Expert

खाना खाने के बाद अंजाने में की गई ये 5 गलतियां खराब करती हैं आपका पाचन, जानें डाइजेशन कैसे ठीक करें

आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए पेट को स्वस्थ बनाए रखना जरूरी है। लेकिन लोग अक्सर ऐसी गलतियां करते हैं जिससे पाचन खराब होता है।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Jan 13, 2023 14:03 IST
खाना खाने के बाद अंजाने में की गई ये 5 गलतियां खराब करती हैं आपका पाचन, जानें डाइजेशन कैसे ठीक करें

आप जो कुछ भी खाते हैं उसका पूरा लाभ आपके शरीर को मिले इसके लिए आपके पाचन का दुरुस्त होना बहुत जरूरी है। आपका पाचन जितना बेहतर होगा आप उतने ही कम बीमार होंगे। हम में कुछ लोग अक्सर पेट खराब होने, पेट फूलने, पेट में गैस और अपच जैसी समस्याओं का सामना करते हैं। इन समस्याओं का एक महत्वपूर्ण कारण आपके पाचन तंत्र का कमजोर होना है। खराब पाचन के लिए वैसे तो कई कारण (Causes Of Poor Digestion in Hindi) जिम्मेदार हो सकते हैं, लेकिन आयुर्वेद चिकित्सक डॉ. दीक्षा भावसार, बीएएमएस आयुर्वेद की मानें तो आपके दैनिक जीवन की कई आदतें भी खराब पाचन के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं (Mistakes That Can Cause Digestive Problems In Hindi)। हम रोजाना ऐसी कई गलतियां करते हैं जो हमारे पाचन तंत्र को प्रभावित करती हैं, और हमारी सेहत को नुकसान पहुंचाती हैं। इस लेख में हम आपको खराब पाचन के लिए जिम्मेदार ऐसी 5 गलतियों के बारे में बता रहे हैं, जिनसे आपको बचना चाहिए (Mistakes To Avoid Digestive Problems In Hindi)।

पाचन खराब करती हैं ये 5 गलतियां (Mistakes That Can Cause Digestive Problems In Hindi)

1. भोजन के बाद नहाना

आयुर्वेद के अनुसार, हर गतिविधि की एक निश्चित समय अवधि होती है और उस सीमा को लांघने से मानव शरीर को नुकसान पहुंचता है। भोजन करने के बाद स्नान करने के संदर्भ में कहा जाता है कि भोजन करने के बाद अगले 2 घंटे में स्नान नहीं करना चाहिए। आपके शरीर की अग्नि (गर्मी) भोजन के पाचन के लिए जिम्मेदार होती है, तो जब आप भोजन करते हैं, तो आपके शरीर में अग्नि तत्व सक्रिय हो जाते हैं और प्रभावी पाचन के लिए रक्त परिसंचरण में वृद्धि करते हैं। लेकिन जब आप नहाते हैं तो शरीर का तापमान कम हो जाता है जिससे पाचन क्रिया धीमी हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: शरीर में अगर हैं ये 4 समस्याएं तो घी खाने से बिगड़ सकती है स्थिति, जानें किन लोगों को नहीं खाना चाहिए घी

2. भोजन के बाद चलना

भोजन के बाद बहुत ज्यादा दूर तक चलने, तैरने या एक्सरसाइज करने जैसी गतिविधियां शरीर में वात को बढ़ा देती हैं और पाचन को गड़बड़ करती हैं जिससे पेट में सूजन, पेट फूलना या ब्लोटिंग, पोषक तत्वों का अवशोषण ठीक से न होने और भोजन के बाद बेचैनी जैसी समस्याएं होती हैं।

3. दोपहर का भोजन 2 बजे के बाद करना

आयुर्वेद के अनुसार आपको अपना दोपहर का भोजन 12 से 2 बजे के बीच कर लेना चाहिए। क्योंकि इस समय सूर्य आसमान में चरम पर होता है। यह दिन का वह समय होता है जब पित्त प्रबल होता है, जो आपके भोजन को आसानी से पचाने में मदद करता है। इसी कारण से आयुर्वेद दोपहर के भोजन को दिन का सबसे महत्वपूर्ण भोजन मानता है। इस समय आप अगर भारी भोजन भी करते हैं तो वह भी आपके शरीर में आसानी से पच जाता है।

4. रात को दही खाना

दही स्वाद में खट्टा और मीठा होता है और यह शरीर में कफ और पित्त दोष को बढ़ाता है। रात के समय, शरीर में कफ बढ़ता है और इस समय दही खाने से शरीर में कफ की मात्रा बढ़ सकती है। जो आपकी आंतों को भी प्रभावित सकता है जिससे आपको कब्ज की समस्या हो सकती है। इसलिए आयुर्वेद रात में दही से परहेज करने की सलाह देता है।

5. भोजन करने के बाद सो जाना

आयुर्वेद भोजन और सोने के समय के बीच कम से कम 3 घंटे का अंतर रखने का सुझाव देता है। नींद आपके शरीर की मरम्मत करने, इसे चंगा करने और और पुनर्स्थापित करने में मदद करती है, साथ ही आपके मन से दिन के विचारों, भावनाओं और अनुभवों बाहर निकालने में मदद करती है। लेकिन जब आप भोजन के ठीक बाद सो जाते हैं तो इससे  नींद के दौरान शारीरिक उपचार और मानसिक उपचार की प्रक्रिया रुक जाती है। यही कारण है कि आयुर्वेद सलाह देता है कि दिन का अंतिम भोजन हल्का करना चाहिए और भोजन और सोने के बीच 3 घंटे का अंतर होना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: इन फलों को कभी न खाएं एक साथ, एक्सपर्ट से जानें कैसे सेहत पर पड़ सकता है बुरा असर

अपने पाचन को ठीक कैसे करें (How To Improve Digestion in Hindi)

अपने पाचन को दुरुस्त रखने और पेट संबंधी समस्याओं से बचने के लिए इन गलतियों को करने से बचें। ज्यादा मसालेदार, तला-भुना भोजन न करें। साथ ही प्रोसेस्ड और जंक फूड्स के सेवन से बचें और खूब पानी पिएं।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer