काजल और सुरमा में क्या अंतर होता है? दोनों में से कौन है आंखों के लिए ज्यादा फायदेमंद

काजल और सुरमा आंखों को खूबसूरत बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। आइए जानते हैं दोनों के बीच अंतर क्या है?

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Apr 28, 2022Updated at: Apr 28, 2022
काजल और सुरमा में क्या अंतर होता है? दोनों में से कौन है आंखों के लिए ज्यादा फायदेमंद

आंखों हमारी खूबसूरती का पहचान होती हैं। कई महिलाएं अपनी आंखों को और अधिक खूबसूरत बनाने के लिए तरह-तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं। आंखों के लिए मार्केट में कई तरह के प्रोडक्ट्स मिल जाएंगे, लेकिन सबसे अधिक आंखों में काजल का इस्तेमाल किया जाता है। दरअसल, काजल एक ऐसा आई मेकअप है, जिसे आप कभी भी और कहीं भी कैरी सकते हैं। चाहे शादी में जाना हो या फिर ऑफिस, हर जगह पर जाने से पहले आप काजल लगा सकते हैं। इससे आपका लुक काफी खूबसूरत दिखता है। लेकिन क्या आप जानते हैं काजल की तरह सुरमा (Are Surma and kajal the same thing) भी आंखों के लुक को बेहतर करता है? यह एक भारतीय पारंपरिक ब्यूरी प्रोडक्ट्स है, जिसका इस्तेमाल काफी सदियों से किया जा रहा है। अब आप सोच में पड़ गए होंगे कि आखिर दोनों में अंतर क्या है? अगर आप काजल और सुरमा के अंतर (Difference between kajal and surma) को जानना चाहते हैं, तो आइए इस लेख में जानते हैं इस विषय के बारे में- 

काजर और सुरमा में क्या है अंतर? (Difference between kajal and surma in Hindi)

काजल क्या है?

काजल एक ऐसा प्रोडक्ट्स है, जिसे कार्बन का इस्तेमाल करते तैयार किया जाता है। यह सुरमा से गाढ़ा होता है। मार्केट में आपको कई तरह के काजल आसानी से मिल जाएंगे। इन दिनों सुरमा की तुलना में काजल का इस्तेमाल अधिक होता है। क्योंकि इससे आंखों को तुलनात्मक रूप से कम जलन होती है।

इसे भी पढ़ें - आंखों को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो लगाएं ये आयुर्वेदिक काजल, एक्सपर्ट से जानें काजल लगाने के फायदे

मार्केट में काजल आपको कई तरह के आसानी से मिल सकते हैं, जिसमें जेल काजल, पेंसिल काजल, स्टिक काजल इत्यादि शामिल हैं। इसके अलावा आपको कई शेड्स के भी काजल मिल जाते हैं, जिसे आप अपने आउटफिट्स के हिसाब से कैरी कर सकते हैं। काजल की खास बात यह है कि आप काजल को घर पर भी काफी आसान तरीकों से तैयार कर सकते हैं।

सुरमा क्या है?

काजल की तरह सुरमा भी एक आई प्रोडक्ट है। इसका इस्तेमाल भी आंखों पर काजल की तरह किया जाता है। यह आपको पाउडर फॉम में मिलता है। इसके बारे में कहा जाता है कि यह कोहिनूर नामक पत्थर के इस्तेमाल से तैयार किया जाता है। सुरमा को सुरमेदानी के इस्तेमाल से आंखों में लगाया जाता है। इसे लगाने के बाद आपकी आंखों को काफी ठंडक मिलती है। हालांकि, कुछ समये कि लिए आपको तीखी सी जलन होगी, लेकिन थोड़ी देर बाद आपको काफी आराम मिलेगा।  काजल की तरह सुरमा आपको तरह-तरह के फॉम में उपलब्ध नहीं होते हैं। इसे सिर्फ आप पाउडर के रूप में ही खरीद सकते हैं। वहीं, इसके ज्यादा शेड्स नहीं होते हैं। अधिकतर सुरमा काले रंग का ही होता है। वहीं, कहीं-कही आपको सफेद सुरमा भी मिल सकता है। 

दोनों में क्या है अंतर?

  • काजल आपको कई तरह के फॉम में मिल जाता है। लेकिन सुरमा सिर्फ पाउडर फॉम में ही उपलब्ध होता है। 
  • सुरमा कोहिनूर के पत्थरों से तैयार किया जाता है। वहीं, काजल को सूरमा के पाउडर या फिर कार्बन को जमा करके बनाया जाता है। 
  • सुरमा में केमिकल होने की संभावना होती है। वहीं, घर पर तैयार काजल केमिकल फ्री हो सकता है।
  • सुरमा के ज्यादा शेड्स नहीं होत हैं। वहीं, काजल के कई शेड्स मार्केट में उपलब्ध हो सकते हैं।

काजल और सुरमा दोनों ही आंखों के लिए फायदेमंद होता है। हालांकि, कई एक्सपर्ट का मानना है कि सुरमा आंखों के लिए अधिक फायदेमंद है। खासतौर पर अगर आप केमिकल युक्त काजल इस्तेमाल करते है, तो सुरमा उससे कहीं अधिक बेहतर परिणाम देता है। 

 
Disclaimer