Nail Fungus: 'नाखून में फंगल इंफेक्शन' के पीछे हो सकते हैं ये 6 कारण, जानें लक्षण और उपचार

नाखूनों में फंगल इन्फेक्शन होना एक आम समस्या है लेकिन लापरवाही समस्या को बढ़ा सकती है ऐसे में जानें इसके लक्षण, कारण और उपचार।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Apr 19, 2021Updated at: Apr 19, 2021
Nail Fungus: 'नाखून में फंगल इंफेक्शन' के पीछे हो सकते हैं ये 6 कारण, जानें लक्षण और उपचार

नाखूनों में फंगल इन्फेक्शन होना बेहद आम समस्या है। यह समस्या तब पैदा होती है जब फंगस हमारे शरीर से चिपक जाते हैं लेकिन जब इनकी मात्रा बढ़ जाती है तो यह फंगस संक्रमित हो जाते हैं और संक्रमण फैला देते हैं। आज का हमारा लेख फंगल इंफेक्शन पर ही है। बता दें जब नाखूनों में यह समस्या पैदा होती है तो शुरुआती लक्षणों के तौर पर नाखूनों के आगे की तरफ पीले रंग की मोटी परत बन जाती है। ऐसे में इसके लक्षणों के बारे में समझना जरूरी है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि नेल फंगस कब क्यों और कैसे होता है और इसके पीछे क्या-क्या कारण (causes of nail infection), लक्षण (symptoms of nail infection) बचाव हैं। पढ़ते हैं आगे...

 

नाखूनों में फंगल इंफेक्शन के लक्षण (symptoms of nail infection)

1 - नाखूनों की चमक चली जाना

2 - नाखूनों का रंग पीला या सफेद हो जाना।

3 - नाखूनों का हर वक्त टूटना और उस में दरार आना।

4 - नाखूनों में पदार्थ का फसना।

5 - नाखूनों का सख्त हो जाना।

6 - नाखूनों का ऊपर उठना।

7 - नाखूनों के आकार में बदलाव आना।

8 - नाखूनों के किनारों पर सफेदी छा जाना या पीले रंग की धारियां बन जाना।

इसे भी पढ़ें- 

नाखूनों में फंगल इन्फेक्शन के कारण (causes of nail infection)

1 - जिन लोगों के नाखून में चोट लगती है उन्हें ये समस्या जल्दी होती है।

2 - जिन लोगों के नाखूनों की सर्जरी हुई होती है उन लोगों में भी फंगस होने का डर लगा रहता है।

3 - जो लोग मधुमेह से ग्रस्त होते हैं वह नेल फंगस के जल्दी शिकार होते हैं।

4 - जिन लोगों की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है उन्हें भी समस्या हो सकती है।

5 - वृद्धावस्था में समस्या अधिक होती है।

6 - जब नाखूनों के आसपास त्वचा में छोटी दरारे बन जाती हैं तब भी संक्रमण वहां प्रवेश कर जाते हैं।

 

नेल फंगस का इलाज (treatment of nail infection)

1 - अजवाइन के पेड़ से समस्या को दूर किया जा सकता है इसके लिए आपके पास अजवाइन के तेल के साथ-साथ नारियल का तेल भी होना चाहिए। अब एक कटोरी में अजवाइन के तेल के साथ नारियल तेल को मिलाएं और प्रभावित स्थान पर लगाएं। ऐसा करने से फंगल की समस्या दूर हो जाएगी। बता दें कि अजवाइन के तेल के अंदर एंटीफंगल गुण पाए जाते हैं जो इस समस्या से लड़ने में मदद करते हैं।

2 - लहसुन के उपयोग से भी समस्या दूर हो सकती हैं। ऐसे में लहसुन की कलियों को हाथ से कुचलकर नाखूनों पर लगाएं और 30 मिनट तक लगाए रखने के बाद इसे धो लें। ऐसा करने से भी समस्या दूर हो जाती है। बता दें कि लहसुन के अंदर एंटीमायकॉटिक ड्रग मौजूद होता है जो एंटीफंगल की तरह काम करता है ऐसे में नाखून के फंगल को दूर करने में बेहद उपयोगी।

3 - जेतून की पत्तियों के अर्क से भी समस्या को दूर किया जा सकता है। ऐसे में इसके अर्क को प्रभावित स्थान पर लगाएं और कुछ समय तक ऐसे ही छोड़ दें। उसके बाद इससे अच्छे से धो लें। बता दे कि इसके अंदर एंटीफंगल गुण मौजूद होते हैं इसलिए ये नाखून के फंगल इन्फेक्शन को ठीक कर सकता है।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि नाखूनों में फंगल इन्फेक्शन होना आम समस्या है लेकिन लापरवाही से समस्या बढ़ सकती है। ऐसे में ऊपर बताए गए लक्षण और कारणों की पहचान करके तुरंत बचाव करें‌।

Read More Articles on Other Diseases in hindi

Disclaimer