मल्टीग्रेन इडली खाकर घटाएं वजन, जानें बनाने का तरीका और अन्य फायदे

Multigrain idli for Weight Loss: मल्टीग्रेन इडली में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर पेट को लंबे समय तक भरे हुए होने का एहसास करवाता है। 

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Nov 17, 2022 16:25 IST
मल्टीग्रेन इडली खाकर घटाएं वजन, जानें बनाने का तरीका और अन्य फायदे

Idli Good for Weight Loss? : दक्षिण भारत में इडली बहुत ही लोकप्रिया डिश है। दक्षिण भारत की इडली अब पूरी दुनिया में मशहूर हो चुकी है। इडली को ज्यादातर लोग हेल्दी नाश्ते या फिर इवनिंग स्नैक्स (Idli Health benefits) के तौर पर खाना पसंद करते हैं। ज्यादातर लोग उड़द की दाल या फिर चावल के आटे की इडली बनाते हैं। लेकिन क्या आपने कभी मल्टीग्रेन इडली आई है? मल्टीग्रेन इडली उन लोगों के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद मानी जाती है, जो वजन घटाने की प्लानिंग कर रहे हैं। मल्टीग्रेन इडली में कई तरह के पोषक तत्व (Multigrain Idli Nutision Value) पाए जाते हैं जो वजन घटाने के साथ-साथ शरीर को एनर्जी देने का काम करते है। तो आइए आज जानते हैं मल्टीग्रेन इडली (Multigrain Idli khane ke fayde) बनाने का तरीका और इसका सेवन करके कैसे वजन कम किया जा सकता है इसके बारे में।

कैसे बनाएं मल्टीग्रेन इडली - How To Make Multigrain Idli

मल्टीग्रेन इडली बनाने के लिए सामग्री

बाजरे का आटा - 1 कप

रागी का आटा - 1 कप

ज्वार का आटा - 2 कप

उड़द की दाल - 1/2 कप

मेथी दाना - 2 चम्म

नमक - 1 छोटा चम्मट

तेल- सिर्फ स्टीमर पर लगाने के लिए

करी पत्ता - तड़का लगाने के लिए

इसे भी पढ़ेंः इडली vs अप्पे? जानें सेहत के लिए कौन है ज्यादा फायदेमंद

मल्टीग्रेन इडली बनाने की विधि - How To Make Multigrain Idli

मल्टीग्रेन इडली बनाने के लिए सबसे पहले उड़द दाल और मेथी दाना को एक बाउल में निकालकर धो लें। 

अब प्रेशर कुकर में उड़द दाल और मेथी दाना को 1 से 2 सिटी आने तक पकाएं।

जब दाल पक जाए तो उसे एक बड़े बाउल में निकाल लें और उसमें रागी का आटा, बाजरे का आटा और ज्वार का आटा मिलाएं।

अब इस पेस्ट में करीब 1/2 कप पानी डालें और एक स्मूथ पेस्ट तैयार करें।

इस पेस्ट में 1 चम्मच नमक डालकर साइड में रख दें। 

मल्टीग्रेन इडली के बैटर को कम से कम 12 घंटे तक ढककर रखें, ताकि उसमें खमीर उठ जाए।

अगर आप बैटर को मिक्स करने के तुरंत बाद इडली बनाना चाहते हैं तो इसमें बेकिंग सोडा मिलाएं।

जब बैटर में खमीर उठ जाए तो मिक्सचर में आधा गिलास पानी मिलाएं और 5 मिनट तक साइड में रखें।

अब इडली के सांचे में थोड़ा सा तेल ग्रीस करके बैटर डालें। 

इसके बाद इडली को अच्छे से सटीम होने तक पकाएं और गर्मा-गर्म परोसें।

आप चाहें तो हल्के गर्म तेल में मेथी दाना और करी पत्ता डालकर इडली पर तड़का डालकर स्वाद को बढ़ा भी सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः क्या सुबह खाली पेट ग्रीन टी पीना सही है? जानें एक्सपर्ट से

idli-for-weight-loss

वजन घटाने में क्यों मददगार है मल्टीग्रेन इडली?

मल्टीग्रेन इडली को बनाने के लिए रागी और बाजरे के आटे का इस्तेमाल किया जाता है। बाजरा और रागी दो ऐसे अनाज हैं, जिनमें प्रोटीन, डायटरी फाइबर, विटामिन और आवश्यक पोषक तत्व मौजूद होते हैं। यही कारण है कि मल्टीग्रेन इडली में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। फाइबर का सेवन करने से पेट लंबे समय तक भरा हुआ महसूस होता है, जिससे आप ओवरइटिंग से बच जाते हैं। ओवरइटिंग न होने की वजह से वजन और मोटापा का घटाने में मदद मिलती है। 

वजन घटाने के लिए कब खाएं इडली?

वजन घटाने के लिए मल्टीग्रेन इडली का सेवन सुबह नाश्ते के तौर पर करना चाहिए। नाश्ते में फाइबर युक्त भोजन करने से पेट को लंबे समय तक भरा हुआ महसूस होता है। आप चाहें तो मल्टीग्रेन इडली का सेवन लंच के समय में भी कर सकते हैं। 

इडली खाने के 5 फायदे

1. किसी भी प्रकार की इडली को बनाने के लिए तेल और मसालों का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसलिए इसको खाने से पाचन संबंधी समस्याएं नहीं होती है। 

2. इडली में ट्रांसफैट या सैचुरेटेड फैट नहीं होता है। इसलिए ये वजन और मोटापा नहीं बढ़ाती है। 

3. मल्टीग्रेन इडली में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो इम्यूनिटी को स्ट्रांग बनाने में मदद करते हैं।

4. मल्टीग्रेन इडली को बनाने के लिए रागी और बाजरे का इस्तेमाल किया जाता है। रागी और बाजरे में कोलेस्ट्रॉल और सोडियम का स्तर बहुत कम होता है, जो हार्ट को हेल्दी बनाए रखने में मदद करता है। 

5. मल्टीग्रेन इडली में प्रचुर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है, जो हड्डियों को स्वस्थ्य रखने में मददगार साबित होता है। 

 

 

 
 
Disclaimer