नाभि में जलन और दर्द होने पर अपनाएं ये 5 आसान घरेलू नुस्खे

नाभ‍ि में दर्द का कारण इंफेक्‍शन या पेट से जुड़ी समस्‍या हो सकती है, ऐसा होने पर आप कुछ आसान घरेलू उपाय अपना सकते हैं, आइए जानते हैं इनके बारे में 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Jul 23, 2021 10:01 IST
नाभि में जलन और दर्द होने पर अपनाएं ये 5 आसान घरेलू नुस्खे

नाभ‍ि में दर्द क्‍यों होता है? नाभि में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे अपच, पेट में गैस, कब्‍ज की समस्‍या, इंफेक्‍शन, घाव, गंदगी आद‍ि। आपको भी नाभ‍ि में दर्द या जलन की श‍िकायत है तो ध्‍यान दें क‍ि कहीं इंफेक्‍शन तो नहीं पेट में परेशानी के कारण नाभ‍ि में दर्द तो नहीं क्‍योंक‍ि ज्‍यादातर केस में नाभ‍ि में दर्द के यही दो कारण होते हैं। आप इस समस्‍या को दूर करने के ल‍िए कुछ आसान घरेलू नुस्‍खों को अपना सकते हैं ज‍िनके बारे में हम इस लेख में बात करेंगे। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की।  

tea tree

1. नाभ‍ि में दर्द या जलन हो तो इस्‍तेमाल करें टी ट्री ऑयल (Use tea tree oil to cure belly buttton pain)

टी ट्री की पत्‍त‍ियों में एंटीसेप्‍ट‍िक गुण होते हैं, ये टी ट्री की पत्‍त‍ियां या उसका तेल कई मायनों में स्‍क‍िन के ल‍िए फायदेमंद माने जाते हैं। अगर आपकी नाभ‍ि में दर्द है तो टी ट्री ऑयल की पत्‍त‍ियों को उबाल लें और उसमें नार‍ियल का तेल डालकर चलाएं अब इस तेल को नाभ‍ि पर लगा लें। अगर आपके पास टी ट्री ऑयल है तो आप उसे सीधा नार‍ियल के तेल के साथ म‍िलाकर नाभ‍ि पर लगा सकते हैं, सुबह तक दर्द दूर हो जाएगा।

इसे भी पढ़ें- नाभि पर ये अलग तरह के तेल लगाने से होते हैं कई फायदे

2. नाभ‍ि में दर्द होने पर इस्‍तेमाल करें गेंदे का फूल (Use marigold to cure belly buttton pain)

marigold

गेंदे के फूल में औषधीय गुण होते हैं, गेंदे के फूल के इस्‍तेमाल से नाभ‍ि में मौजूद बैक्‍टीर‍िया खत्‍म होते हैं और दर्द से आराम म‍िलता है। गेंदे के फूल से बैक्‍टीर‍िया और फंगी से होने वाला इंफेक्‍शन भी दूर होता है। आपको गेंदे के फूल को गरम पानी में डालना है जब पानी आधा हो जाए तो उसमें नार‍ियल या बादाम का तेल म‍िला दें, आप गेंदे के फूल की पत्‍त‍ियों को भी डाल सकते हैं। अगर आपके पास गेंदे के फूल का तेल है तो उसे लोशन या क्रीम में म‍िलाकर नाभ‍ि पर लगाएं। 

3. नाभ‍ि में दर्द और जलन दूर करे नार‍ियल का तेल (Use coconut oil to cure belly buttton pain)

coconut for belly

नार‍ियल के तेल में एंटी-इंफ्लामेट्री और एंटी-माइक्रोब‍ियल गुण होते हैं। नार‍ियल तेल नाभ‍ि के ल‍िए फायदेमंद होता है। नार‍ियल तेल में मौजूद इन गुणों से न स‍िर्फ इंफेक्‍शन दूर होता है बल्‍क‍ि नाभ‍ि की जलन, सूजन भी कम होती है। आप नार‍ियल के तेल को उंगली की मदद से नाभ‍ि पर लगा लें और उसे लगाकर छोड़ दें ताक‍ि स्‍क‍िन एब्‍सॉर्ब कर लें। आप इस नुस्‍खे को द‍िन में कई बार इस्‍तेमाल क‍र सकते हैं।

4. पेट या नाभ‍ि में दर्द हो तो इस्‍तेमाल करें हींग (Use hing to cure belly button pain)

पेट में गैस बनने के कारण भी नाभ‍ि में दर्द हो सकता है। पेट में गैस की समस्‍या दूर करने के ल‍िए हींग का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। आपको हींग को नाभ‍ि पर लगाना है। अगर आपके घर में कोई बच्‍चा है तो आप ये नुस्‍खा उस पर आजमा सकते हैं। हींग को गुनगुने पानी में घोल लें और नाभ‍ि में लगा दें, इससे नाभ‍ि में दर्द की समस्‍या दूर हो जाएगी।

इसे भी पढ़ें- नाभि से बदबू आने के 5 कारण और इससे छुटकारा पाने के आसान उपचार

5. नाभ‍ि में दर्द या जलन होने पर खाएं अजवाइन (Use ajwain to cure belly button pain)

अजवाइन पेट के ल‍िए फायदेमंद होती है। कई बार गैस, अपच या कब्‍ज की समस्‍या होने पर नाभ‍ि में दर्द उठता है औश्र उसे दूर करने के ल‍िए आप अजवाइन का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अजवाइन में काला नमक मिलाएं और पानी के साथ म‍िश्रण को ब‍िना चबाए खा लें। इससे पेट शांत होगा और नाभ‍ि का दर्द भी ठीक हो जाएगा।

अगर इन उपायों से नाभ‍ि का दर्द दूर न हो तो आप डॉक्‍टर के पाए जाकर नाभ‍ि में दर्द होने का सही कारण जानें और इलाज करवाएं। 

Read more on Home Remedies in Hindi 

Disclaimer