प्रेग्नेंसी के दौरान तिल का सेवन करने से गर्भपात का खतरा बढ़ता है? एक्सपर्ट से जानें

प्रेग्नेंसी में तिल का सेवन करना हमेशा से ही विवादों में रह है। तो, डॉक्टर से जानिए कि इसका सेवन आपके लिए सुरक्षित है या गर्भपात होने का खतरा बढ़ता है

Monika Agarwal
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: Monika AgarwalPublished at: Sep 05, 2021Updated at: Sep 05, 2021
प्रेग्नेंसी के दौरान तिल का सेवन करने से गर्भपात का खतरा बढ़ता है? एक्सपर्ट से जानें

आपने आज तक काले, सफेद और पीले आदि तिल (Sesame seeds) के बारे में तो सुना ही होगा और किसी न किसी रूप में इनका सेवन भी किया होगा। क्योंकि तिल का प्रयोग करने से किसी भी चीज का फ्लेवर और स्वाद बढ़ जाता है। आमतौर पर ऐसा माना जाता है कि अगर आप प्रेग्नेंसी के दौरान तिल (Sesame seeds) का सेवन करती हैं तो इससे आपका गर्भपात (Miscarriage) होने का रिस्क बढ़ जाता है। क्या यह बात सच है? या आपको प्रेगनेंसी में भी तिल (Sesame seeds in pregnancy) का सेवन जारी रखना चाहिए। ऐसे बहुत से सवाल आपको घेरे रहते होंगे। इन्हीं सवालों के सही जवाब पाने के लिए हमने कालंबिया एशिया हॉस्पिटल की सीनियर कंसलटेंट आब्सट्रिक्स एंड गायनेकोलॉजिस्ट मंजू गुप्ता से बात की। उनका कहना है कि कुछ महिलाएं सोचती हैं कि तिल में ऐसी गर्मी होती हैं जो बच्चे के लिए खतरनाक हो सकती है। लेकिन इस बात के पीछे कोई तर्क नहीं है कि तिल खाने से बच्चे को किसी तरह का नुकसान पहुंचेगा। इसलिए अगर आप प्रेग्नेंसी में सीमा में तिलों का सेवन करती हैं तो यह आपके लिए किसी तरह से नुकसान दायक नहीं है। न ही उन्हें गर्भपात का सामना करना पड़ेगा। 

pregnancy and seeds

तिलों की न्यूट्रीशनल वैल्यू (Nutritional Value)

  • कैल्शियम : 100 ग्राम तिलों में 989 मि ग्राम कैल्शियम पाया जाता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक प्रेगनेंट महिलाओं को एक दिन में 1000 मि ग्राम कैल्शियम का सेवन जरूर करना चाहिए
  • आयरन : प्रेग्नेंसी के दौरान आपको आयरन की आवश्यकता अधिक हो जाती है। अगर आपके शरीर में आयरन की कमी पाई जाती है तो इससे आपको एनीमिया हो सकता है। 100 ग्राम तिलों में आपको 14.8 मि ग्राम आयरन मिलता है। जबकि रोजाना आपको 27 मि ग्राम आयरन का सेवन करने का सुझाव मिलता है।

इसे भी पढ़ें : लौकी के बीज फेंकने के बजाय करें इस्तेमाल, जानें इसके 5 फायदे

कुछ अन्य पौष्टिक तत्त्व जो तिलों में पाए जाते हैं (Nutrients in Sesame Seeds)

til in pregnancy

  • तिलों में कैल्शियम, फोलिक एसिड, आयरन, मैग्नेशियम, पोटेशियम और एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं। यह तिल बी विटामिन्स से भी काफी अधिक भरपूर होते हैं।
  • तिलों में विटामिन सी पाया जाता है जोकि गर्भवती महिला की इम्यूनिटी को बढ़ाने के लिए और उसको रोगों से बचाने के लिए काफी लाभदायक होता है।
  • तिलों का सेवन करने से आपको कुछ ऐसे आवश्यक प्रोटीन और अमीनो एसिड मिलते हैं जो आपके बच्चे के विकास के लिए आवश्यक होते हैं।
  • तिल में फाइबर की मात्रा भी अच्छी खासी मौजूद होती है। जो प्रेग्नेंसी के दौरान आपकी पाचन सेहत को अच्छी रखती है। आपको कब्ज जैसी समस्या से बचा सकती है।
  • तिलों में ओलिक एसिड होता है। जो आपके शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है और बुरे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है।
  • अगर आपको डायबिटीज है या आप हाई ब्लड प्रेशर की मरीज हैं तो भी तिलों का सेवन करना आपके लिए काफी लाभदायक हो सकता है। इसमें कुछ ऐसे तत्त्व होते हैं जो सूजन होने से भी बचाते हैं।

इसे भी पढ़ें : डिलीवरी के समय ये 5 समस्याएं हो सकती हैं मां और शिशु के लिए घातक, जानें कैसे सुनिश्चित करें सेफ डिलीवरी

तिल के सेवन के साइड इफेक्ट्स (Side Effects Of Sesame Seeds)

  • पहले ट्राई मिस्टर में यदि आप की प्रेगनेंसी के दौरान कुछ रिस्क हैं तो तिल का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • यदि आपको सीड से एलर्जी है तो भी आपको तिल खाने से बचना चाहिए।

अगर आप प्रेग्नेंसी में तिलों का सेवन करना चाहती हैं तो उन्हें धनिया या पुदीने की चटनी में मिक्स कर सकती हैं। अगर आप कभी कभार नूडल्स खाती हैं तो उनको गार्निश करने के लिए तिलों का प्रयोग कर सकती है। इसके साथ ही तिल के लड्डू या चिक्की बना सकती हैं। जोकि आपके लिए बहुत ज्यादा पौष्टिक और लाभदायक हैं।

(image source:freepik, main getty)

Read more articles on Women's Health in Hindi

Disclaimer