Expert

Hormone Imbalance: हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए जरूरी हैं ये 5 पोषक तत्व, जानें इनके स्रोत

Important Nutrients To Balance Hormones: शरीर में हार्मोन्स के संतुलन को बनाए रखने के लिए कुछ पोषक तत्वों का डाइट में होना बहुत जरूरी है।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jul 25, 2022Updated at: Jul 25, 2022
Hormone Imbalance: हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए जरूरी हैं ये 5 पोषक तत्व, जानें इनके स्रोत

Important Nutrients To Balance Hormones: जब शरीर में हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ता है, तो इससे सेहत को काफी नुकसान पहुंचता है। हार्मोन असंतुलन के कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में हार्मोन असंतुल की समस्या ज्यादा होती है। जिसके कारण उन्हें सिरदर्द और मूड स्विंग जैसी समस्याएं होती हैं। अनियमित पीरियड्स, पीरियड्स क्रैंप्स, अनचाहे बाल, कील-मुंहासे, पीसीओएस (PCOS), थायराइड डिसऑर्डर कुछ ऐसी समस्याएं हैं जिनसे इन दिनों ज्यादातर महिलाएं पीड़ित हैं। ये सभी समस्याएं शरीर में हार्मोन्स का संतुलन बिगड़ने के कारण होती हैं।

अब सवाल यह है कि शरीर में हार्मोन्स के संतुलन को बनाए रखने के लिए आप क्या कर सकते हैं? होम्योपैथिक चिकित्सक और लाइफकेयर होम्योपैथिक क्लीनिक की फाउंडर डॉ. कुशा  (Dr. Kusha B.H.M.S, P.G Homeopath) की मानें तो शरीर में हार्मोन्स के संतुलन को बनाए रखने के लिए अपने खानपान का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। आपको पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करना चाहिए। यहां तक कि हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए कुछ पोषक तत्वों का आपकी डाइट में होना भी बहुत आवश्यक है। इस लेख में हम आपको ऐसे 5 पोषक तत्वों और उनके स्रोत के बारे में बता रहे हैं, जो हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए जरूरी हैं।

हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए 5 जरूरी पोषक तत्व- Important Nutrients To Balance Hormones In Hindi

1. मैग्नीशियम (Magnesium)

हार्मोन्स को रेगुलेशन के लिए आपकी डाइट में मैग्नीशियम रिच फूड्स (Magnesium Rich Foods) का होना बहुत जरूरी है। हरी-पत्तेदार सब्जियां, साग, कद्दू के बीज, चिया के बीज, अलसी के बीज मैग्नीशियम से भरपूर होते हैं।

Important Nutrients To Balance Hormones In Hindi

इसे भी पढें: दूध में शहद मिलाकर पिएं महिलाएं, दूर होंगी ये 5 समस्याएं

2. ओमेगा 3 फैटी एसिड (Omega 3 Fatty Acid)

अगर आप हार्मोनल परिवर्तन के लक्षणों का सामना कर रहे हैं, तो आपको डॉक्टर से परामर्श करके ओमेगा-3 फैटी एसिड सप्लीमेंट्स लेने की जरूरत है। इसके अलावा आप अखरोट, बादाम, मछली, अलसी, चिया सीड्स के नियमित सेवन से भी ओमेगा-3 फैटी एसिड प्राप्त कर सकते हैं।

3. विटामिन डी3 (Vitamin D3)

हार्मोन्स के संतुलन के लिए विटामिन डी बहुत जरूरी है, क्योंकि यह एस्ट्रोज के संश्लेषण और रेगुलेशन में मदद करता है। धूप विटामिन डी का बेहतरीन स्रोत है। कोशिश करें कि सुबह या शाम 10-15 मिनट धूप में समय जरूर बिताएं। इसके अलावा दूध, अंडे, टोफू, पालक, मशरूम, मछली आदि में भी इसकी अच्छी मात्रा होती है।

4. विटामिन बी (Vitamin B Group)

विटामिन बी हार्मोनल उतार-चढ़ाव को कंट्रोल रखने में मददगार होते हैं। विटामिन बी समूह में कुल नौ बी विटामिन होते हैं। पालक, अंडे, दूध, दही, सूरजमुखी के बीज, चिया बीज में विटामिन बी प्रचुर मात्रा में होता है।

5. प्रोबायोटिक्स (Probiotics)

हार्मोन्स को संतुलित रखने के लिए प्रोबायोटिक्स बहुत आवश्यक हैं। इसलिए दही, किमची, फर्मेंटेड फूड्स, पनीर आदि जैसे प्रोबायोटिक का सेवन अधिक करें। इससे हार्मोन्स के संतुलन और मेटाबॉलिज्म को तेज करने में मदद मिलेगी।

इसे भी पढें: क्या थायराइड में दूध पीना चाहिए? जानें एक्सपर्ट की राय

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं?

डॉ. कुशा के अनुसार जब हार्मोन को संतुलित करने की बात आती है, तो पोषक तत्व प्राप्त करने के लिए संतुलित आहार का विकल्प सप्लीमेंट्स लेने से ज्यादा फायदेमंद होता है। इसलिए ऐसे आहार लें जो मैक्रो और माइक्रोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर हो।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer