइजर लगाने के बाद सनस्क्रीन लगाना चाहिए। अगर आपका सन एक्सपोजर बहुत ज्यादा है तो ऐसे केस में हर दो घंटे बाद सनस्क्रीन लगाएं। सनस्क्रीन लगाने का ये मतलब बिल्कुल नहीं है कि आप हर दो घंटे बाद चेहरा धोएं। आप बिना चेहरा धोए भी सनस्क्रीन की एक लेयर लगा सकते हैं। कुछ लोगों को सनस्क्रीन लगाने से पसीना आने लगता है या वाइटिश लेयर बन जाती है। तो आजकल ऐसी भी सनस्क्रीन आ गई हैं, जिन्हें लगाने से ऐसा नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें : Anti-Pollution Cream: क्या वाकई एंटी-पॉल्यूशन क्रीम त्वचा को प्रदूषण से बचाती है? जानिए डर्मेटोलॉजिस्ट से

inside3_healthyskincaretips

 कौन किस तरह की सनस्क्रीन लगाए (Who applied what kind of sunscreen)

  • -जिनकी ऑयली स्किन होती है उनको जेल बेस्ड सनसक्रीन लगाना चाहिए। ऑयली स्किन को यही सूट करेगा।
  • -अगर आपकी स्किन बहुत ज्यादा ड्राई है तो आप लोशन या क्रीम बेस्ड सनस्क्रीन लगाइए। अब ऐसे सनस्क्रीन भी आने लगी हैं जो आपकी स्किन में रम जाती हैं।
  • -जिनको बहुत ज्यादा पसीना आता है वे जेल बेस्ड सनस्क्रीन लगाएं। जेल में कोई कलर नहीं होता है। ये ट्रांसपेरेंट सनस्क्रीन होते हैं।

 सनस्क्रीन खरीदते समय ध्यान रखें ये बातें (Keep these things in mind when buying sunscreen)

  • -सनस्क्रीन खरीदते समय ध्यान रहे कि उसका एसपीएफ 30 होना चाहिए। 
  • -क्रीम सीधे चेहरे पर न लगाएं। उसे पहले हाथ पर लगाकर देख लें। अगर आपके हाथ पर वाइट पिंच नहीं दे रहा है तो वो आपके चेहरे पर भी नहीं देगा।

घर आकर क्या करें

  • घर आकर सबसे पहले चेहरा धोएं। फिर मॉश्चराइजर लगाएं। रात को अच्छी नींद लें। अच्छी नींद आपके चेहरे की कई समस्याओं का इलाज बन जाती है।

inside5_healthyskincaretips

मास्क लगाने से हो रहीं स्किन प्रॉब्लम्स का इलाज

डॉ. इशिता ने बताया कि पहले मास्क नहीं लगाना पड़ता था, इसलिए मास्क की वजह से स्किन प्रॉब्लम भी नहीं होती थीं, लेकिन अब मास्क लगाने की वजह लोगों में एक्ने की दिक्कत भी बढ़ने लगी है। उन्होंने बताया कि मास्क वाले एरिया में एक्ने हो जाता है। अगर आपको एक्ने हो रहा है तो अच्छा क्लिंजर या एंटी एक्ने क्लिंजर का यूज कर सकते हैं। अगर उसके बाद भी कंट्रोल नहीं हो रहा है तो आप डर्मेटॉलोजिस्ट को दिखाइए। दूसरा अगर आपको एक्ने की दिक्कत है तो आप मास्क बदलकर पहनेंगे। बहुत बार ऐसा होता है कि जो मास्क दिन भर पहना होता है। अगले दिन फिर वही मास्क पहनने लगते हैं। जिससे एक्ने की दिक्कत होने लगती है। अगर कपड़े का मास्क पहना है तो उसे रोजाना धोना है। अगर डिस्पोजल मास्क है जो उसे डिस्पोज कर दें। 

हेयर केयर रूटीन (Hair care routine)

जब हम घर में थे प्रदूषण से बचे हुए थे। लेकिन अब बाहर निकलेंगे को एनवायरमेंटल एक्पोजर बढ़ेगा। ऐसे केस में हेयर केयर रूटीन भी जरूरी हो जाता है। डॉक्टर के मुताबिक ऐसे हेयर केयर रूटीन को फॉलो करें।

1.बालों पर हेयर सनस्क्रीन लगाएं। अगर आपके पास हेयर सनस्क्रीन नहीं है तो नॉर्मन सनस्क्रीन भी लगा सकते हैं। 

2.सल्फेट फ्री शैंपू और कंडीशनर यूज करें। सल्फेट फ्री शैंपू कैमिकल एक्सपोजर कम करते हैं। लीवॉन का कंडीशनर लगाएं। 

3.कंडीशनर लगाकर 8 से 10 मिनट छोड़ना है। कंडीशनर लगाकर तुरंत बाल न धोएं। लीवॉन बालों की जड़ों पर काम करता है और उन्हें सूरज से प्रोटेक्शन देता है। कुछ लीवॉन क्रीम भी आती हैं और कुछ हीट प्रोटेक्शन क्रीम भी आती हैं, उन्हें भी आप बालों की जड़ों पर अप्लाई कर सकते हैं। 

4.जब आप ट्रेवल कर रहे हों तो ध्यान रहे कि आपके बाल बंधे हुए हों। जितने बाल खुले रहेंगे उतना बालों में ड्राइनेस ज्यादा होगी। इसलिए ट्रेवल करते समय बाल बांधे रखें। सनस्क्रीन बालों की जड़ों पर लगता है, खोपड़ी पर नहीं। सूरज की वजह से आपके बालों की जड़ें प्रभावित होती हैं।

इसे भी पढ़ें : OMH Exclusive: मास्क लगाने की आदत से कैसे घटने लगे फेफड़े, साइनस, हार्ट जैसे रोगों के मरीज? जानें डॉक्टर्स से

inside6_healthyskincaretips

गर्मियों की आम त्वचा संबंधी परेशानियां (Common Summer Skin related Problems)

1. फंगल इन्फेक्शन 

अब गर्मियां भी आ रही हैं। ऐसे में फंगल इंफेक्शन भी बढ़ेगा। ऐसे में ध्यान रखना है कि कपड़ों को रोज धोकर पहनें। कपड़ों को प्रेस करके पहनें। अगर हो सके तो अंडरगार्मेंट्स भी प्रेस करके पहनें। 

2. स्किन एलर्जी 

 स्किन एलर्जी गर्मी के मौसम में ज्यादा बढ़ने लगती हैं। स्किन एलर्जी से बचने के लिए जरूरी है कि शरीर को ढंककर रखें। दूसरा अगर आपको कभी ऐसी एलर्जी हो तो सैट्रीजीन या लिवोसैट्रीजीन टेबलेट अपने पास रखें। एलर्जी होने पर ये टैबलेट खा लें। इसके बाद किसी डर्मेटॉलोजिस्ट से बात कर सकते हैं।

3. पसीने से स्किन प्रॉब्लम 

जिन लोगों को बहुत ज्यादा पसीना आता है। शरीर पर छोटे-छोटे सफेद दानें बन जाते हैं। ऐसे लोगों को कोल्ड शावर लेना चाहिए। बाहर से जब भी घर पर आएं तो ठंडे पानी से जरूर नहाइए। नहाने के बाद एक मॉश्चराइजर लगा सकते हैं। 

8-9 घंटे नौकरी करने वाले कर्मचारी क्या करें

डॉ. इशिता के मुताबिक जो लोग 8 से 9 घंटे की नौकरी करते हैं। उनका सन एक्सपोजर सुबह और शाम का होता है। लेकिन वे लंबे समय तक एसी में बैठते हैं। इसलिए उन्हें भी बेसिक स्किन केयर रूटीन फॉलो करना है। ऐसे कर्मचारियों को अपनी स्किन के हिसाब से रूटीन फॉलो करना है। पहले क्लिंजर, फिर मॉश्चराइजर और फिर सनस्क्रीन लगाएं। अगर आपक ऑफिस में हैं तो हर चार घंटे बाद सनस्क्रीन लगाएं। शाम को वापस आते समय चेहरा धोकर अपना मॉश्चराइजर लगा सकते हैं। 

चेहरा हमारे शरीर का सबसे खुला हिस्सा होता है। इसलिए इसकी प्रोटेक्शन करना शरीर के बाकी अंगों के मुकबाले थोड़ा मुश्किल होता है। यही वजह है कि प्रदूषण हो या धूल चेहरे पर सबसे लगते हैं। चेहरे की खूबसूरती बची रहे उसके लिए जरूरी है कि हम उसका ख्याल रखें।

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer