Doctor Verified

प्रेगनेंसी में कैसे सोना चाहिए? जानें डॉक्‍टर की राय

अच्‍छी नींद लेने से गर्भस्‍थ श‍िशु और होने वाली मां का स्‍वास्‍थ्‍य अच्‍छा रहता है। जानते हैं प्रेगनेंसी में सोने का सही तरीका।

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Nov 17, 2022 12:58 IST
प्रेगनेंसी में कैसे सोना चाहिए? जानें डॉक्‍टर की राय

प्रेगनेंसी एक बेहद नाजुक दौर होता है। डाइट और स्‍वास्‍थ्‍य से लेकर हर एक आदत का असर होने वाले बच्‍चे पर पड़ता है। डॉक्‍टर भी प्रेगनेंसी से जुड़े सवाल और म‍िथकों का जवाब देते रहते हैं ताक‍ि लोग और मह‍िलाओं तक सही जानकारी पहुंच सके। इसी कड़ी में हम आज प्रेनगेंसी से जुड़े एक सवाल का जवाब जानेंगे। इस सवाल को गूगल पर कई बार सर्च क‍िया गया है। सवाल है क‍ि प्रेगनेंसी में कैसे सोना चाह‍िए? प्रेगनेंसी की पहले माह में सोने की पोज‍िशन उतना मायने नहीं रखती लेक‍िन जैसे-जैसे श‍िशु का व‍िकास होता है, सोने की पोज‍िशन और तरीके का असर उस पर पड़ने लगता है। आगे जानते हैं प्रेगनेंसी में आख‍िर कैसे सोना चाह‍िए। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के झलकारीबाई अस्‍पताल की गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ दीपा शर्मा से बात की।

sleep position pregnancy

प्रेगनेंसी में कैसे सोना चाह‍िए?

प्रेगनेंसी में नींद का खास महत्‍व है। स्‍वस्‍थ्‍य मां और श‍िशु के ल‍िए अच्‍छी नींद फायदेमंद होती है। प्रेगनेंसी में सोने का सही तरीका जानने के ल‍िए कुछ ब‍िन्‍दुओं पर गौर करें-

  • प्रेगनेंसी में बाईं ओर सोना फायदेमंद माना जाता है क्‍योंक‍ि इससे रक्‍त प्रवाह बेहतर होता है।
  • बाईं ओर करवट लेकर सोने से कब्‍ज, पेट दर्द, एस‍िड‍िटी और पीठ दर्द आद‍ि समस्‍याओं से छुटकारा म‍िलता है।
  • हालांक‍ि पूरी रात क‍िसी एक करवट न सोएं। थोड़ी-थोड़ी देर में पोज‍िशन बदलती रहें नहीं, तो अकड़न हो सकती है।
  • दाईं ओर सोने से हार्ट पर दबाव पड़ता है और श‍िशु के द‍िल की धड़कन भी प्रभाव‍ित हो सकती है।  
  • दोनों पैरों के बीच मुलायम तक‍िया रख सकती हैं। इससे शि‍शु को भी आराम म‍िलेगा।      
  • इस दौरान प्रेगनेंसी प‍िलो का भी सहारा ले सकती हैं। ये आपको आसानी से बाजार में म‍िल जाएंगे।

इसे भी पढ़ें- रात में नहीं आती है अच्छी नींद तो ट्राई करें फीटल पोजीशन (बेबी पोज), जानें इस पोजीशन में सोने के 5 फायदे 

प्रेगनेंसी में पीठ के बल ज्‍यादा न लेटें

प्रेगनेंसी में ज्‍यादा देर पीठ के बल नहीं लेटना चाह‍िए। पीठ के बल लेटने से यूट्रस से पीठ की मसल्‍स और रीढ़ की हड्डी पर दबाव पड़ता है। इससे रक्‍त प्रवाह भी प्रभाव‍ित होता है। पीठ के बल लेटेंगी, तो मांसपेश‍ियों में दर्द और सूजन हो सकती है। प्रेगनेंसी के दौरान मां के शरीर से गर्भस्‍थ श‍िशु को जरूरी पोषक तत्‍व म‍िलते हैं। बच्‍चा, मां के जर‍िए ऑक्‍सीजन लेता है। अगर प्रेगनेंसी में नींद नहीं पूरी होगी, तो प्‍लेंसेंटा तक ठीक से ऑक्‍सीजन सप्‍लाई नहीं हो सकेगा और बच्‍चे के द‍िल की धड़कन रुक सकती है।  

प्रेगनेंसी में अच्‍छी नींद के ल‍िए ट‍िप्‍स

  • रात में ज्‍यादा ऑयली या देर से पचने वाला भोजन न करें। ऐसा करने से नींद प्रभाव‍ित हो सकती है।
  • हर द‍िन समय-समय पर आराम करें और रोजाना 7 से 8 घंटे की नींद जरूर पूरी करें।
  • सोने से पहले हाथ-पैर, गर्दन, पीठ की माल‍िश करने से आराम म‍िलता है।
  • प्रेगनेंसी में सोने के दौरान साफ-सफाई का खास ख्‍याल रखें ताक‍ि संक्रमण न हो।  

प्रेगनेंसी में ज्‍यादा देर पीठ या पेट के बल न लेटें। बाईं ओर करवट लेकर सोना फायदेमंद माना जाता है। हालांक‍ि समय-समय पर पोज‍िशन बदलती रहेंगी, तो अच्‍छी नींद ले सकेंगी। 

Disclaimer