नकली मेकअप प्रोडक्ट्स में होते हैं हानिकारक केमिकल्स, जानें असली और नकली कॉस्मेटिक्स को पहचानने का सही तरीका

बाजार से ब्यूटी प्रोडक्ट्स खरीदते समय उनके नाम पर विशेष ध्यान दें। स्पेलिंग, नाम या डिजाइन में कोई भी अंतर होने पर इन्हें न खरीदें।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 20, 2020
नकली मेकअप प्रोडक्ट्स में होते हैं हानिकारक केमिकल्स, जानें असली और नकली कॉस्मेटिक्स को पहचानने का सही तरीका

महिला हो या पुरुष आज हर कोई खूबसूरत और परफेक्ट दिखना चाहता है। वहीं लोगों का खूबसूरती में चार-चांद लगाने के लिए बाजार में कई सारे कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स भी उपलब्ध हैं। आजकल बाजार में नामी कंपनियों जैसे लॅक्मे, ओले, गॉरनियर, शहनाज आदि के कई ब्यूटी प्रोडक्ट्स मौजूद हैं। ये कपंनियाँ लंबे रिसर्च व जांच-पड़ताल के बाद इन्हें बाजार में उतारती हैं। इसलिए उपभोक्ता इन पर विश्वास करके खरीदते हैं और इसका इस्तेमाल करते हैं। पर अब जैसे ही ये प्रोडक्ट्स मार्केट में आते हैं इनकी नकल भी आ जाती है। लोगों को इनकी पूरी जानकारी नहीं होती और वो इसे कम कीमत के लालच में खरीदते हैं और इत तरह नकली कॉस्मेटिक का ये कारोबार निकल पड़ता है। वहीं अब नकली कॉस्मेटिक उत्पादों से मूल की पहचान करने के लिए उपभोक्ताओं को खरीदारी से पहले और बाद में कुछ कदम उठाए जा सकते हैं। दरअसल ऑथेंटिकेशन सॉल्यूशन प्रोवाइडर्स एसोसिएशन (एएसपीए) की मानें, तो कुछ चीजें जिनकी मदद से लोग असली और नकली कॉस्मेटिक के बीच की सही पहचान कर सकते हैं।

insidefakecosmetics

कम कीमत में तैयार नकली कॉस्मेटिक्स में हानिकारक केमिकल्स मिले होते हैं। इससे चेहरे, आंखों, बालों सहित शरीर के अन्य अंगों पर भी दुष्प्रभाव पड़ सकता है। इस परेशानी से बचने के लिए असली व नकली प्रोडक्ट्स की पहचान होना जरूरी है। ब्यूटीशियन के अनुसार नकली आई लाइनर व काजल के लगातार उपयोग से महिलाओं को आंखों में जलन व पानी आने की परेशानी हो सकती है। तो वहीं  नकली क्रीम के इस्तेमाल से चेहरे पर अलग-अलग रंग के धब्बे या दाने हो सकते हैं। इसलिए कॉस्मेटिक्स प्रोडक्ट्स को खरीदने से पहले कुछ चीजों का हमेशा ख्याल रखें जैसे कि

इसे भी पढ़ें : मेकअप करते वक्त न करें ये 5 गलतियां, नहीं तो दिखेंगी उम्र से ज्यादा बूढ़ी

अपने ब्रांड को जानें और एक सतर्क उपभोक्ता बनें

अधिकृत विक्रेताओं, खुदरा या ऑनलाइन से खरीदना सुनिश्चित करता है कि आप एक उचित रसीद के साथ एक प्रामाणिक मेकअप उत्पाद खरीदें। बिना रसीद के कोई भी मेकअप उत्पाद न खरीदें। अगर दुकानदार आपके कहे कि रसीद लेने पर आपको ज्यादा पैसा लगेंगे, तब भी उसकी बात न मानें और और रसीद के साथ हा एक सही और प्रामाणिक मेकअप उत्पाद खरीदें।

insidemakeupproducts

अपने ब्रांड की लेबलिंग को जानें

जब भी आप सौंदर्य प्रसाधन खरीदें, पैकेजिंग पर पूरा ध्यान दें। नकली मेकअप ब्रांड अक्सर रंगों, कलाकृति और फ़ॉन्ट प्रकारों का उपयोग करते हैं जो मूल के समान होते हैं। हालांकि, आमतौर पर पैकेजिंग के आकार, लोगो और रंग योजना में अंतर दिखाई पड़ ही जाता है, जिससे आप समझ सकते हैं कि प्रोडक्ट असली है या नकली। इसके अलावा टेक्सट के फ़ॉन्ट में परिवर्तन भी आपको इसकी सही पहचान बता सकता है। ध्यान से देखें और अगर यह भड़कीले रंगो वाली दिखाई दे या ब्रांड या लोगो की कमी है, इसमें ग्राफिक्स या एक नाम है जो समान है, लेकिन बिल्कुल समान नहीं है, तो ये सभी संकेत नकली प्रोडक्ट्स के होते हैं। अगर आप एक नियमित उपयोगकर्ता हैं और गहरी नजर रखते हैं तो आप इसे तुरंत देख सकते हैं। 

अपने ब्रांड की पैकेजिंग को जानें

सबसे अच्छे ब्रांड उच्च गुणवत्ता वाली मजबूत पैकेजिंग में निवेश करते हैं, जिसका उद्देश्य विनिर्माण से लेकर खुदरा तक की अपनी यात्रा के दौरान बरकरार रहना है। वास्तविक उत्पादों की पहचान करने के लिए टैम्पर प्रूफ सुविधाओं और अन्य जानकारी के लिए देखें। कुछ ब्रांड आपको अपनी वेबसाइट / ऐप पर सीरियल नंबर देखकर या बारकोड को स्कैन करके प्रामाणिकता की जांच करने की अनुमति देते हैं। उदाहरण के लिए, लक्मे काजल के सामने पैकेजिंग पर एक सुरक्षा होलोग्राम है। मेबेलिन बैकसाइड पैकेजिंग पर हॉट-मुहर वाले स्टिकर का उपयोग करता है।

इसे भी पढ़ें : Lipstick Ideas: ऑफिस से लेकर पार्टी के लिए रहेंगे हमेशा तैयार, अगर मेकअप वैनिटी में होंगे ये 5 लिप शेड्स

इन चीजों से भी हो सकती है नकली कॉस्मेटिक्स की पहचान

  • -उत्पाद के रंगों और शेड्स की जांच करें।
  • - उत्पाद के गंध यानी स्मेल पर ध्यान दें।
  • -ब्रश और स्पंज की जांच करें।
  • -खरीदने से पहले मेकअप उत्पादों का परीक्षण हाथों पर लगाकर करें।

Read more articles on Fashion-Beauty in Hindi

Disclaimer