लखनऊ विश्वविद्यालय: 'गर्भावस्‍था में देखभाल' का तरीका सीखेंगी लड़कियां, शुरू होगा नया पाठ्यक्रम

उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ विश्वविद्यालय में 'गर्भ संस्कार' (Garbh Sanskar) नाम से एक विशेष कोर्स शुरू करने की योजना तैयार की जा रही है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 24, 2020Updated at: Feb 24, 2020
लखनऊ विश्वविद्यालय: 'गर्भावस्‍था में देखभाल' का तरीका सीखेंगी लड़कियां, शुरू होगा नया पाठ्यक्रम

आमतौर पर लोगों को गर्भावस्‍था (Pregnancy) के बारे में ज्‍यादा जानकारी नहीं होती। गर्भावस्‍था में खानपान, एक्‍सरसाइज, पहनावा इत्‍यादि कैसा होना चाहिए, ये सभी बातें बहुत कम ऐसी महिलाएं हैं, जिन्‍हें पता होती है। गर्भावस्‍था में सही देखभाल (Pregnancy Care Tips) न होने की वजह से आने वाले शिशु के साथ मां को भी जीवनभर तमाम तरह की जटिलताओं का सामना करना पड़ता है। इन बातों को ध्‍यान में रखते हुए लखनऊ विश्वविद्यालय (Lucknow University) प्रशासन ने गर्भावस्‍था पर एक नए कोर्स को लाने पर विचार कर रहा है।

pregnancy

'गर्भ संस्कार' के नाम से कोर्स लांच करेगा विश्वविद्यालय 

आने वाली जनरेशन को स्‍वस्‍थ और तंदुरुस्त बनाने के उद्देश्‍य से लखनऊ विश्वविद्यालय 'गर्भ संस्कार' नाम से एक विशेष कोर्स शुरू करने की योजना बना रहा है। लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रवक्‍ता दुर्गेश श्रीवास्तव ने रविवार को बताया कि महिला अध्ययन संस्थान ने गर्भ संस्कार पाठ्यक्रम शुरू करने की योजना बनाई है। यह एक सर्टिफिकेट और डिप्लोमा पाठ्यक्रम होगा। सर्टिफिकेट कोर्स 3 महीने का होगा और डिप्लोमा कोर्स 6 महीने से 1 साल के लिए बनाने का प्‍लान है। श्रीवास्‍तव के मुताबिक, विश्वविद्यालय के आने वाले सेशन में इस कोर्स को लागू किया जाएगा।

Lucknow-University

पाठ्यक्रम शुरू करने का मकसद क्‍या है? 

श्रीवास्‍तव का कहना है कि इस पाठ्यक्रम का उद्देश्‍य गर्भवती महिलाओं को यह बताना है कि उन्हें किस तरह से खुद को स्‍वस्‍थ रखना है, स्वच्छ वातावरण, उन्हें क्या खाना चाहिए, अपना ख्याल कैसे रखें जैसी जरूरी बातों पर बात करेंगे। जिससे नवजात को स्‍वस्‍थ रखा जा सके। दुर्गेश श्रीवास्तव ने बताया कि यह नया कोर्स है और अपनी तरह का पहला पाठ्यक्रम भी है। इसलिए छात्रों में इसे लेकर काफी उत्सुकता है।

इसे भी पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान ये 6 लिक्विड डाइट लेने से मां और बच्चा दोनों रहेंगे स्वस्थ, जानें अन्य फायदे

राज्‍यपाल ने दी थी सलाह

अलग-अलग मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले दिनों लखनऊ यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में उत्‍तर प्रदेश की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा था कि लड़कियों को प्रेगनेंसी के बारे में प्रशिक्षित नहीं किया जाता है; उन्‍होंने सुझाव दिया था कि लड़कियों को इस बात के लिए प्रशिक्षित किया जाना चाहिए कि एक मां के रूप में उनकी क्‍या भूमिका है। इससे भावी पीढ़ी स्‍वस्‍थ और सशक्‍त होगी।

Read More Articles On Health News In Hindi

Disclaimer