तेजी से वजन घटाना चाहते हैं तो बढ़ाएं अपना मेटाबॉलिज्म, जानें आसान तरीके

वजन घटाने में आपके मेटाबॉलिज्म की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जानें वेट लॉस के लिए मेटाबॉलिज्म बूस्ट करने के बेहद आसान तरीके।

Monika Agarwal
वज़न प्रबंधनWritten by: Monika AgarwalPublished at: May 21, 2022Updated at: May 21, 2022
तेजी से वजन घटाना चाहते हैं तो बढ़ाएं अपना मेटाबॉलिज्म, जानें आसान तरीके

आपने आज तक काफी सुना होगा कि अगर आपका वजन धीरे से कम हो रहा है या बढ़े ही जा रहा है तो इसका मतलब है कि आपका मेटाबॉलिज्म काफी कम है। जब आपका मेटाबॉलिज्म स्लो होता है तो आपकी कैलोरीज़ काफी धीरे और कम मात्रा में बर्न हो पाती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि मेटाबॉलिज्म असल में होता क्या है? आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल की सीनियर डाइटिशियन अनुजा गौर के मुताबिक मेटाबॉलिज्म एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें आपका शरीर जो भी चीजें आप खाते या पीते हैं उनको एनर्जी में तब्दील करता है। इस प्रोसेस के दौरान, खाने और पीने की कैलोरी ऑक्सीजन के साथ जुड़ जाती हैं और एनर्जी बनती है जो आपके शरीर को हर काम करने के लिए जरूरी होती है।

जब आप रेस्ट भी कर रहे होते हैं तब भी आपके शरीर को सांस लेना, ब्लड सर्कुलेशन आदि जैसे फंक्शन के लिए एनर्जी की जरूरत होती है। आपके शरीर को इन बेसिक फंक्शन के लिए जितनी एनर्जी चाहिए होती है उसे बेसल मेटाबॉलिक रेट या फिर मेटाबॉलिज्म कहा जाता है। 

इसे भी पढ़ें- मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 9 घरेलू उपाय

मेटाबॉलिक रेट को प्रभावित करने वाले फैक्टर्स

इस रेट को निम्न फैक्टर प्रभावित करते हैं

शरीर: जो लोग थोड़े बड़े आकार के होते हैं या जिनकी मसल्स ज्यादा होती हैं वह रेस्ट के दौरान ज्यादा कैलोरीज़ बर्न करते हैं।

जेंडर: पुरुषों में महिलाओं के मुकाबले बॉडी फैट कम और मसल मास ज्यादा होता है, जिस कारण वह ज्यादा कैलोरीज़ बर्न कर पाते हैं।

उम्र: उम्र बढ़ने के साथ-साथ आपकी मसल्स कम होने लगती हैं जिस कारण आप कम कैलोरीज़ बर्न कर पाते हैं।

metabolism & Weight Loss

मेटाबॉलिज्म और वजन

मेटाबॉलिज्म एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। यह आपके वजन कम होने की प्रक्रिया या आपके वजन पर ज्यादा प्रभाव नहीं डालती। केवल बहुत कम ही मामलों में किसी शारीरिक स्थिति के कारण मेटाबॉलिज्म कम होने पर वजन कम होने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है।  वजन बढ़ने के अन्य भी बहुत कारण हो सकते हैं जैसे हार्मोनल कंट्रोल, जेनेटिक, स्ट्रेस, डाइट और आपका लाइफस्टाइल। इन सभी कारणों की वजह से एनर्जी इक्वेशन में असंतुलन आ जाता है, जिससे आप कम कैलोरीज़ बर्न कर पाते हैं। वजन कम करने के लिए आपको खाने की कैलोरीज़ कम करके ज्यादा कैलोरीज़ बर्न करनी होंगी।

इसे भी पढ़ें- आपको बीमार बना सकता है कमजोर मेटाबॉलिज्म, जानें इसे तेज करने के 3 टिप्स और इसका फंक्शन

फिजिकल एक्टिविटी से कैसे बढ़ाएं मेटाबॉलिज्म?

  • अगर आपका मेटाबॉलिज्म की स्पीड पर कोई नियंत्रण नहीं है तो आप शारीरिक गतिविधियों को बढ़ा कर भी अपनी कैलोरीज़ बर्न कर सकते हैं। 
  • आप जितने ज्यादा एक्टिव होंगे उतनी ज्यादा कैलोरीज़ बर्न होंगी। इससे आपका मेटाबॉलिज्म भी तेज हो सकता है।
  • कैलोरीज़ बर्न करने का सबसे प्रभावी तरीका एरोबिक एक्सरसाइज होता है। इसमें आप वॉकिंग, साइक्लिंग, स्विमिंग कर सकते हैं। 
  • आप इसकी शुरुआत रोजाना आधा घंटा एक्सरसाइज करने से कर सकते हैं। अगर आप अपने वजन कम करने की स्पीड को और भी ज्यादा बढ़ाना चाहते हैं तो आपको अपनी एक्सरसाइज और फिजिकल एक्टिविटी का समय और अधिक बढ़ाना चाहिए। 
  • आप हफ्ते में दो बार स्ट्रेंथ ट्रेनिंग भी ट्राई कर सकते हैं।
  • अगर आप वजन कम करने के लिए सप्लीमेंट्स आदि प्रयोग करने की सोच रहे है तो यह सब इतनी असरदार नहीं। 
  • अगर आप प्राकृतिक तरीकों से वजन कम करना चाहते हैं तो एक्सरसाइज और डाइटिंग पर ध्यान दें और आप कुछ समय में अपने आप वजन कम होता देख सकेंगे।

अब आप वजन न कम हो पाने का बहाना मेटाबॉलिज्म पर भी नहीं डाल सकते। आपको केवल थोड़ी मेहनत करने की जरूरत है और आप अपने आप में ही हेल्दी और कारगर बदलाव महसूस कर पाएंगे। हो सकता है इसमें कुछ महीनों का समय लग जाए।

Disclaimer