बच्चों में जरूरी है सोशल वैल्यू , जानें इन्हें सिखाने के 5 तरीके

आप अपने बच्चों को मोरल वैल्यू तो दे ही रहे होंगे। पर उन्हें कुछ सोशल वैल्यू भी बताना जरूरी है। तो, जानते हैं बच्चों में सोशल वैल्यू का विकास कैसे करें

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Sep 20, 2021
बच्चों में जरूरी है सोशल वैल्यू , जानें इन्हें सिखाने के 5 तरीके

आपके बच्चों का अच्छा होना सिर्फ आपके लिए ही जरूरी ही नहीं है बल्कि समाज के लिए भी जरूरी है। बचपन से ही एक व्यवहार कुशल बच्चा आगे चलकर एक बेहतर नागरिक के रूप में तैयार होता है। इसलिए जरूरी ये है कि आप समय के साथ अपने बच्चों में सोशल वैल्यू (social values in child) का विकास करें। पर प्रश्न ये है कि बचपन से आप अपने बच्चों में इन वैल्यूज का विकास कैसे करेंगे? इसके लिए आप अपने दोस्तों और फैमिली मेंबर्स की मदद ले सकते हैं। साथ ही आप आज से ही अपने बच्चों पर कुछ छोटी-छोटी जिम्मेदारियां देकर उन्हें सामाजिक बातें सीखा सकते हैं। इसके अलावा कुछ टिप्स भी हैं जिनकी मदद से आप अपने बच्चों में सोशल वैल्यू का विकास कर सकते हैं। आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से। 

Inside1healping

बच्चों में सोशल वैल्यूज का विकास कैसे करें-How to teach social values to your child

1. बच्चों को सिखाएं दूसरों की मदद करना

आज के बच्चे अपना ज्यादातर समय मोबाइल और लैपटॉप पर ही बिता देते हैं। ऐसे में वे उन चीजों को नहीं सीख पाते जो कि उनकी लाइफ में आगे काम आती हैं। उन्हीं चीजों शामिल है दूसरों की मदद करने की आदत। दूसरों की मदद करने की आदत डालने के लिए आप अपने बच्चों को घर में बाकी लोगों के साथ काम में मदद करना सीखा सकते हैं। खास कर की बड़ों की। बड़ों की मदद करते समय वे कई बाते सीखते हैं। जैसे कि किसी भी काम को करने का सही तरीका, मिल कर काम करने का तरीका और आदर के साथ काम करना। इससे आपके बच्चे के बाहर भी लोगों की मदद करेंगे और उन्हें जरूरत पड़ने पर छोड़ कर नहीं भागेंगे।

इसे भी पढ़ें : माता-पिता इन 9 तरीकों से सिखाएं अपने बच्चों को स्कूल में कैसे करें अपनी सुरक्षा

2. साफ-सफाई रखना

बच्चों को साफ-सफाई के प्रति जागरूक बनाना बेहद जरूरी है। दरअसल, आज के समय में भी भारत में लोगों साफ-सफाई से रहने नहीं आता है। वे जो जहां खाते हैं उसे नहीं फेंक देते हैं। साथ ही कुछ लोगों को कहीं भी खा कर थूकने की आदत हो जाती है। ऐसे लोगों को रोकने के लिए आपके बच्चे एक टीचर की तरह काम कर सकते हैं। इसके लिए पहले तो अपने बच्चों को साफ-सफाई से रहना सिखाएं। उसके बाद उन्हें कूड़ा कूड़ेदान में डालने या फिर उनकी सही जगह पर फेंकना सिखाएं। साथ ही बच्चों को ये भी बताएं कि अगर आपके सामने कोई ऐसा करता है तो उसे ऐसा करने से रोकें और गंदगी फैलाने से मना करें।

3. बच्चों को सिखाएं शेयरिंग

बच्चों को किसी के भी साथ अपनी चीजों को बांटना जरूर सीखाएं। दरअसल, जब आप शेयरिंग करना सीखते हैं तो आपके अंदर दूसरों के प्रति प्रेम और सम्मान की भावना भी आती है। ऐसे बच्चे ना सिर्फ बड़े होकर एक अच्छे और बड़े दिल वाले व्यक्ति बनते हैं बल्कि ये समाज के लिए भी कुछ करने की भावना रखते हैं। 

Inside2cleaness

4. बच्चों को सिखाएं फर्स्ट एड देना

बच्चों को बचपन से ही फर्स्ट एड बॉक्स बनाना और फर्स्ट एड का इस्तेमाल करना सिखाएं। दरअसल, इससे बच्चों के अंदर लोगों के इलाज करने की भावना आएगी और उन्हें मालूम होगा कि अगर हमें चोट लगती है या फिर किसी और को चोट लगती है तो फटाफट फर्स्ट एड कैसे दिया जा सकता है। ऐसे बच्चे आगे चल कर कभी भी किसी को चोट लगा हुआ देखेंगे तो उनके अंदर उन्हें फर्स्ट एड देने की भावना रहेगी। 

इसे भी पढ़ें : छोटे बच्चों के बाल तेजी से बढ़ाने के लिए माता-पिता अपनाएं ये 7 तरीके

5. लोगों से बात करना सिखाएं

कुछ बच्चों को दूसरों से बात करने में शर्म आती है। तो, कुछ बच्चे हमेशा अकेले और दुनिया से कट कर रहना चाहते हैं। ऐसे में आपको अपने बच्चों को व्यवहारिकता और दूसरे लोगों से बात करने की कला सीखानी चाहिए। ऐसे में बच्चों को दूसरे लोगों के साथ खुलने के लिए मित्र बनाना सिखाएं और इसके लिए उन्हें सांस्कृतिक, एथलेटिक, धार्मिक और मनोरंजन गतिविधियां में शामिल होना बताएं। 

ध्यान रहे कि सामाजिक दुनिया को समझना और बच्चों को समझाना आसान नहीं होता है। इसलिए अपने बच्चों से व्यक्तिगत अनुभव शेयर करें। अपने स्वयं के जीवन से कहानियां साझा करें, जहां उन्हें बताएं कि नैतिक मूल्य का पालन करने से आपके जीवन में कितने अच्छे बदलाव आए। 

Read more articles on Tips for Parents in Hindi

Disclaimer