सक्रियता और एकाग्रता (अटेंशन स्पैन) को बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 7 तरीके, एक्सपर्ट से जानें

जीवन में सक्रियता (अटेंशन स्पैन) और एकाग्रता को बढ़ाना मानसिक स्वास्थ्य और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है। जानें इसे बढ़ाने के कुछ तरीके...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Aug 02, 2021Updated at: Aug 02, 2021
सक्रियता और एकाग्रता (अटेंशन स्पैन) को बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 7 तरीके, एक्सपर्ट से जानें

आज के समय में लोग सोशल मीडिया पर बढ़ती जागरूकता के कारण और घटती एकाग्रता के चलते काफी दिक्कत का सामना उठा रहे हैं। वे ये नहीं समझ पाते कि सोशल मीडिया पर वो जो समय व्यतीत कर रहे हैं इसके कारण उनकी सेहत को क्या-क्या नकारात्मक प्रभावों का सामना करना पड़ सकता है। बता दें कि जीवन में सक्रियता और एकाग्रता का होना जरूरी है। अगर आप अपने जीवन को अच्छा बनान चाहते हैं और अटेंशन स्पैन को बढा़ना चाहते हैं तो आज का हमारा लेख आपके लिए ही है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि अटेंशन स्पैन को बढ़ाने के लिए कौन-से तरीके आपकी मदद कर सकते हैं। इसके लिए हमने गेटवे ऑफ हीलिंग साइकोथेरेपिस्ट डॉ. चांदनी (Dr. Chandni Tugnait, M.D (A.M.) Psychotherapist, Lifestyle Coach & Healer) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

 

1 - भरपूर नींद लेना

भरपूर नींद लेने से न केवल व्यक्ति शारीरिक रूप से थकान को दूर करता है बल्कि इससे मानसिक थकान भी दूर होती है। अगर सबसे पहले शारीरिक स्वास्थ्य की बात करें तो मांसपेशियों की मरम्मत तेजी से होती है। साथ ही व्यक्ति सकारात्मक और क्रिएटिव विचारों को बढ़ावा दे सकता है। वहीं अगर व्यक्ति भरपूर नींद नहीं लेता तो इसका नकारात्मक असर रोजमर्रा के कामकाज और मानसिक स्वास्थ्य दोनों पर पड़ता है। ऐसे में भरपूर नींद लेने से एकाग्रता और सक्रियता दोनों में वृद्धि होती है।

2 - अपनी पसंद की इंस्ट्रूमेंट्स बजाना

हर व्यक्ति की अपनी हॉबी होती है ऐसे में उस हॉबी को करने से व्यक्ति को खुशी मिलती है। वहीं संगीत के वाद्य यंत्र से भी व्यक्ति अपने ध्यान शक्ति को बढ़ा सकता है। अगर आपको कोई वाद्ययंत्र बजाना पसंद है जैसे- गिटार, कैसियो या पियानो तो आप थोड़ा सा समय उस यंत्र को बजाने के लिए निकालें और उसका अभ्यास करें। ऐसा करने से न केवल आप अपने ध्यान को केंद्रित कर पाएंगे बल्कि मानसिक स्वास्थ्य पर भी साकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें- सदमा (शॉक) लगने का मतलब क्या है? जानें सदमे के बाद दिखने वाले 11 लक्षण, कारण और इमरजेंसी उपचार के तरीके

3 - नियमित रूप से एक्सरसाइज करना

दिनचर्या में एक्सरसाइज को जोड़ना मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बेहद उपयोगी है। बता दें कि एक्सरसाइज करने से व्यक्ति खुद को ऊर्जावान महसूस करता है साथ ही वह अपना ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलती है। इसके अलावा व्यक्ति अपने दिनचर्या में योग और व्यायाम को भी जोड़ सकता है। ऐसा करने से मानसिक स्वास्थ्य, सक्रियता और एकाग्रता शक्ति तीनों बेहतर होती हैं। 

4 - दिनचर्या में किताबों को जोड़ना

ज्ञान बढ़ाने से व्यक्ति अपने अंदर अनुशासन और एकाग्रता शक्ति को महसूस करता है। ऐसे में किताबें पढ़ें। जरूरी नहीं कि आप अपनी पढ़ाई से संबंधित किताबें पढ़ें। आप चाहे तो कुछ बौद्धिक पुस्तक या बड़े-बड़े महापुरुषों के विचार आदि को भी पढ़ सकते हैं। ऐसा करने से भी मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होगा और आपको जीवन की नई राह मिलेगी। अपनी एकाग्रता और सक्रियता को बढ़ाने के लिए किताबे पढ़ना एक अच्छा विकल्प है।

इसे भी पढ़ें-  आपकी स्ट्रेंथ क्या है? इन 5 तरीकों से जानें इंटरव्यू और वाइवा में पूछे जाने वाले इस सवाल का सही जवाब

5 - अपनी बातें याद रखना

बातों को याद रखना भी बेहद जरूरी है। पहले के समय में लोग नंबर, नाम, स्थान आदि को याद करते थे। पर आज के समय में लोग मोबाइल की मदद से उन्हें जल्दी-जल्दी सेव करते हैं। ऐसे में यदि मोबाइल खो जाए या खराब हो जाए तो वह नाम नंबर आदि को भी नहीं ढूंढ पाते। ऐसा करने से व्यक्ति मानसिक रूप से कमजोर हो जाता है। अगर आप अपने कार्य शक्ति को बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले अपनी याद करने की क्षमता को भी बढ़ाना होगा। हर चीज को सेव करने से बेहतर है कि आप उसे याद करने की कोशिश करें। ऐसा करने से एकाग्रता शक्ति बढ़ेगी या मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा होगा।

6 - मेडिटेशन करना

ऊपर हमने बताया की दिनचर्या में एक्सरसाइज होने से सेहत अच्छी होती है। वहीं अगर मेडिटेशन करते हैं तो उससे भी व्यक्ति का मन शांत रहता है और वह एकाग्रता शक्ति को बढ़ा सकता है। बता दें कि मेडिटेशन करने से व्यक्ति चिंता और तनाव को भी दूर कर सकता है। साथ ही उसे जीवन की नई राह मिल सकती है। ऐसे में सक्रियता और एकाग्रता को बढ़ाने के लिए मेडिटेशन करना एक अच्छा विकल्प है।

7 - दिमागी पहेली खेलना

दिमाग के कुछ गेम होते हैं जैसे पजल, शतरंज, मेमोरी बिल्डिंग, क्रॉसवर्ड, सुडोकू आदि जो मानसिक स्वास्थ्य को अच्छा बनाते हैं। साथ ही एकाग्र शक्ति को बढ़ाने में भी मदद करते हैं। यदि आप एकाग्रता शक्ति कमजोर होने से परेशान हैं या अटेंशन स्पैन को बढ़ाना चाहते हैं तो आप दिमागी पहेली को सुलझाने के माध्यम से अपने इस परेशानी को दूर कर सकते हैं।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि यदि व्यक्ति को अपनी एकाग्रता क्षमता बढ़ाना है या सक्रियता को बढ़ाना चाहता है तो वह अपनी दिनचर्या में बदलाव करके अपनी समस्या को दूर कर सकता है।

इस लेख में इस्तेमाल की जानें वाली फोटोज़ Freepik से ली गई हैं।

Read More Articles on mind-body in hindi 

Disclaimer