सोडा और डाइट ड्रिंक्स आपकी फर्टिलिटी को कैसे पहुंचाते हैं नकुसान? जानें एक्सपर्ट्स से

सोडा और डाइट ड्रिंक कैसे फर्टिलिटी को नुकसान पहुंचा सकती है? आखिर क्या कहता है सोडा और प्रजनन क्षमता का शोध? जानें पूरी रिसर्च...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: May 24, 2021Updated at: May 24, 2021
सोडा और डाइट ड्रिंक्स आपकी फर्टिलिटी को कैसे पहुंचाते हैं नकुसान? जानें एक्सपर्ट्स से

आसपास के तापमान के बढ़ते ही मन ठंडे की तरफ भागता है। खासकर गर्मियों में लोगों की डाइट में फिजी ड्रिंक्स और कोला डाइट कब शामिल हो जाता है पता ही नहीं चलता। ऐसा इसलिए ताकि खुद को ठंडा रखा जा सके। दूसरी तरफ लोग मीठे की तलब को दूर करने के लिए अपनी डाइट में चाय या कॉफी को शामिल कर लेते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये पेय डाइट आपकी प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है? जी हां, आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि सोडा और डाइट ड्रिंक कैसे फर्टिलिटी को नुकसान पहुंचा सकता है। जानें क्या कहती है इससे संबंधित रिसर्च? साथ ही जानते हैं क्या कहते हैं एक्सपर्ट? इसके लिए हमने द ब्लिस आईवीएफ एंड गाइन केयर. ग्रेटर नोएडा की आईवीएफ कंसल्टेंट और गायनीकोलॉजिस्ट डॉ. सोनाली गुप्ता से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे... 

 

क्या कहता है शोध  

इससे संबंधित एक रिसर्च हुई जो एपिडेमियोलॉजी पत्रिका पर प्रकाशित हुई। ये शोध बोस्टन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ द्वारा किया गया। शोध में देखा गया कि जो पुरुष और महिला नियमित रूप से एक या अधिक मीठे पेय का सेवन कर रहे हैं उनकी प्रजनन क्षमता कम हो रही है। ये शोध 3,828 महिलाओं और 1,045 पुरुषों पर किया गया। ये प्रतिभागी अमेरिका और कनाडा के रहने वाले थे। बता दें कि सबसे पहले शोधकर्ताओं ने भाग ले रहे पुरुष और महिला के चिकित्सा इतिहास, जीवन शैली और डाइट पर डेटा इकट्ठा किया। उसके बाद दोनो जेंडर के लोगों पर शोध शुरू हुआ। रिसर्च में पाया गया कि जो महिलाएं रोज एक एक सोडे का सेवन कर रही है उनमें मासिक रूप से फर्टिलिटी पावर में 25 फीसदी कमी आई। वहीं जो पुरुष इसका सेवन करते हैं उनके साथी में 33 फीसदी तक मासिक रूप से फर्टिलिटी पावर में कमी आई।

शोध के बार में पूरी जानकारी लेने के लिए यहां क्लिक करें... 

कैसे होती है फर्टिलिटी प्रभावित?

सोडे अम्लीय पेय पदार्थ के रूप में भी देखा जाता है जो शरीर के पीएच लेवल पर प्रभाव डालता है, जिसके कारण आगे चलकर प्रजनन क्षमता प्रभावित हो जाती है। दूसरी तरफ ज्यादातर सॉफ्ट ड्रिंक्स में एस्पार्टेम नामक आर्टिफिशियल सॉफ्टनर मौजूद होता है जो हार्मोन को असंतुलित कर सकता है। वहीं दूसरी तरफ जो लोग अधिक सोडे का सेवन करते हैं उनमें फ्री रेडिकल्स उत्पन्न होने शुरू हो जाते हैं, जिसके कारण कई शुक्राणु और अंडे खराब होने लगते हैं। इसके अलावा सॉफ्ट ड्रिंक्स में कैफीन भी पाया जाता है जो पीरियड्स के दौरान होने वाले रक्त स्राव को कम कर सकता है। ऐसे में महिलाओं की फर्टिलिटी कमजोर होने लगती हैं।

इसे भी पढ़ें- Sparkling/Soda Water: गर्मियों में सोडा पानी पीने के जितने फायदे उतने नुकसान, एक्सपर्ट से जानें इसके बारे में

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

द ब्लिस आईवीएफ एंड गाइन केयर. ग्रेटर नोएडा की आईवीएफ कंसल्टेंट और गायनीकोलॉजिस्ट डॉ. सोनाली गुप्ता ने बताया कि गलत खानपान के कारण और गलत लाइफस्टाइल के कारण अकसर लोग अपनी डाइट से पोषक तत्व निकाल देते हैं। ऐसे में वे लोग जंक फूड, सोडा, सॉफ्ट ड्रिंक आदि की तरफ जाते हैं और उन्हें अपनी डाइट का हिस्सा बना लेते हैं, जिसके कारण पुरुष और महिला अपनी सेहत के साथ-साथ अपनी फर्टिलिटी को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं। ऐसे में जरूरी है कि लोग अपनी डाइट का विशेष तौर पर ध्यान दें। 

सोडा पानी के उपयोग से होने वाले नुकसान (Side Effects of Soda Water)

सोडा पानी का अधिक सेवन से सेहत को अनेक समस्याओं से रूबरू करा सकता है। नुकसान निम्न प्रकार हैं-

1 - इसके उपयोग से दांतों की समस्या उत्पन्न हो जाती हैं। सोडे के अंदर पाए जाने वाली प्रोसेस्ड चीनी दांतों में कैविटी को बढ़ाने और मसूड़ों को कमजोर कर सकती है।

2 - सोडा पानी के सेवन से हड्डियां कमजोर हो सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि सोडे में मौजूद कार्बन डाइऑक्साइड हड्डियों को कमजोर कर देता है।

3 - इसके अंदर एसिड होता है, जिसके कारण पेट की परत को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में पेप्टिक, अल्सर आदि समस्या पैदा हो सकती है।

4 - सोडा के अधिक सेवन से पेट के अंदर अधिक मात्रा में गैस बनती है और व्यक्ति का पेट फूलने लगता है। ऐसे में व्यक्ति को खट्टी खट्टी डकारें आ सकती हैं।

Read More Articles on miscellaneous in Hindi

Disclaimer