मेनोपॉज के दौरान महिलाओं को इन कारणों से होती है याददाश्त से जुड़ी समस्याएं, जानें इसके लक्षण और बचाव

महिलाओं में मेनोपॉज के दौरान यानी प्रीमेनोपॉज के समय में याददाश्त से जुड़ी समस्या ब्रेन फॉग का खतरा होता है, जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज।

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Oct 05, 2021
मेनोपॉज के दौरान महिलाओं को इन कारणों से होती है याददाश्त से जुड़ी समस्याएं, जानें इसके लक्षण और बचाव

महिलाओं में पीरियड्स यानी मासिक धर्म एक सामान्य और नेचुरल घटना है। हर महिला को एक उम्र के बाद इस स्थिति से गुजरना पड़ता है। पीरियड्स खत्म होने के बाद की स्थिति को मेनोपॉज कहा जाता है। मेनोपॉज वह स्थिति है जब महिलाओं के मां बनने की क्षमता खत्म हो जाती है और पीरियड्स आने बंद हो जाते हैं। मेनोपॉज के पहले और बाद में महिलाओं को कई परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है। इन समस्याओं में से ही एक है ब्रेन फॉग (Brain Fog)। इस समस्या में महिलाओं को याददाश्त से जुड़ी परेशानियां होती हैं और सिरदर्द, थकान और मानसिक चेतना की हानि जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। सामान्य रूप से महिलाओं में यह समस्या 45 साल से 50 साल के बीच होती है। मेनोपॉज के कारण ब्रेन फॉग या याददाश्त से जुड़ी समस्याएं अक्सर एस्ट्रोजन हॉर्मोन के स्तर में गिरावट के कारण भी हो सकती है। ऐसी स्थिति में महिलाओं को दिमाग से जुड़ी समस्याएं होती हैं। अक्सर इन समस्याओं को लोग अल्जाइमर आदि से जोड़कर देखते थे लेकी इसको लेकर हुई तमाम रिसर्च इस बात की पुष्टि करती हैं कि मेनोपॉज की वजह से शरीर में हो रहे बदलाव के कारण यह समस्याएं होती हैं। आइए विस्तार से जानते हैं इसके बारे में।

मेनोपॉज ब्रेन फॉग क्या है? (What Is Menopause Brain Fog?)

Menopause-Brain-Fog

(image source - freepik.com)

आमतौर पर 45 साल से 50 साल के बीच की महिलाओं को यह समस्या होती है। दरअसल 45 से 50 साल की उम्र में महिलाओं में पीरियड्स बंद हो जाते हैं। हर महिला में इस स्थिति के लक्षण और उम्र अलग-अलग हो सकते हैं। जब महिलाओं के पीरियड्स आने बंद हो जाते हैं और उनके मां बनने की क्षमता खत्म हो जाती है तो इस स्थिति मेनोपॉज कहते हैं। मेनोपॉज के कारण महिलाओं को चीजों को भूलने या याददाश्त से जुड़ी समस्याएं होती हैं जिसे ब्रेन फॉग कहा जाता है। इसके कारण महिलाओं को ध्यान केंद्रित करने में परेशानी होती हैं और मानसिक समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। स्टार हॉस्पिटल की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ विजय लक्ष्मी के मुताबिक कई बार प्रीमेनोपॉज के दौरान महिलाओं में याददाश्त से जुड़ी समस्याएं देखी जाती हैं। इस स्थिति में महिलाओं को किसी भी चीज पर ध्यान केंद्रित करने और चीजों को याद रखने में समस्या होती है।

इसे भी पढ़ें : क्या महिलाओं में मेनोपॉज का लक्षण है ड्राई आई (आंखों का सूखापन) ? जानें इससे कैसे निपटें

मेनोपॉज के दौरान ब्रेन फॉग के कारण (What Causes Menopause Brain Fog?)

आमतौर पर महिलाओं में प्रीमेनोपॉज के कारण होने वाली याददाश्त से जुड़ी समस्याएं शरीर में हो रहे बदलाव के कारण होती हैं। प्रीमेनोपॉज वह समय है जब महिलाओं के पीरियड्स के अंतिम दिन चल रहे होते हैं। ऐसी स्थिति में एस्ट्रोजन हॉर्मोन का स्तर कम होना शुरू हो जाता है जिसकी वजह से कुछ समय के लिए महिलाओं को याददाश्त की कमी, ध्यान केंद्रित करने में परेशानी जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हमारे दिमाग में एस्ट्रोजन हॉर्मोन प्रमुख भूमिका निभाता है। दिमाग में मौजूद एस्ट्रोजन रिसेप्टर्स एस्ट्रोजन के कम होने पर काम करना बंद करने लगते हैं और इसकी वजह से दिमाग में समस्याएं होती हैं जो याददाश्त की कमी और चेतना की हानि का कारण बनती हैं। हालांकि यह एक अस्थाई समस्या है और कुछ समय बाद यह समाप्त हो जाती है।

Menopause-Brain-Fog

(image source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : कोरोना महामारी में बढ़ रहा है ‘ब्रेन फॉग’, डायटीशियन से जानें इससे बचने के लिए क्या खाएं

मेनोपॉज से पहले ब्रेन फॉग के लक्षण (Brain Fog Symptoms)

ब्रेन फॉग को कभी भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए, यह समस्या कुछ लोगों में गंभीर रूप ले सकती है। इस समस्या में हमारे सेंट्रल नर्वस सिस्टम पर असर पड़ता है जिसकी वजह से याददाश्त से जुड़ी समस्याएं होती हैं। मेनोपॉज के कारण महिलाओं में होने वाले ब्रेन फॉग के लक्षण इस प्रकार से हैं।

  • याददाश्त की कमी।
  • हर बात भूल जाना।
  • फोकस न कर पाना
  • चीजों को समझने में परेशानी।
  • चिड़चिड़ापन। 
  • हमेशा थकान महसूस करना।
  • भ्रम की स्थिति में रहना।
  • किसी चीज के बारे में निर्णय लेने में दिक्कत।

मेनोपॉज के दौरान होने वाले ब्रेन फॉग का इलाज (Brain Fog Treatment)

महिलाओं में मेनोपॉज के कारण होने वाली ब्रेन फॉग की समस्या में इलाज के लिए चिकित्सक हॉर्मोन थेरेपी आदि का सहारा लेते हैं। जिन महिलाओं में यह समस्या गंभीर रूप से होती है उन्हें एस्ट्रोजन भी दिया जा सकता है। एस्ट्रोजन आपको हॉर्मोन बदलाव के दौरान मदद करते हैं। मेनोपॉज के पहले और बाद में शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। जिन महिलाओं में इसके कारण समस्याएं होती हैं उन्हें चिकित्सक लक्षण के आधार कुछ थेरेपी और दवाएं देते हैं।

इसे भी पढ़ें : मेनोपॉज के बाद महिलाओं में धमनियों में रुकावट (एथेरोस्क्लेरोसिस) की प्रगति को धीमा करती है हार्मोन थेरेपी

ब्रेन फॉग से बचाव के टिप्स (Brain Fog Prevention Tips)

ब्रेन फॉग की समस्या महिलाओं में मेनोपॉज के कारण शरीर में हो रहे एस्ट्रोजन हॉर्मोन की कमी के कारण होती है। मेनोपॉज एक नेचुरल प्रक्रिया है जिसे रोका नहीं जा सकता है। इस दौरान ब्रेन फॉग से बचाव के लिए आप अपना आहार और जीवनशैली को संतुलित रख सकते हैं। मेनोपॉज के दौरान ब्रेन को एक्टिव रखने के लिए कई तरह के ब्रेन गेम खेल सकते हैं। इस दौरान शारीरिक और मानसिक रूप से एक्टिव लोगों को ब्रेन फॉग का खतरा नहीं होता है।

(main image source - freepik.com)

Disclaimer