हार्ट के लिए क्यों फायदेमंद मानी जाती है डार्क चॉकलेट? जानें 5 कारण

अगर आप अपने दिल को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो डार्क चॉकलेट्स खाना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। जानें इसके कारण।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Sep 28, 2022 08:00 IST
हार्ट के लिए क्यों फायदेमंद मानी जाती है डार्क चॉकलेट? जानें 5 कारण

चॉकलेट खाने में स्वादिष्ट होती है। इसको खाने के बाद काफी रिलैक्स महसूस होता है क्योंकि ये शुगर क्रेविंग को कम करती है और इसमें मौजूद कैफीन के कारण ये तनाव कम करती है। हालांकि ज्यादातर लोग चॉकलेट्स को सेहत के लिए नुकसानदायक ही मानते हैं। दरअसल बाजार में मिलने वाली मिल्क चॉकलेट्स (नॉर्मल चॉकलेट्स) तो सेहत के लिए नुकसानदायक ही होती हैं मगर यदि आप डार्क चॉकलेट खाते हैं, तो इसके कई सारे स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं। डार्क चॉकलेट कई तरह से फायदेमंद होती है। यह हमारे मूड को अच्छा करने में मदद करती है। ये हार्ट के लिए भी अच्छी मानी जाती है। यह तनाव को दूर करने का काम भी करती है। असल में डार्क चॉकलेट में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। डार्क चॉकलेट में 70% कोकोआ होता है, जो एंटीऑक्सिडेंट्स का बहुत अच्छा स्त्रोत होता है।

एक्सपर्ट क्या कहते हैं

आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में सीनियर डायटिशियन डॉक्टर अनुजा गौर के मुताबिक डार्क चॉकलेट पोषक तत्वों से भरपूर होती है, जो हमारे  सेहत में सुधार करने का काम करती है। डार्क चॉकलेट हमारे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने का काम भी करती है। डार्क चॉकलेट हमारे दिमाग को तेज बनाती है। यह हमारे शरीर से फैट को कम करती है। डार्क चॉकलेट शुगर के स्तर को कम करके हार्ट की बीमारियों से भी बचाव करती है।

इसे भी पढ़ें- डॉर्क चॉकलेट खाकर घटाएं वजन और पाएं बेहतर बॉडी शेप, जानें खाने के तरीके

1. धमनियां रहती हैं स्वस्थ

डार्क चॉकलेट का सेवन हार्ट के रोगी को जरूर करना चाहिए। डार्क चॉकलेट हमारी व्हाइट ब्लड सेल्स को ब्लड वेसल्स की दीवारों से चिपकने से रोकती है। यह हमारी हार्ट की धमनियों से लचीलेपन को दूर करके मज़बूत बनाने का काम करती है। इस तरह हमारी धमनियां बंद होने का खतरा नहीं रहता और हार्ट भी स्वस्थ रहता है। डार्क चॉकलेट में पाए जाने वाले घटक हमारी धमनियों में कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकने का काम करते हैं। इससे हार्ट के रोगों की संभावना भी कम हो जाती है। डार्क चॉकलेट हमारे हार्ट और धमनियों में कैल्सीफाइड प्लाक के खतरे को कम करने में मदद करती है। डार्क चॉकलेट का सेवन दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है ।

2. स्ट्रोक की संभावना को कम करती है 

एक शोध में सामने आया है कि जो लोग हर रोज डार्क चॉकलेट का सेवन करते हैं उनमें स्ट्रोक होने की संभावना कम होती है।

dark chocolates for heart

3. कोलेस्ट्रॉल कम करती है

डार्क चॉकलेट में पाए जाने वाले एंटीऑक्सिडेंट गुण हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। डार्क चॉकलेट का मुख्य घटक कोकोआ अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है। कोकोआ में पर्याप्त मात्रा में शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट होते हैं, जो ब्लड फ्लो को बढ़ाने का करते हैं। डार्क चॉकलेट इंसुलिन के स्तर को कम करने का काम करती है। जो हार्ट रोग का एक महत्वपूर्ण कारण है। इसके अलावा ये ब्लड के प्रवाह में सुधार और ब्लड प्रेशर को कम करती है।

4. ब्लड प्रेशर को कम करती है

डार्क चॉकलेट में फ्लेवोनॉइड्स पाए जाते है, जो हमारी धमनियों की लाइनिंग को उत्तेजित करते हैं और उन्हें नाइट्रिक ऑक्साइड नाम की गैस बनाने का काम करते हैं। नाइट्रिक ऑक्साइड का काम सिग्नल भेजकर धमनियों को ढीला करने का होता है, जिससे ब्लड का प्रवाह अच्छे तरीके से हो सके। इसलिए यह ब्लड प्रेशर के स्तर को नियंत्रित करने में सहायक है।

इसे भी पढ़ें- चॉकलेट पसंद है लेकिन वजन बढ़ने का है डर तो इन 6 तरीकों दूर करें क्रेविंग, नहीं होगा वेट गेन

5. अत्यधिक पौष्टिक

डार्क चॉकलेट दिल के मरीजों के लिए फायदेमंद होती है। डार्क चॉकलेट में आयरन, पोटेशियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम, जिंक, कॉपर और पोटेशियम फॉस्फोरस जैसे पर्याप्त पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। सभी पोषक तत्व दिल को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

डार्क चॉकलेट शरीर के लिए जितनी लाभदायक है उतनी ही हानिकारक भी हो सकती है। इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। एक दिन में 30-40 ग्राम से ज्यादा डार्क चॉकलेट का सेवन न करें।

Disclaimer