पेट, दिल और हड्डियों से जुड़ी कई समस्याओं में फायदेमंद होता है सफेद तिल का सेवन, जानें इसके फायदे

अनेक पोषक तत्वों से भरपूर सफेद तिल के नियमित सेवन से ब्लड प्रेशर, डायबिटीज सहित कई अन्य बीमारियों में लाभ मिलता है। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Mar 31, 2021
पेट, दिल और हड्डियों से जुड़ी कई समस्याओं में फायदेमंद होता है सफेद तिल का सेवन, जानें इसके फायदे

सफेद और काले तिल का इस्तेमाल कर तमाम रेसिपी बनाई जाती है और कई डिश में भी इनका इस्तेमाल किया जाता है। सफेद और काले तिल अनेक औषधीय गुणों से युक्त होते हैं। तिल के बीज में विटामिन और मिनरल्स का प्रचुर भंडार होता है और इनका सेवन भी हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है। तिल (Sesame Seeds) का सेवन सबसे ज्यादा सर्दियों के मौसम में होता है। तमाम पोषक तत्वों से भरपूर तिल के सेवन से कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं, इसका नियमित रूप से सेवन शरीर को कई बीमारियों से दूर रखता है। सफेद तिल के सेवन से होने वाले फायदे और इसमें मौजूद पोषक तत्व इस प्रकार से हैं। 

सफेद तिल में मौजूद पोषक तत्व (Nutritional Value of White Sesame Seeds)

सफेद तिल के बीज का उपयोग कई तरह से किया जाता है, इसे अकेले और कई दूसरी डिश में इस्तेमाल कर खाया जा सकता है। सफेद तिल के बीज में तमाम पोषक तत्व मौजूद होते हैं, इसके सेवन से शरीर को ऊर्जा भी मिलती है। दिखने में छोटे और तेल से भरे हुऐ सफेद तिल के बीज में मिनरल्स और विटामिन की प्रचुर मात्रा मौजूद होती है। तिल के अनोखे स्वास्थ्य लाभ की वजह से इनकी तमाम रेसिपी तैयार की जाती है। सफेद तिल में मौजूद पोषक तत्व इस प्रकार से हैं। 

  • ऊर्जा (Energy)
  • प्रोटीन (Protein)
  • विटामिन (Vitamin)
  • मिनरल्स (Mineral)
  • फाइबर (Fiber)
  • शुगर (Sugar)
  • आयरन (Iron)
  • कैल्शियम (Calcium)
  • फास्फोरस (Phosphorus)
  • पोटेशियम (Potassium)
  • सोडियम (Sodium)
  • जिंक (Zinc)
  • थियामिन (Thiamine)
  • राइबोफ्लेविन (Riboflavin)
  • नियासिन (Niacin)
  • विटामिन बी 6 (Vitamin B6)
  • फोलेट (Folate)
  • विटामिन ए (Vitamin A)
  • विटामिन ई (Vitamin E)
safed til

सफेद तिल के सेवन से होने वाले फायदे (Health Benefits of White Sesame Seeds)

सफेद तिल के बीज अनेक औषधीय गुणों से युक्त होते हैं। तिल का बीज, पेस्ट और तेल आदि खाने में इस्तेमाल किया जाता है। सफेद तिल के बीज का नियमित रूप से संतुलित मात्रा में सेवन शरीर को तमाम पोषक तत्वों की आपूर्ति करता है और शरीर को कई बीमारियों के खतरे से भी दूर रखता है। सफेद तिल के सेवन से होने वाले प्रमुख फायदे इस प्रकार से हैं।

इसे भी पढ़ें: सफेद तिल की तरह फायदेमंद है काला तिल, जानिए काले तिल के फायदे और सेवन का तरीका

1. हार्ट के लिए फायदेमंद (Best for Heart Health)

सफेद तिल का सेवन दिल की सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। सफेद तिल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण दिल के लिए लाभदायक होते हैं। सफेद तिल के बीजों में मौजूद मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड शरीर के खराब कोलेस्ट्रॉल को कम कर अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करता है।

2. ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में फायदेमंद (Sesame Seeds Prevents Hypertension)

सफेद तिल के बीज का सेवन हृदय की समस्याओं में फायदेमंद होने के साथ-साथ ब्लड प्रेशर की समस्या में भी फायदेमंद होता है। हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के लिए सफेद तिल का सेवन उत्तम माना जाता है। तिल में मौजूद मैग्नीशियम भी हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में उपयोगी होता है। आज के समय में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से तमाम लोग पीड़ित हैं, सबसे ज्यादा महिलाएं ह्यपरटेंशन की समस्या से ग्रसित हैं। इनके लिए सफेद तिल का सेवन रामबाण माना जाता है।

3. शरीर के लिए फायदेमंद प्रोटीन का अच्छा स्रोत (Good Source of Plant Protein)

सफेद तिल के सेवन से शरीर में प्लांट बेस्ड प्रोटीन की आपूर्ति अच्छी तरह से होती है। सफेद तिल के बीजों को भुनकर खाने से प्रोटीन की अच्छी मात्रा शरीर को मिलती है। रोस्ट या भुने हुऐ सफेद तिल के सेवन से तिल के बीजों में मौजूद ऑक्सलेट और फाइटेट्स कम हो जाते हैं। प्लांट बेस्ड प्रोटीन शरीर के लिए बहुत आवश्यक होता है, तिल के बीज से मिलने वाला प्रोटीन हार्मोन से लेकर शरीर की मांसपेशियों को बनाने में बेहद फायदेमंद होता है।

4. फाइबर का अच्छा स्रोत (Good Source of Fiber)

सफेद तिल के बीज में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। शरीर के लिए आवश्यक दैनिक फाइबर की पूरी मात्रा नियमित रुप से सफेद तिल का सेवन करने से ही पाया जा सकता है। फाइबर का सेवन शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत करने के साथ ही कैंसर जैसी बीमारियों के खतरे को कम करने का काम करता है। नियमित रुप से सफेद तिल का संतुलित मात्रा में सेवन हृदय के स्वास्थ्य से लेकर, मोटापे और डायबिटीज की समस्या में भी फायदेमंद होता है।

5. ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस में फायदेमंद (Benefits in Oxidative Stress)

सफेद तिल का सेवन ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस जैसी समस्या में फायदेमंद होता है। तिल में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट गुण तनाव जैसी समस्या में फायदेमंद होता है। सफेद तिल के बीज में मौजूद गामा-टेकोफॉरल जो कि एक प्रकार का विटामिन ई होता है स्किन के लिए भी बेहद फायदेमंद माना जाता है।

white sesame seeds

6. शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने में फायदेमंद (Boost Immunity System)

सफेद तिल का सेवन शरीर की इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करता है। सफेद तिल के बीज में मौजूद सेलेनियम, तांबा, जस्ता, विटामिन जैसे पोषक तत्व शरीर की ओवरऑल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं। ये पोषक तत्व सफेद रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में सहायक होता है। जो लोग जिंक की कमी से पीड़ित हैं उनके लिए सफेद तिल का सेवन बेहद फायदेमंद माना जाता है।

7. हड्डियों के लिए फायदेमंद (Good for Healthy Bones)

नियमित रूप से सफेद तिल का सेवन हड्डियों के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। सफेद तिल के बीज में मौजूद कैल्शियम हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है, सफेद तिल के बीज को भुन या अंकुरित करके खाने से अधिक लाभ मिलता है। महिलाओं के लिए सफेद तिल का सेवन ज्यादा फायदेमंद माना जाता है, महिलाओं में हड्डियों की कमजोरी से जुड़ी दिक्कत में इसका सेवन करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है तिल, तेजी से कंट्रोल करे ब्लड शुगर लेवल

8. शरीर को ऊर्जावान रखने में फायदेमंद (Great Source of Energy)

सफेद तिल का नियमित रूप से संतुलित मात्रा में सेवन शरीर में ऊर्जा के स्तर को बनाये रखने में मदद करता है। सफेद तिल में मौजूद ओमेगा 6 और पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड शरीर के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं। इसमें मौजूद हाई फैट शरीर को ऊर्जावान बनाये रखने में लाभकारी होता है। सफ़ेद तिल के छोटे बीजों में मौजूद फाइबर, आयरन और कैल्शियम शरीर को पूरे दिन ऊर्जावान बनाए रखने में मदद करते हैं।

हमें उम्मीद है कि सफेद तिल के फायदे को लेकर लिखा गया यह लेख आपको पसंद आया होगा। सफेद तिल का सेवन कई प्रकार से किया जा सकता है इसे अकेले या कई अलग-अलग डिश में डालकर भी खाया जाता है। सफ़ेद तिल का किसी बीमारी या समस्या में औषधीय उपयोग करने से पहले से पहले चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

 

Disclaimer