अगर आपका बच्चा भी है इंट्रोवर्ट (अंतर्मुखी), तो उसकी परवरिश में ध्यान रखें ये 5 बातें

इंट्रोवर्ट या अंतर्मुखी बच्चों की परवरिश में उनके माता-पिता को विशेष ध्यान रखना चाहिए, जानिए इंट्रोवर्ट बच्चों की परवरिश से जुड़ी कुछ बातें। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Oct 04, 2021
अगर आपका बच्चा भी है इंट्रोवर्ट (अंतर्मुखी), तो उसकी परवरिश में ध्यान रखें ये 5 बातें

बच्चों के उचित विकास के लिए उनका सही तरीके से देखभाल किया जाना बहुत जरूरी है। अच्छी परवरिश मिलने पर बच्चों का मानसिक और शारीरिक रूप से सही ढंग से विकास हो पाता है। पेरेंट्स भी बच्चों की परवरिश को लेकर कई बार परेशान रहते हैं। हर बच्चे की परवरिश एक जैसे ही हो यह जरूरी नहीं है। कई बार बच्चे इंट्रोवर्ट होते हैं जिनकी परवरिश में अधिक ध्यान देना चाहिए। इंट्रोवर्ट (अंतर्मुखी) बच्चों की परवरिश सही ढंग से की जाये तो उनमें से यह समस्या खत्म हो सकती है। इंट्रोवर्ट या शर्मीले लोगों के साथ बातचीत करना आसान नहीं होता है। ऐसे लोग अक्सर आसानी से बातचीत करने के लिए तैयार नहीं होते हैं।कई बार ऐसे लोगों को समझना मुश्किल हो जाता है, तो वहीं इंट्रोवर्ट लोगों के लिए भी अपनी बात दूसरों के सामने रखना आसान नहीं होता है। अंतर्मुखी होना तनावपूर्ण हो सकता है और एक निरंतर आंतरिक संघर्ष के अलावा, आपको दूसरों के सवालों से भी नचाहते हुए भी परेशान करता है। आइये जानते हैं इंट्रोवर्ट बच्चों की परवरिश और देखभाल से जुड़ी अहम बातों के बारे में।

इंट्रोवर्ट बच्चों की परवरिश में ध्यान रखें ये बातें (Tips To Parent An Introvert Child)

Tips-To-Parent-An-Introvert-Child

(image source - freepik.com)

1. एकांत और अकेला समय क्या होता है इसके बारे में जानकारी दें

हम वयस्क लोगों को अकेले समय और खुद के टाइम के बारे में अच्छे से जानकारी होती है लेकिन बच्चों को यह नहीं पता होता है कि उनके लिए अकेला समय या खुद का समय क्या है। इसलिए कई बार बच्चे खुद को अकेले में रखते हैं। बच्चों को फ्री टाइम, सेल्फ टाइम और लोगों के साथ टाइम बिताने के बारे में शुरुआत से ही जानकारी देनी चाहिए। ऐसा करने से धीरे-धीरे बच्चे लोगों से घुलने मिलने लग जाएंगे।

इसे भी पढ़ें : बच्चों को घर पर व्यस्त रखने के लिए अपनाएं ये 7 क्रिएटिव तरीके, सीखेंगे कई नई चीजें और नहीं करेंगे परेशान

2. बच्चों की भावनाओं पर हावी न हों

बच्चे बहुत ही भावुक होते हैं कई बार वे छोटी-छोटी बातों पर रोने या हंसने लग जाते हैं। बच्चे बहुत जल्दी खुश और दुखी हो सकते हैं। चाहे वे अंतर्मुखी हों या बहिर्मुखी सभी बच्चों में भावनाएं होती हैं। बच्चों की भावनाओं पर हावी होने से बचना चाहिए। बच्चों की भावनाओं के लिए जगह छोड़ने से धीरे-धीरे वे चीजों के बारे में समझने लगेंगे। आप बिना उनकी भावनाओं को दबाए चीजें सिखा सकते हैं।

Tips-To-Parent-An-Introvert-Child

(image source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : आपके बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ाएंगी ये 10 आसान टिप्स, पढ़ाई और करियर हर जगह रहेंगे आगे

3. बच्चों को नए लोगों और परिस्थितियों से अवगत कराएं

जो बच्चे इंट्रोवर्ट होते हैं उसकी सबसे बड़ी वजह उनके आसपास का माहौल भी हो सकता है। कई बार आसपास के माहौल और वातावरण के कारण बच्चों में ये समस्या देखने को मिलती है। ऐसे में इंट्रोवर्ट बच्चों को नए लोगों से मिलाना चाहिए। आप बच्चों को नए लोगों से मिलाएं और उन्हें दूसरे लोगों के साथ इंटरैक्ट करना भी सिखाएं। ऐसा करने से धीरे-धीरे उनके भीतर की झिझक और अंतर्मुख रहने की भावना खत्म होने लगेगी और बच्चे लोगों के बीच घुल मिल जाएंगे।

इसे भी पढ़ें : बच्चों में जरूरी है सोशल वैल्यू , जानें इन्हें सिखाने के 5 तरीके

4. इंट्रोवर्ट बच्चों केसोशलाइज होने पर उनकी सराहना करें

ऐसे बच्चे जो इंट्रोवर्ट हैं या लोगों से मिलने जुलने में शर्माते हैं उनकी सोशलाइज होने पर प्रशंसा जरूर करें। इंट्रोवर्ट बच्चे की जब आप ऐसे समय पर सराहना करेंगे तो उनके मन में लोगों से मिलने जुलने का विचार पैदा होगा। एउर ऐसा कुछ दिनों तक करते रहने के बाद अपने आप उनके मन से ये भावना दूर हो जाएगी।

5. बच्चे से इस स्थिति के बारे में बात करें

जब आप अपने बच्चों को इस स्थिति के बारे में बताएंगे तो उससे भी उन पर इसका असर होगा। अंतर्मुखी बच्चों की परवरिश में इस बात को जरूर शामिल किया जाना चाहिए। जब आप अपने बच्चे से इस मुद्दे के बारे में बात करेंगे और उन्हें इससे अवगत कराएंगे तो इसकी वजह से वे अपनी इस आदत को छोड़ने का प्रयास जरूर करेंगे। इंट्रोवर्ट बच्चों को आगे चलकर पढ़ाई लिखी और करियर में दिक्कतें हो सकती हैं इसलिए जरूरी है कि शुरुआत में ही इसके बारे में बात की जाए।

इस तरह से ऊपर बताई गयी बातों का ध्यान रखकर पेरेंट्स अपने इंट्रोवर्ट बच्चों का ध्यान रख सकते हैं। अगर बच्चे को अधिक समस्या हो रही हो तो इसके लिए एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। 

(main image source - iStock.com)

Disclaimer