Doctor Verified

बच्‍चे में नजर आ रहे हैं मोटापे के लक्षण, तो आज से ही करें ये 5 बदलाव

गलत आदतों के कारण बच्‍चे में मोटापे के लक्षण नजर आ सकते हैं। अगर आपका बच्चा भी मोटा है, तो करें ये 5 जरूरी बदलाव।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jul 01, 2022Updated at: Jul 01, 2022
बच्‍चे में नजर आ रहे हैं मोटापे के लक्षण, तो आज से ही करें ये 5 बदलाव

आपके बच्‍चे में मोटापे के लक्षण नजर आ रहे हैं, तो इसका कारण गलत लाइफस्‍टाइल आदतें हो सकती हैं। ये आदतें बच्‍चे की डाइट, रूटीन आद‍ि से जुड़ी हुई हो सकती हैं। गलत रूटीन के कारण बच्‍चे मोटापे का श‍िकार हो जाते हैं। चाइल्‍डहुड ओबेस‍िटी के कारण बच्‍चे टाइप 2 डायबि‍टीज का श‍िकार हो सकते हैं। ज‍िन बच्‍चों का वजन ज्‍यादा होता है, उन्‍हें सांस लेने में भी तकलीफ होती है। डॉक्‍टर्स के मुताब‍िक ऐसे बच्‍चों को आगे चलकर हार्ट की बीमार‍ियां होने का खतरा भी बढ़ जाता है इसल‍िए एज के मुताब‍िक सही वेट होना जरूरी है। इस लेख में हम जानेंगे क‍ि बच्‍चे को मोटापे से बचाने के ल‍िए क‍िन जरूरी बदलावों पर गौर करना चाह‍िए। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

obesity children

1. डाइट की मात्रा कम करें (Reduce Diet Quantity)

कई बार माता-प‍िता बच्‍चे को शारीर‍िक जरूरत से ज्‍यादा खाना ख‍िला देते हैं। अध‍िक खाने के कारण कम उम्र में बच्‍चे का वजन बढ़ जाता है। आपको बच्‍चे की डाइट की मात्रा चेक करनी चाह‍िए। बच्‍चों को आप द‍िनभर में 3 बड़े मील्‍स देने के बजाय 5 छोटे मील्‍स दे सकते हैं। रोटी-सब्‍जी, दाल, सलाद और चावल के अलावा आप बच्‍चे की डाइट में फाइबर और होल ग्रेन र‍िच फूड्स को शाम‍िल कर सकते हैं। डाइट कम करने के कारण बच्‍चे के शरीर में पोषक तत्‍वों की कमी नहीं होनी चाह‍िए, इस बात का ध्‍यान रखें। 

इसे भी पढ़ें- घटाना चाहते हैं तो डिनर में खाएं ये 10 चीजें, कम कैलोरीज में भी भरा रहेगा पेट

2. फ‍िज‍िकल एक्‍ट‍िव‍िटी का समय बढ़ाएं (Increase Physical Activity Time)

अगर बच्‍चे में मोटापे के लक्षण नजर आ रहे हैं, तो आप गौर करें क‍ि बच्‍चा फ‍िज‍िकल एक्‍टि‍व‍िटी को क‍ितना समय देता है। फ‍िज‍िकल एक्‍ट‍िव‍िटी का समय बढ़ाने से बच्‍चा ज्‍यादा कैलोरीज घटा पाएगा। आप बच्‍चे को आउटडोर गेम्‍स खेलने के ल‍िए प्रोत्‍साह‍ित करें। आपको इस बात का भी ध्‍यान रखना है क‍ि बच्‍चे को पर्याप्‍त नींद म‍िले। अन‍िद्रा की समस्‍या के कारण भी बच्‍चे का वजन बढ़ सकता है।     

3. स्‍क्रीन टाइम कम करें (Reduce Screen time)

बच्‍चे को मोटापे से बचाने के ल‍िए आपको स्‍क्रीन टाइम पर लगाम लगानी होगी। आज के समय में बच्‍चे फ‍िज‍िकल गेम्‍स की जगह ऑनलाइन गेम्‍स पर ज्‍यादा समय बि‍ताते हैं और ये भी मोटापे का एक बड़ा कारण है। बच्‍चे को मोटापे के बचाने के ल‍िए आप उसे द‍िन में 50 म‍िनट से ज्‍यादा ऑनलाइन गेम्‍स या स्‍क्रीन का इस्‍तेमाल न करने दें। 

4. ब्रेकफास्‍ट में जरूरी बदलाव करें (Healthy Breakfast For Children)

मोटापे का कारण गलत नाश्‍ता भी हो सकता है। नाश्‍ता द‍िन का पहला मील होता है। कई बच्‍चे ब‍िना कुछ खाए ही सुबह स्‍कूल चले जाते हैं। इस आदत से उनका वजन बढ़ सकता है। वहीं कई माता-प‍िता बच्‍चे को नाश्‍ते में अनहेल्‍दी फूड्स जैसे सॉस, पास्‍ता,  व्हाइट ब्रेड आद‍ि देते हैं, ज‍िसके कारण बच्‍चे के शरीर में कैलोरीज बढ़ सकती हैं। आप बच्‍चे के ब्रेकफास्‍ट में ये बदलाव करें- 

  • व्हाइट ब्रेड की जगह होल ग्रेन ब्रेड दे सकते हैं।
  • फ्लेवर्ड पाउडर म‍िल्‍क की जगह आप केसर और ड्राईफ्रूट्स को दूध के साथ म‍िक्‍स करके दें।
  • टोमैटो सॉस की जगह घर पर बनी चटनी दें।
  • पास्‍ता, नूडल्‍स की जगह आप बच्‍चे को घर का बना दल‍ि‍या या उपमा ख‍िलाएं।
  • बाजार के जूस की जगह बच्‍चे को लस्‍सी, छाछ, नार‍ियल पानी दे सकते हैं। 

5. इन लाइफस्‍टाइल आदतों को बदलें (Change These Lifestyle Habits)

  • बच्‍चे का देर से सोना। 
  • सुबह देर से जगना।
  • ड‍िनर और बेड टाइम में कम गैप होना।
  • प्रोसेस्‍ड फूड्स का ज्‍यादा सेवन करना।
  • कसरत न करना।

इन जरूरी बदलावों के जर‍िए आप बच्‍चे को मोटापे के लक्षणों से बचा सकते हैं। जरूरत पड़ने पर आप डायटीश‍ियन या न्‍यूट्र‍िशन‍ि‍स्‍ट से बात करें।   

Disclaimer