डीप क्लींजिंग करके घर में पाएं पार्लर जैसा ग्लो और निखार, एक्सपर्ट से जानें सही तरीका

दिल्ली, मुंबई जैसे महानगरों में लाखों की तादाद में पुरुष व महिलाएं काम के दौरान बसों, सड़कों और ट्रेनों से एक जगह से दूसरे स्थानों पर यात्रा करते वक्त प्रदूषण, धूल-मिट्टी का शिकार होते हैं। ऑफिस या किसी विशेष स्थान पर पहुंचते-पहुंचते हालत इस कदर ख

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Apr 29, 2019Updated at: May 03, 2019
डीप क्लींजिंग करके घर में पाएं पार्लर जैसा ग्लो और निखार, एक्सपर्ट से जानें सही तरीका

दिल्ली, मुंबई जैसे महानगरों में लाखों की तादाद में पुरुष व महिलाएं काम के दौरान बसों, सड़कों और ट्रेनों से एक जगह से दूसरे स्थानों पर यात्रा करते वक्त प्रदूषण, धूल-मिट्टी का शिकार होते हैं। ऑफिस या किसी विशेष स्थान पर पहुंचते-पहुंचते हालत इस कदर खराब हो जाती है कि उनके चेहरे पर धूल-मिट्टी जमा हो जाती है। रोजाना की इस प्रक्रिया से चेहरे को काफी नुकसान पहुंचता है, जिसको लेकर लोगों के मन में अक्सर ये सवाल उठता है कि चेहरा साफ करने के लिए फेशवॉश और क्लिंजर में से कौन सा तरीका सबसे बढ़िया है। विशेषज्ञों का कहना है कि फेस क्लीन करने के लिए दोनों का इस्तेमाल जरूरी  है।

7 शेड्स की डायरेक्टर एवं ब्यूटी स्पेशलिस्ट पुनीति चौधरी का कहना है कि चेहरा साफ करने के लिए फेशवॉश और क्लिंजर दोनों का ही प्रयोग किया जा सकता है। हालांकि इनके प्रयोग का वक्त आपके रूटीन पर निर्भर करता है। उन्होंने कहा कि अगर आप किसी कंस्ट्रक्शन साइट या किसी ट्रैफिक जैम में फंस कर आए हैं तो क्लिंजिंग मिल्क से चेहरे को साफ करें। अगर तेहरा ज्यादा गंदा है तो क्लिंजर से चेहरा साफ करने के बाद फेसवॉश से भी चेहरा साफ किया जा सकता है। क्लिंजर और फेस वॉश से स्किन की गहराई से सफाई होती है।

इसे भी पढ़ेंः लिपस्टिक लगाने से पहले पढ़ लें ये 5 बातें, होंठ दिखेंगे हॉट और खूबसूरत

पुनीति चौधरी ने डीप क्लींजिंग के अनुसार, डीप क्लींजिंग हर प्रकार की त्वचा पर की जा सकती है। लेकिन ध्यान रखें क्लींजिंग मिल्क आपकी स्किन के अनुसार होना चाहिए। स्किन की डीप क्लींजिंग कराने से सारे स्किन पोर्स क्लीन हो जाते हैं और त्वचा खुलकर सांस ले पाती है। इसे महीने में एक से दो बार करा सकते है।     

कुछ इस तरह करें क्लींजिंग

  • अगर आपकी त्वचा रूखी है तो उसके के लिए आप तेल और प्राकृतिक जड़ी बूटियां से तैयार क्लीजिंग का प्रयोग करें।
  • अगर आपकी स्किन ऑयली है, तो उस तरह की जड़ी बूटियों से बने क्लिंजर का प्रयोग करें, जिसमें आपकी त्वचा से तेल के रिसाव को रोकने की क्षमता हो और वह आपकी त्वचा की सफाई कर सके।
  • अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है तो आप जलन मुक्त, सौम्य और खुशबू से मुक्त क्लिंजर का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • क्लिंजर का प्रयोग करते वक्त इस बात का ख्याल रखें कि मिल्क से चेहरे का मसाज करने के बाद इसे पानी से न धोएं बल्कि स्किन को कॉटन से पोछें।
  • पिंपल्स वाली त्वचा की सफाई करने के लिए विशेष रूप से तैयार फेसवॉश का दिन में दो बार प्रयोग करें।
  • ऐकने क्लिंजर्स में बेंजोइल पेरोक्साइड या सॅलिसीलिक एसिड की बहुत जरूरत होती है क्योंकि ये तत्व त्वचा से ऐकने स्पॉट्स को साफ करने में सहायक साबित होते हैं।

डीप क्लींजिग का फायदा

अगर आप मेकअप के शौकीन हैं तो मैकअप के बाद जो हिस्सा स्किन के डीप में रह जाता है उसे साफ रखने में डीप क्लींजिग काफी मदद करता है। इसके साथ ही डीप क्लींजिग त्वचा को ताजा रखने और सांस लेने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ेंः ये 4 मेकअप हैक्‍स कर देंगें आपके मेकअप को और भी आसान, कम समय में पाएं अच्‍छा लुक

डीप क्लींजिग का नुकसान

डीप क्लींजिग से कोई नुकसान नहीं होता हालांकि यह जरूरी है कि आप अपनी स्किन टाइप के अनुसार ही डीप क्लींजिग का प्रयोग करें। डीप क्लींजिग करने के बाद मॉश्चराइजर और टोनर का प्रयोग नहीं करने से त्वचा को हानि हो सकती है क्योंकि टोनर और मॉश्चराइजर स्किन के पोर्स को लॉक कर देता है।

डीप क्लींजिग को लेकर मिथ और तथ्य

मिथः क्लिंजिंग मिल्क का इस्तेमाल केवल मेकअप उतारने के लिए

तथ्यः आम धारणा है कि क्लिंजिंग मिल्क का इस्तेमाल केवल मेकअप उतारने के लिए ही किया जाता है जबकि ये धारणा बिल्कुल गलत है। आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि क्लिंजिंग मिल्क सिर्फ मेकअप के लिए ही नहीं बल्कि धूल की परत हटाने के लिए भी क्लिंजर का इस्तेमाल जरूरी है।

Read More Article On grooming in Hindi

Disclaimer