क्या आपका बच्चा भी हकलाता है? इन 5 घरेलू उपायाें से करें हकलाने की समस्या दूर

Stuttering in Children :  बच्चाें में हकलाना एक सामान्य समस्या है। आप इस समस्या काे कुछ घरेलू उपायाें की मदद से दूर कर सकते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jul 12, 2021Updated at: Jul 12, 2021
क्या आपका बच्चा भी हकलाता है? इन 5 घरेलू उपायाें से करें हकलाने की समस्या दूर

क्या आपका बच्चा भी हकलाता है? स्टैमरिंग यानी हकलाना एक बेहद सामान्य समस्या है। बचपन में बच्चाें का हकलाकर या तुतलाकर बाेलना सभी काे अच्छा लगता है, लेकिन जब बड़े हाेकर भी बच्चाें की यह समस्या दूर नहीं हाेती है, ताे वह हंसी के पात्र भी बनते हैं। ऐसे में अगर आपका बच्चा भी हकलाता है, ताे उसकी इस समस्या काे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। समय रहते उसकी इस समस्या पर गौर करें और इसे दूर करने का प्रयास करें। आप चाहें ताे कुछ घरेलू उपायाें की मदद से भी इस समस्या काे दूर कर सकते हैं। 

स्टैमरिंग या हकलाना वह स्थिति है, जब बच्चों को सुचारू रूप से बोलने में अत्यधिक कठिनाइयाें का सामना करना पड़ता है। आमतौर पर बच्चों में हकलाना किसी भी वाक्य के शुरुआत में हाेता है। ऐसी स्थिति में उन्हें काफी परेशानी हाेती है।

Amla can Cure Stammering Problem

1.आंवले से दूर करे हकलाने की समस्या (Amla can Cure Stammering Problem)

हकलाने की समस्या काे दूर करने के लिए आंवला एक बेहतरीन घरेलू उपायाें में से एक है। आंवला चबाकर खाने से बच्चों का हकलाना कम हो सकता है। नियमित रूप से आंवले के सेवन से बच्चाें की बाेली समय के साथ स्पष्ट हो जाती है। अगर आपका बच्चा भी हकलाता है, ताे आप उसे आंवले का सेवन करवा सकते हैं। आंवले काे चबाकर खाया जा सकता है। आंवले से स्वास्थ्य काे कई लाभ मिलते हैं आप चाहें ताे बच्चे काे राेज सुबह-शाम आंवले का पाउडर भी बच्चे काे खिला सकते हैं। आंवले के पाउडर में देसी घी मिलाने से यह ज्यादा फायदेमंद हाे जाता है। आंवले काे हकलाने की समस्या काे दूर करने में बेहद गुणकारी माना जाता है।

इसे भी पढ़ें - 44 साल तक हकलाने वाले इस शख्स ने इन 4 तकनीकों की मदद से दूर कर ली हकलाने की समस्या, जानें इनकी पूरी कहानी

2.गुनगुने पानी से नहलाएं (Warm Water Can Cure Stammering in Children)

बच्चे काे गुनगुने पानी से नहलाने पर भी हकलाने की समस्या काे काफी हद तक दूर किया जा सकता है। इसके लिए पहले आप बच्चे के सिर की ब्राह्मी तेल से आधे घंटे तक मालिश करें। इसके बाद बच्चे काे गुनगुने पानी से नहला दें। कुछ दिनाें तक लगातार ऐसा करने से आपके बच्चे की इस समस्या काे ठीक किया जा सकता है। ऐसा करने से बच्चे के हकलाने या रुक-रुककर बाेलने की समस्या ठीक हाे सकती है।

Speech Therapy Cure Child’s Stammering

3.स्पीच थैरेपी (Speech Therapy Cure Child’s Stammering)

हकलाने की समस्या काे दूर करने के लिए स्पीच थैरेपी (Speech Therapy) भी एक अच्छा घरेलू उपाय है। आप चाहें ताे इस थैरेपी की मदद से अपने बच्चे की इस समस्या काे दूर कर सकते हैं। आप काेई भी घरेलू उपाय अपनाएं, लेकिन स्पीच थैरेपी बच्चे से जरूर करवाएं। इससे उसे काफी फायदा मिल सकता है। इसमें बच्चा जिस शब्द पर अटकटा है, उस शब्द काे बार-बार दाेहराया जाता है। इसके नियमित अभ्यास से उसे सही उच्चारण में मदद मिलती है। इसके साथ ही आप बच्चे में अखबार पढ़ने की भी आदत डालें। 

4.बादाम का प्रयाेग (Almonds Can Cure Child’s Stammering)

बच्चाें के हकलाने या तुतलाकर बाेलने की समस्या काे ठीक करने के लिए बादाम का भी उपयाेग किया जा सकता है। बादाम की कैंडी बच्चाें की इस समस्या से छुटकारा दिला सकता है। इसके लिए आप बादाम काे कद्दूकस करके पेस्ट तैयार कर लें। इसके बाद इसमें चीनी के क्रिस्टल मिलाकर कैंडी तैयार कर लें। राेजाना सुबह-सुबह इसके सेवन से बच्चाें में हकलाने की समस्या बंद हाे सकती है।

इसे भी पढ़ें - जानिए क्यों हकलाते हैं लोग? इससे छुटकारा पाएं इन 5 उपायों से!

5.धनिया की पत्तियां (Coriander Leaves can Cure Stammering in Children)

घरेलू उपायाें में बच्चाें के हकलाने की समस्या काे दूर करने के लिए आप धनिया की पत्तियाें का इस्तेमाल कर सकते हैं। कुछ दिनाें तक लगातार इसके पत्तियाें के उपयाेग से आपकी यह समस्या दूर हाे सकती है। इसके लिए आप धनिया पत्तियाें (Coriander Leaves) और सूरजमुखी के फलाें के गूदे का एक मिश्रण तैयार कर लें। इसे लगभग तीन हफ्ताें तक लगातार खाने से बच्चे की समस्या में आराम मिल सकता है। आप चाहें ताे हरा धनिया और अमलतास के गूदे काे पानी में पीसकर इस पानी से कुल्ला करवा सकते हैं। इससे भी बच्चे की हकलाने की समस्या दूर हाेगी।

आप भी अपने बच्चे के हकलाने की समस्या काे दूर करने के लिए इन घरेलू उपायाें काे अपना सकते हैं। लेकिन अगर इनके प्रयाेग से आपकाे काेई फर्क नजर न आए, ताे डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi 

Disclaimer