माथे पर बिंदी के निशान (bindi dermatitis) हटाने के 5 घरेलू उपाय

बिंदी से होने वाली इस एलर्जी को बिंदी डर्मेटाइटिस (bindi dermatitis) कहा जाता है। घरेलू उपायों को अपनाकर इस डर्मेटाइटिस को ठीक किया जा सकता है।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Jul 09, 2021Updated at: Jul 09, 2021
माथे पर बिंदी के निशान (bindi dermatitis) हटाने के 5 घरेलू उपाय

भारतीय संस्कृति में महिलाओं का बिंदी लगाना अनिवार्य माना जाता है। शादी से पहले बिंदी लगाने या न लगाने का फैसला लड़की पर होता है, लेकिन शादी के बाद श्रृंगार के रूप में उसे माथे पर बिंदी लगानी ही पड़ती है। यह बिंदी चेहरे पर दिखने में सुंदर तो लगती है, लेकिन बिंदी लगाने से माथे पर एलर्जी हो जाती है। जिस वजह से जिस जगह बिंदी लागई जाती है, वहां निशान पड़ जाता है। माथे पर पड़ा बिंदी का यह निशान दिखने में काला होता है, जिस वजह से चेहरे की खुबसूरती खराब करता है। बिंदी से होने वाली इस एलर्जी को बिंदी डर्मेटाइटिस (bindi dermatitis) कहा जाता है। यह डर्मेटाइटिस बिंदी में केमिकल के प्रयोग, लंबे समय से बिंदी लगाने या त्वचा सेंसटिव होने की वजह से होता है। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि बिंदी लगाने से पड़े इस निशान को आप किन घरेलू उपायों को अपनाकर बच सकती हैं।

Inside2_Bindidermetitishomeremedy

1. नीम और हल्दी 

नीम और हल्दी एंटी-बैक्टीरिलयल और एंटी-फंगल गुणों से भरपूर हैं। साथ ही इनमें एंटीएलर्जन्स गुण पाए जाते हैं। इन दोनों को माथे पर पड़े निशान पर लगाने से निशान धीरे-धीरे खत्म होने लगता है। माथे पर बिंदी के निशान को हटान के लिए नीम और हल्दी को गर्म पानी में उबाल लें। इसके बाद गुनगुना होने पर इस मिश्रण को बिंदी के निशान पर लगाएं। इससे आपको जल्द आराम मिलने लगेगा। हल्दी में इतने गुण होते हैं वह शरीरे के ऊपर और बाहर दोनों तरफ फायदा करती है।

2. एलोवेरा जेल

आयुरर्वेद माना गया है कि एलोवेरा जेल को लगाने से बिंदी के निशान हट जाते हैं। एलोवेरा जेल एक नैचुरल होम रेमेडी है। इसमें अलग से कुछ मिलाने की जरूरत नहीं है। आप सीधे एलोवेरा जेल का प्रोयग बाजार से खरीदकर कर सकती हैं, एलोवेरा के पौधे से सीधे जैल निकला सकती हैं। माथे पर जिस जगह निशान पड़ गया है उस जगह पर एलोवेरा जेल को रब करें। एलोवेरा के अलावा शहद-नींबू का भी प्रयोग किया जा सकता है। नींबू और शहद एंटी-एलर्जन्स होते हैं जिनसे एलर्जी दूर होती है। शहद और नींबू का पेस्ट बनाकर निशान पर लगाएं और 15 मिनट बाद धो दें। चेहरे पर ग्लो लाने में एलोवेरा जेल रामबाण है।

Inside3_Bindidermetitishomeremedy

3. अच्छी गुणवत्ता की बिंदी लें

अच्छी क्वालिटी की बिंदी लगाने से माथे पर निशान नहीं पड़ते। हालांक हमें यह भी ध्यान देने की जरूरी है कि जब एक ही जगह पर बार-बार कोई चीज लगाई जाएगी तो निशान पड़ ही जाएगा। इसलिए बिंदी को रोज न लगाएं। अगर रोज लगा भी रही हैं तो एक जगह पर न लगाएं। बिंदी को ऊपर नीचे करके लगाएं। बिंदी कम चिपचिपी खरीदें। जिससे माथे पर कैमिकल की वजह से नुकसान न हो।

इसे भी पढ़ें : सुंदर ही नहीं सेहतमंद भी बनाती है बिंदी

4. बिंदी को धूल-मिट्टी से दूर रखें

अमूमन औरतों की आदत होती है कि वे बिंदी को साफ करके नहीं रखतीं। बिंदी को कभी शीशे पर तो कभी दीवार पर चिपका देती हैं। कभी-कभी वही बिंदी दोबारा प्रयोग में लाती हैं। ऐसे में बिंदी पर धूल-मिट्टी चिपक जाती है, जिस वजह से माथे पर बिंदी से एलर्जी होती है और माथे पर बिंदी के निशान पड़ते हैं। बिंदी के पत्ते पर धूम-मिट्टी न जमने न दें। ताकि धूल से आपके माथे पर एलर्जी न हो और माथे पर निशन न पड़े। धूल से होने वाली एलर्जी के लक्षणों को पहचानकर आप जल्दी ही उपाय अपना सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : त्वचा पर कटे हुए निशान से आप भी हैं परेशान? तो इन 5 घरेलू उपाय की मदद से पाएं छुटकारा

Inside4_Bindidermetitishomeremedy

5.  कुमकुम की बिंदी या चंदन का टीका लगाएं

बढ़ते बाजार ने कुमकुम की जगह पर स्टीकर वाली बिंदी को स्थान दिला दिया है। कुमकुम में ऐसे केमिकल नहीं होते हैं जिस वजह से माथे पर निशान पड़े। कुमकुम लागने से बिंदी से होने वाले एलर्जी से भी बचा जा सकता है। कुमकुम से आप जैसा चाहें वैसा डिजाइन बनाकर लगा सकती हैं। दूसरा कुमकुम की बिंदी को साफ करना भी आसान होता है। रोज धुलने की वजह से भी माथे पर निशान नहीं पड़ता। अगर आपको बिंदी की वजह से एलर्जी हो गई है और माथे पर खुलजी मच रही है तो स्टीकर वाली बिंदी की जगह पर कुमकुम की बिंदी लगाएँ। कुमकुम के अलावा चंदन का टीका भी लगा सकती हैं।

माथे पर पड़े बिंदी के निशान हटाने के यह घरेलू उपाय हैं। अगर आप लंबे समय से बिंदी लगा रहे हैं और त्वचा में खुजली, घाव, कालापन जैसे निशान पड़ गए हैं और घरेलू उपायों से लाभ नहीं मिल रहा है तो त्वचा रोग विशेषज्ञ से बात करें। 

(यहां बताए गए उपाय सामान्य जानकारी हैं, परेशानी का इलाज नहीं हैं।)


Read more on Home Remedies in Hindi 

Disclaimer