आपकी स्किन के लिए क्यों जरूरी है बॉडी बटर और बॉडी लोशन, जानें इन दोनों के बीच का फर्क

  बॉडी बटर में अधिक तेल होता है, जिससे यह बॉडी लोशन की तुलना में अधिक गाढ़ा माना जाता है। आइए जानते हैं दोनों में से कौन सा, किस स्किन के लिए बेहतर है

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jan 15, 2020Updated at: Jan 15, 2020
आपकी स्किन के लिए क्यों जरूरी है बॉडी बटर और बॉडी लोशन, जानें इन दोनों के बीच का फर्क

सर्दियों का मौसम त्वचा से जुड़े कई मुद्दों में हमें परेशान करता है। जिसमें सूखी और परतदार त्वचा सबसे आम है। ठंड के महीनों के दौरान, हमारी त्वचा सभी नमी खो देती है। त्वचा को चिकनी और हाइड्रेटेड रखने के प्रयास में, बहुत सी महिलाएं विभिन्न मोटे, रूखी क्रीम और लोशन का सहारा लेती हैं। दोनों बॉडी बटर और लोशन आपकी त्वचा को प्राकृतिक अवयवों से मुलायम और हाइड्रेटेड रखते हैं लेकिन ये एक दूसरे से बहुत अलग हैं। वहीं कुछ लोग बॉडी बटर और बॉडी लोशन के बीच भ्रमित होते हैं। वो समझ नहीं पाते कि उन्हें कौन सा इस्तेमाल करना है और कौन सा नहीं। आइए जानते हैं इन दोनों में से कौन सा बेहतर है और क्यों है।

inside_bodylotion

बॉडी लोशन बॉडी बटर की तुलना में हल्का होता है

लोशन बॉडी बटर की तुलना में हल्का होता है और इसमें गैर चिकनापन महसूस होता है जो त्वचा में जल्दी अवशोषित हो जाता है। यह वास्तव में पानी और तेलों दोनों का एक इमल्शन मिश्रण है, जो बहुत शुष्क त्वचा वाले लोगों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। लोशन तब काम आता है जब आपको कुछ हल्के नमी की आवश्यकता होती है। यह उन लोगों के चेहरे और हाथों के लिए विशेष रूप से आदर्श है, जिनके पास त्वचा की बनावट नहीं है। लोशन अधिक हाइड्रेटिंग और गैर-चिपचिपा होता है। लोशन में पानी की मात्रा अधिक होती है, जो अधिक फैलता है और कम फैटयुक्त पदार्थ को वहन करता है। उन्हें चेहरे पर लगाया जा सकता है। वहीं इसमें एसपीएफ की भी कुछ मात्रा होती है, जो कि लोशन को चुनने पर एक ऐड-ऑन बिंदु के रूप में देख सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : हमेशा दिखना चाहते हैं सुंदर? जानें घर पर कैसे करें त्वचा की देखभाल और इसको अपनाने का तरीका

लोशन का उपयोग दिन और रात दोनों के दौरान किया जा सकता है। वे गैर-कॉमेडोजेनिक हैं और छिद्रों को बंद नहीं करते हैं। दूसरी ओर, बॉडी बटर में लोशन की तुलना में भारी, बामियर एहसास होता है। यह हमारे शरीर के सूखे पैच क्षेत्रों के लिए बहुत अच्छा है, जैसे कोहनी, हाथ, पैर और पैर। बॉडी बटर में एक चिकना बनावट होता है और यह उन लोगों के लिए एकदम सही है जिनकी त्वचा बहुत शुष्क है।

बॉडी बटर कच्चा होता है और लोशन रिफाइंड होता है

जब आपको अधिक गहन मॉइस्चराइज़र की आवश्यकता हो, तो बॉडी बटर का उपयोग करें। यह खुरदरी त्वचा के साथ-साथ पूरे शरीर के लिए अच्छा है। लोशन की तुलना में बटर कम पानी वाले होते हैं और इसलिए ये कम फैलते हैं। बॉडी बटर कच्चे और बेसिक होते हैं और लोशन अधिक परिष्कृत होते हैं। यह चेहरे पर लागू नहीं किया जा सकता है क्योंकि हमारी चेहरे की त्वचा बहुत संवेदनशील है और बटर लगाने से चिकनाई और पानी की कम सामग्री के कारण मुंहासे हो सकते हैं और इसके कारण चेहरे का रंग भी गहरा हो सकता है। वहीं बटर का इस्तेमाल करने का सबसे सही वक्त रात में सोने का समय है। ऐसा इसलिए क्योंकि जब हम सोते हैं तो हमारी त्वचा की हिलिंग मोड में होती है। इसलिए, यह रात में उपयोग किए जाने पर अधिक प्रभावी माना जाता है।

बॉडी बटर, लोशन के विपरीत छिद्रों को रोक सकते हैं

बॉडी बटर एक स्किन मॉइस्चराइजर है, जिसमें आमतौर पर कोको बटर, शीया बटर, नारियल तेल या वनस्पति-आधारित तेल होता है। यह लोशन की तुलना में अधिक मोटा है और सूखी त्वचा को फिर से जीवंत करने के लिए अतिरिक्त प्रभावी है, चाहे तो आप इसे पूरे शरीर पर लगा सकते हैं या केवल समस्या वाली जगह पर या शरीर के कुछ खास पैच पर उपयोग कर सकते हैं, जैसे कोहनी और घुटने। वहीं इसमें लंबे समय तक स्किन को हाइड्रेट करने की क्षमता है बस आपको अपनी जरूरत के अनुसार इन दोनों में से एक को चुनना है।

इसे भी पढ़ें : बिना क्रीम-लोशन के दूर हो जाएंगी चेहरे की झुर्रियां, बस इन 6 तरीकों से करें सिर की मसाज

तो, कौन सा है बेहतर?

इन दो उत्पादों के बीच मुख्य अंतर यह है कि बॉडी बटर में अधिक तेल होता है, जिससे यह बॉडी लोशन की तुलना में अधिक गाढ़ा होता है। दोनों के बीच का चुनाव आपकी त्वचा के प्रकार पर निर्भर करता है। अपेक्षाकृत शुष्क त्वचा वाले लोग लोशन की तुलना में शरीर के बटर से अधिक लाभ उठा सकते हैं। वहीं ऑयली त्वचा वाले लोगों के लिए बॉडी लोशन सहूी है, तो मिक्सड त्वचा वाले लोग दोनों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer