चंदन का अर्क हो या तेल, जानें इसके फायदे और नुकसान

चंदन का सेवन स्वास्थ के लिए कितना फायदेमंद है इसके बारे में अकसर भ्रम रहता है। ऐसे में इस लेख के माध्यम से जानते हैं इसके फायदे और नुकसान...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jan 12, 2021
चंदन का अर्क हो या तेल, जानें इसके फायदे और नुकसान

चंदन से बने पेस्ट या अर्क से न केवल त्वचा को बल्कि सेहत को भी कई तरीकों से लाभ हो जा सकता है। आयुर्वेद में इसका उपयोग जड़ी-बूटी के रूप में किया जाता है। इसके अर्क के माध्यम से कई समस्याओं को दूर भी किया जा सकता है। बता दें कि ये आंखों की बीमारियों को दूर करने के साथ से तनाव को कम करने में भी बेहद सहायक है। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि चंदन किन तरीकों से सेहत को लाभ पहुंचा जा सकता है। साथ ही इसके नुकसान भी जानेंगे। पढ़ते हैं आगे... 

sandalwood

इसे भी पढ़ें-क्या आपको भी आती है बहुत ज्यादा नींद? एक्सपर्ट से जानें ज्यादा नींद आने का कारण और छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

चंदन के फायदे

आंखों के लिए चंदन का इस्तेमाल

आयुर्वेद में चंदन को कई औषधि जड़ी बूटियों के साथ मिलाकर प्रयोग में लाया जाता है। इन औषधियों में भृंगराज, नीम, निर्गुंडी, सतपत्री, मधु, सोभांजना, पुनर्नवा आदि। इनके मिश्रण से मोतियाबिंद या पर्दे में आई किसी भी प्रकार की त्रुटि को ठीक किया जा सकता है।

अल्सर को दूर करें चंदन का पाउडर

चंदन के अर्क का उपयोग अल्सर को दूर करने में बेहद कारगर है। इसे लेकर कई अध्ययन भी किए गए हैं जिनसे ये सिद्ध हुआ है कि अल्सर को रोकने में चंदन का प्रयोग किया जा सकता है। आयुर्वेद में चंदन से पेट की कई समस्या को दूर किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें- क्या मोतियाबिंद का इलाज आयुर्वेदिक दवाओं से कर सकते हैं? एक्सपर्ट से जानें किन स्थितियों में हो सकता है सुधार

दातों के लिए चंदन

ध्यान दें कि चंदन के तेल में कसैले गुण पाए जाते हैं, जिनसे मसूड़ों को मजबूती मिलती है। साथ ही ये कुछ क्षति से भी रोकते हैं। ऐसे में यदि आप दांतों की समस्या से परेशान हैं तो आप नियमित रूप से चंदन के तेल का प्रयोग कर सकते हैं।

खुजली की समस्या को कम करें

जो लोग त्वचा की खुजली से परेशान रहते हैं उन्हें बता दें कि वह चंदन के पेस्ट से इस समस्या को दूर कर सकते हैं। यदि किसी व्यक्ति को कीट के काटने या सनबर्न की समस्या है तो चंदन का पेस्ट इस समस्या को भी दूर करने में बेहद मददगार है। डीटैन के लिए भी चंदन बेहद कारगर है। इसे लगाने से खुजली दूर हो जाती है। 

शरीर की गंध को दूर करे चंदन

चंदन को कॉस्मेटिक उद्योग में प्रयोग किया जाता है। इसके जरिए कई प्रोडक्ट जैसे इत्र, ड्यूडोरेंट्स आदि बनाया जाता है। जो शरीर की दुर्गंध से लड़ने में बेहद कारगर है। आप इसके इस्तेमाल से खुद को दिनभर ताजा रख सकते हैं।

चंदन से तनाव हो कम

चंदन का तेल हाई ब्लड प्रेशर से निपटने में बेहद कारगर है। साथ ही तनाव को भी कम करता है अरोमा थेरेपी के जरिए तनाव को कम करने में चंदन के तेल का प्रयोग किया जाता है। इसके तेल के अंदर कुछ ऐसी सामग्री पाई जाती है जो मस्तिष्क में सेरोटोनिन बनाने का काम करती है इससे व्यक्ति के मानसिक सुधार के साथ-साथ वह खुशी और संतोषजनक रहता है।

चंदन उम्र को बढ़ने से रोके

जिस प्रकार की जीवन शैली हम जी रहे हैं ऐसे में धूल, प्रदूषण के कारण त्वचा समय से पहले ही बूढ़ी हो जाती है। गंदगी और जमा धूल के कारण चेहरे पर झुर्रियां लटकी त्वचा सूखी त्वचा नजर आने लगती है, जिसके कारण व्यक्ति उम्रदराज दिखने लगता है। ऐसे में आप 1 बड़े चम्मच शहद में दो चम्मच चंदन पाउडर और अंडे की जर्दी मिलाएं और चेहरे पर लगाएं। इस पेस्ट को तकरीबन 1 घंटे तक चेहरे पर लगाकर ठंडे पानी से धोएं। ऐसा करने से त्वचा में कसाव आएगा और लटकी हुई त्वचा की समस्या दूर हो जाएगी।

चंदन के नुकसान

कहते हैं किसी भी चीज का अधिक मात्रा में सेवन करना नुकसानदेह हो सकता है। ऐसा ही कुछ चंदन के साथ भी है। चंदन का सेवन करने से सेहत को अनेकों फायदे मिलते हैं। वहीं अगर इसका सेवन जरूरत से ज्यादा समय तक किया जाए तो है गु्र्दों को नुकसान भी पहुंचा सकता है।
1- ध्यान दें कि चंदन के सेवन से जी मिचलाने की समस्या, पेट की समस्या और मूत्र में खून आने की समस्या हो सकती है।
2- गर्भावस्था में चंदन का सेवन करने के लिए मना करते हैं। ऐसे में आप इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करें।
3- यदि आपको गुर्दों की समस्या है तो आप चंदन का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करें। वरना इससे किडनी की बीमारी और गंभीर हो सकती है।
4- कुछ लोगों को सफेद चंदन से एलर्जी देखी गई है। ऐसे में अगर आप भी सफेद चंदन के कारण एलर्जी के शिकार होते हैं तो तुरंत इसके संपर्क से दूर हो जाएं।

Read More Articles on Ayurveda in hindi

Disclaimer