दूध में हल्दी और शहद मिलाकर पीने से शरीर को मिलते हैं ये 5 फायदे

दूध में हल्दी और शहद मिलाकर पीने से सेहत को काफी लाभ मिलता है। इससे गले की खराश और जुकाम में राहत मिलती है। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: May 26, 2022Updated at: May 26, 2022
दूध में हल्दी और शहद मिलाकर पीने से शरीर को मिलते हैं ये 5 फायदे

सेहत के लिए दूध में हल्दी और शहद मिलाकर पीने से सेहत को काफी फायदा मिलता है। इससे आपकी शरीर की सूजन, गले के दर्द और शरीर के दर्द में भी काफी राहत मिलता है। इसके अलावा दूध में हल्दी और शहद मिलाने से कई तरह के संक्रमण को दूर रखने में भी मदद मिलती है। साथ ही इस मिश्रण के सेवन से सर्दी-जुकाम और खांसी जैसी परेशानी से भी छुटकारा मिल सकता है। अगर आपके गले में खराश की दिक्कत है, तो आपको भी दूध, हल्दी और शहद को मिलाकर जरूर पीना चाहिए। दरअसल शहद और हल्दी में एंटीबैक्टीरियल, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो शरीर को अंदर से मजबूत बनाते हैं। इसके अलावा हल्दी, शहद और दूध में प्रोटीन, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, मैंगनीज, थियामिन, विटामिन बी-6 और राइबोफ्लेविन पाए जाते हैं। साथ ही इसमें कॉपर, सेलेनियम, जिंक, वसा और कैल्शियम जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इन सभी पोषक तत्वों में आपका इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है। 

दूध में हल्दी और शहद मिलाकर पीने के फायदे

1. सूजन में आराम दिलाता

कई लोग हाथ-पैर और शरीर के सूजन की वजह से परेशान होते हैं। कई बार किसी बीमारी की वजह से आपके शरीर में सूजन हो सकती है लेकिन अगर किसी दर्द और थकान के कारण आपको शरीर में सूजन महसूस हो रही हो, तो आपको दूध में हल्दी और शहद मिलाकर जरूर पीना चाहिए। दरअसल हल्दी और शहद में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो जोड़ों की अकड़न और सूजन से राहत दिलाता है। इसके सेवन से आपके आर्थराइटिस के लक्षण भी कम हो सकते हैं। अगर आपको आंखों में सूजन और दर्द की समस्या है, तो दूध में हल्दी और शहद मिलाकर पीने से लाभ होता है। 

Turmeric-honey-milk-benefits

Image Credit- Freepik

2. खांसी और जुकाम में राहत

मौसम बदलने के साथ शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। अगर आपका इम्यून सिस्टम मजबूत न हो, तो आप आसानी से बीमार पड़ सकते हैं। सर्दी-जुकाम की समस्या में आप घरेलू उपाय के तौर पर दूध, हल्दी और शहद का सेवन कर सकते हैं। हल्दी में मौजूद एंटीइंफ्लेमेटरी गुण को ब्रोंकियल अस्थमा जैसी सांस के लक्षणों को भी कम करने में मदद मिलती है। इसका सेवन छोटे बच्चे भी कर सकते हैं। यह बच्चों में होने वाली सांस की दिक्कत, गले की खराश और बुखार को भी ठीक करने में यह मिश्रण काफी कारगर साबित हो सकता है। 

3. एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर

हल्दी और शहद में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। हल्दी में करक्यूमिन नामक एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो संक्रमण को दूर रखने में सहायता करता है। इससे घाव और हल्की-फुल्की चोट भी ठीक हो सकती है। इसके लिए आप हल्की को पीसकर चोट पर भी लगा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- हल्दी और शहद से बढ़ाएं स्किन की चमक और निखार, जानें इस्तेमाल के 4 तरीके

4. मस्तिष्क के लिए फायदेमंद

दूध में हल्दी और शहद मिलाकर पीने से शारीरिक दर्द को दूर करने के अलावा यह मस्तिष्क के तंत्रिका तंत्र को शांत करने में भी फायदेमंद होता है। यह अल्जाइमर रोग के लिए भी काफी कारगर साबित हो सकता है। हल्दी और शहद में एंटी डिप्रेसेंट यानी अवसाद से बचाव का गुण भी मौजूद होते हैं। दूध, हल्दी और शहद के सेवन से आपकी याददाश्त भी मजबूत होती है और साथ ही यह पढ़ने वाले बच्चों के लिए काफी अच्छा होता है। इसे बच्चों का मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहता है। 

Turmeric-honey-milk-benefits

Image Credit- Freepik

5. गले की खराश से छुटकारा

कई लोग गले की खराश की वजह से परेशान रहते हैं। गले की खराश की वजह से लोग ठीक से बात भी नहीं कर पाते हैं। अगर ये समस्या लंबे समय तक बनी रही, तो सांस लेने में भी तकलीफ होती है। लेकिन दूध, हल्दी और शहद के सेवन से एंटी इंफ्लेमेटरी गुण, एंटी-इंफेक्टिव और एंटीऑक्सिडेंट गुण होते हैं, जिससे बलगम वाली खांसी से छुटकारा मिलता है। इसके ऐंटिसेप्टिक गुण न सिर्फ गले की परेशानी से राहत दिला सकता है, बल्कि सर्दी-जुकाम के लिए भी उपयोगी हो सकता है। इससे कई तरह की एलर्जी भी दूर होती है। 

अगर आपको दूध से लैक्टोज इंटॉलरेस की समस्या हो, तो आपको नारियल या सोया दूध का इस्तेमाल करना चाहिए ताकि किसी तरह की परेशानी न हो। 

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer