Doctor Verified

शिशु को सर्दी लगने पर भाप देना सुरक्षित है या नहीं? जानें डॉक्‍टर की राय

श‍िशुओं को मौसम बदलने से सर्दी-जुकाम होता है। कई लोग इलाज के ल‍िए भाप का इस्‍तेमाल करते हैं। लेक‍िन क्‍या ये सुरक्ष‍ित है? जान‍िए इस सवाल का जवाब।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Nov 23, 2022 14:21 IST
शिशु को सर्दी लगने पर भाप देना सुरक्षित है या नहीं? जानें डॉक्‍टर की राय

सर्दी-जुकाम होने पर भाप या स्‍टीम की मदद ली जाती है। बंद नाक खोलने के ल‍िए भाप लेना फायदेमंद होता है। हवा में मौजूद नमी से नाक में जमा म्‍यूकस ढीला हो जाता है और सांस लेने में आसानी होती है। गले की खराश और खांसी की समस्‍या दूर करने के ल‍िए भी भाप लेना फायदेमंद माना जाता है। लेक‍िन क्‍या इसका इस्‍तेमाल छोटे बच्‍चे या श‍िशुओं के ल‍िए क‍िया जाना चाह‍िए? इसका जवाब हम आगे जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।     

steam for babies

क्‍या श‍िशु को सर्दी होने पर भाप देना सुरक्षि‍त है? 

हां, श‍िशु को भाप दे सकते हैं। सांस के जर‍िए भाप लेने से श‍िशु में बंद नाक, सांस न ले पाने की तकलीफ, जुकाम आद‍ि समस्‍याओं से छुटकारा म‍िलेगा। भाप देने के ल‍िए वेपराइजर या ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल कर सकते हैं। वेपराइजर की मदद से पानी गरम होता है और गरम पानी की भाप, नाक और गले में जाती है ज‍िससे सर्दी-जुकाम के लक्षणों से छुटकारा म‍िलता है। 

इसे भी पढ़ें- श‍िशु को किस उम्र से देना शुरू करना चाह‍िए सप्लीमेंट्री फूड्स? जानें इनके प्रकार और फायदे   

भाप लेने से नहीं बढ़ती इम्‍यून‍िटी 

भाप लेने से रेस्‍प‍िरेटरी अंगों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने में मदद म‍िलती है लेक‍िन इससे इम्‍यून‍िटी नहीं बढ़ती।  भाप लेने से हवा में मौजूद नमी से ब्‍लॉक हुई नाक खुल जाती है। अगर क‍िसी बच्‍चे को कोव‍िड हो जाए, तो उसे सर्दी-जुकाम और बंद नाक के ल‍िए भाप दी जा सकती है लेक‍िन भाप लेने से कोव‍िड ठीक नहीं होता।   

श‍िशु को भाप कैसे दें? 

  • भाप देने के ल‍िए टब या बाल्‍टी में गरम पानी भरें।
  • बच्‍चे को करीब 10 से 15 म‍िनट भाप दे सकते हैं।
  • ध्‍यान रखें क‍ि पानी में चुटकी भर नमक डाल सकते हैं ले‍कर वेपर रब या बॉम न डालें।
  • श‍िशु को भाप देने के ल‍िए गोद में ब‍िठा सकते हैं।
  • इससे श‍िशु को ये महसूस नहीं होता है क‍ि आप उसके साथ कुछ अलग ट्रीटमेंट कर रहे हैं।
  • 2 साल से छोटे बच्‍चों के ल‍िए डॉक्‍टर वेपर रब इस्‍तेमाल करने की सलाह नहीं देते।
  • बच्‍चे को भाप देने के ल‍िए ह्यूमिडिफायर या वेपराइजर का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।
  • इससे हवा में नमी रहती है और जुकाम के लक्षणों से राहत म‍िलती है।   

श‍िशु को भाप देने से पहले ये सावधान‍ियां बरतें 

1. बच्चे को भाप देने के ल‍िए ह्यूमिडिफायर का इस्‍तेमाल कर रहे हैं, तो ड‍िवाइस को साफ रखें। इसमें बैक्‍टीर‍िया पनप सकते हैं।  

2. ध्‍यान रखें क‍ि बच्‍चे को गरम पानी के ज्‍यादा करीब न जाने दें। इससे बच्‍चा भीग सकता है या उसे गरम पानी से दर्द महसूस हो सकता है।    

3. भाप के ल‍िए हॉट स्‍टीम वेपराइजर का इस्‍तेमाल कर रहें हैं, तो बच्‍चे को थोड़ा दूर रखें नहीं तो उसकी त्‍वचा जल सकती है। 

4. अगर आपका बच्‍चा भाप लेने में सुरक्ष‍ित महसूस नहीं कर रहा है, तो उसके साथ जबरदस्‍ती न करें। 

5. ऑटोमेट‍िक बंद होने वाले वेपोराइजर का इस्‍तेमाल करें। इससे तय समय तक पानी गरम होकर उपकरण बंद हो जाएगा। 

6. श‍िशु को पैन या कटोरे में भाप न द‍िलवाएं। साथ ही भाप वाले स्‍टीमर का इस्‍तेमाल भी न करें। इससे पानी आसानी से बाहर आ सकता है।  

श‍िशु को भाप देना सुरक्ष‍ित है? हां श‍िशु को भाप दे सकते हैं लेक‍िन सभी जरूरी सावधान‍ियों का ख्‍याल रखें। गरम पानी श‍िशु की त्‍वचा जला सकता है इसल‍िए व‍िशेष सावधानी बरतें।

Disclaimer