बच्चों को घर पर व्यस्त रखने के लिए अपनाएं ये 7 क्रिएटिव तरीके, सीखेंगे कई नई चीजें और नहीं करेंगे परेशान

घर पर बच्चों को व्यस्त रखने के लिए कुछ ऐसे क्रिएटिव तरीकों की मदद ली जा सकती है जो बच्चों के लिए मानसिक और शारीरिक विकास में उपयोगी हैं।

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Sep 21, 2021
बच्चों को घर पर व्यस्त रखने के लिए अपनाएं ये 7 क्रिएटिव तरीके, सीखेंगे कई नई चीजें और नहीं करेंगे परेशान

बच्चे अक्सर माता-पिता से बाहर घूमने, फिरने या दोस्तों से मिलने की जिद्द करते हैं और जब माता पिता उनकी इस जिद्द को पूरा नहीं कर पाते तो बच्चे गुस्सा हो जाते हैं। ऐसे में उन बच्चों को मनाना थोड़ा सा मुश्किल हो जाता है। अगर माता-पिता बच्चों को पहले से ही घर पर व्यस्त रखेंगे तो वह बाहर जाने की जिद्द नहीं करेंगे। अब सवाल यह है कि माता-पिता बच्चों को कैसे घर पर व्यस्त रख सकते हैं? बच्चे अक्सर किसी ना किसी चीज से जल्दी बोर हो जाते हैं। ऐसे में माता-पिता को कुछ ऐसे तरीके पता होनी चाहिए जिनसे बच्चों को घर पर व्यस्त रखा जा सके। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि बच्चों को व्यस्त रखने के लिए माता-पिता किन जरूरी चीजों को अपना सकते हैं। इसके लिए हमने गेटवे ऑफ हीलिंग साइकोथेरेपिस्ट डॉ. चांदनी (Dr. Chandni Tugnait, M.D (A.M.) Psychotherapist, Lifestyle Coach & Healer) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

 

1 - बच्चों से कहें अखबार पढ़ने के लिए

अकसर घरों में सुबह के समय एक कप चाय के साथ अखबार पढ़ा जाता है। ऐसे में अगर माता-पिता अखबार बच्चों से पढ़वाएं तो इससे न केवल उनका समय व्यतीत होगा बल्कि बच्चों की रीडिंग स्किल्स भी बढ़ेंगी। ऐसे में बच्चा अगर किसी जगह या किसी शब्द पर अटकता है तो वह कोशिश करेगा कि अगले दिन वह उस जगह या उस शब्द पर ना रूके। ऐसे में वह अपनी रीडिंग स्किल्स को बढ़ाने के लिए प्रैक्टिस भी करेगा। अखबार के अलावा आम बच्चे से उसकी पढ़ाई से जुड़ी किताबें या कुछ महान लोगों की प्रेरणा पूर्ण कहानियां भी पढ़ा सकते हैं। इससे बच्चों का मानसिक विकास होगा।

2 - बच्चों के डांसिंग भी है जरूरी

अगर आपको लगता है कि आपके बच्चे के अंदर डांस स्किल्स हैं तो आप बच्चों की ऑनलाइन क्लास लगवा सकते हैं या इससे अलग आप बच्चों को कुछ वीडियोस दिखा कर भी उनसे प्रैक्टिस के लिए कह सकते हैं। इससे अलग आप बच्चों के उन स्टेप्स को अच्छी तरीके से करने पर इनाम भी दे सकते हैं। ऐसा करने से भी खुद को डांस की प्रैक्टिस में व्यस्त रखेगा। डांस के अलावा यदि आपके बच्चे में सींगिग या कोई और कला है तो आप उसके लिए बच्चे को प्रेरित करें और उससे जुड़ी क्लास या वीडियोज दिखाएं। 

इसे भी पढ़ें- छोटे बच्चों के बाल तेजी से बढ़ाने के लिए माता-पिता अपनाएं ये 7 तरीके

3 - पेपर क्राफ्ट भी है एक अच्छा विकल्प

बच्चों को व्यस्त रखने के लिए आप उनसे पेपर क्राफ्टिंग का काम भी करवा सकते हैं। जैसे आप उनसे कई नई चीजें फोटो फ्रेम, वॉल हैंगिंग, फोटो का कोलाज, पेपर फोल्डिंग, गिफ्ट रैपिंग आदि चीजों को बनवा सकते हैं। इसके आलावा आप अखबार के माध्यम से बच्चों को नए-नए पेपर क्राफ्ट बनाने के लिए कह सकते हैं। इससे ना केवल बच्चों का माइंड डाइवर्ट होगा बल्कि बच्चे क्रिएटिव भी बनेंगे।

4 - पसंदीदा चीजों को छुपाएं

आप बच्चों की पसंदीदा चीजों को छुपाएं और उनसे कहें कि वह उसे ढूंढे। इससे अलग आप उन्हें कुछ पहेलियां भी दे सकते हैं और उन उस पहेलियों के जरिए आप उनसे अपने पसंदीदा चीजों को ढूंढने के लिए कह सकते हैं। ऐसा करने से न केवल बच्चे मानसिक रूप से विकसित होंगे बल्कि उनका मन भी घर पर लगा रहेगा।

5 - गेम बॉक्स को करवाएं तैयार

बच्चों के पास काफी गेम्स होते हैं। ऐसे में आप बच्चों से कुछ ऐसे गेमबॉक्स बनवाने के लिए कह सकते हैं जिनमें वे अफने गेम रख सकें। ऐसा करने से न केवल बच्चों का मानसिक रूप से विकास हो बल्कि वे चीजों को व्यवस्थित तरीके से रखना भी सीखेंगे। ऐसे में आप आइसक्रीम स्टिक, शर्ट के बटन, माचिस की तिलिया आदि का सहारा ले सकते हैं और आप उनके माध्यम से गेमबॉक्स तैयार कर सकते हैं। इसके लिए आप अपने बच्चों को गेम बॉक्स तैयार करने वाले वीडियोस भी दिखा सकते हैं। ऐसा करने से उन्हें नए-नए आइडिया आएंगे और वे ज्यादा क्रिएटिव बनेंगे।

इसे भी पढ़ें- माता-पिता इन 7 तरीकों से बन सकते हैं अपने बच्चों के लिए रोल मॉडल 

6 - फ्रिज मैग्नेट का लें सहारा

आजकल मार्केट में कई ऐसे फ्रिज मैग्नेट्स मौजूद हैं जो बच्चों को काफी पसंद आते हैं। ऐसे में आप ज्यादा छोटे बच्चों के लिए ए से जेड तक के फ्रिज मैग्नेट और थोड़े से बड़े बच्चों के लिए जनरल नॉलेज से जुड़े फ्रिज मैग्नेट लाएं और जब आप रसोई में काम कर रहे हों तो उस दौरान बच्चों से फ्रिज पर मैंगनेट को चिपकाने के लिए कहें। और अगर बच्चा सही से उन मैग्नेट्स को सीरीज के हिसाब से चिपकाए तो इसके लिए उसे इनाम भी दें। ऐसा करने से उसकी नॉलेज भी बढ़ेगी और बच्चों का आत्मविश्वास भी बढ़ेगा

7 - बच्चों से मांगे पूरे दिन का शेड्यूल

अकसर माता-पिता बच्चों के शेड्यूल को खुद तैयार करते हैं। लेकिन वह इस काम को अपने बच्चों से करवाएंगे तो इससे बच्चा अपना शेड्यूल तैयार करते वक्त उनमें नई नई चीजों को भी जोड़ सकता है। ऐसे में आप अपने बच्चों से रोज सुबह पूरे दिन का शेड्यूल मांगे और जब बच्चा शाम को पूरे शेड्यूल के हिसाब से अपना दिन खत्म करे तो उसे इसके लिए इनाम भी दें। ऐसा करने से बच्चे का माइंड डाइवर्ट नहीं होगा और वह अनुशासित तरीके से रहना भी सीख जाएगा।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि माता-पिता बच्चों की दिनचर्या में कुछ ऐसी चीजों को जोड़ सकते हैं, जिससे बच्चा बाहर जाने की जिद्द ना करे और उसका मन घर पर ही लगा रहे। ऐसे में यह क्रिएटिन तरीके बच्चों के मानसिक और शारीरिक विकास के लिए भी बेहद उपयोगी हैं।

इस लेख में फोटोज़ FREEPIK से ली गई हैं। 

Read More Articles on parentings in hindi

Disclaimer