पैरों के बीच तकिया लगाकर सोने से स्वास्थ्य को मिलते हैं ये फायदे, जानें कैसे

शरीर में हो रहे कमर और अन्य दर्द से राहत पाने के लिए तकिया लगाकर सोना फायदेमंद होता है। यहां जानें पैरों के बीच तकिया लगाने के फायदे।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Apr 20, 2021Updated at: Apr 20, 2021
पैरों के बीच तकिया लगाकर सोने से स्वास्थ्य को मिलते हैं ये फायदे, जानें कैसे

अच्छी सेहत पाने के लिए अच्छी पोजिशन में सोना भी बेहद जरूरी होता है। सही पोजिशन में नहीं सोने से आपको कई नुकसान भी हो सकते हैं। सही पोजिशन में नहीं सोना आपको समय से पहले बूढ़ा बनाने के साथ ही कमर दर्द और स्पॉंडिलाइटिस (Spondylitis) की समस्या का शिकार भी बना सकती है। वहीं अच्छी नींद लाने के लिए लोग तरह तरह के नुस्खे अपनाते हैं। क्या आप जानते हैं कि पैरों के बीच में तकिया लगाकर सोने से आपको एक नहीं बल्कि कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। सुनने में भले ही यह थोड़ा अजीब लगे कि पैरों के बीच तकिया फंसाकर सोने से लाभ कैसे हो सकता है। लेकिन ऐसा करना आपको कमर दर्द, साइटिका के दर्द, पीठ दर्द के साथ ही शरीर में होने वाले अन्य कई दर्दों से भी छुटकारा दिला सकता है। ऐसा करने से आपके पैरों की नसों में रक्त का संचार सुचारू रूप से होता है। इसके लिए आपको एक करवट के बल लेटक अपने पैरों के बीच तकिया रखनी है। इसी तरह से कुछ दिनों तक अभ्यास करने से आपकी कई शारीरिक समस्याएं (Physical Problems) दूर हो सकेंगी। इस अवस्था में लेटने से आपके घुटने आपस में नहीं टकराते, जिससे मांसपेशियों में खिंचाव आदि नहीं आता है। इस तरह से सोने से आपके शरीर में रक्त संचार ठीक तरह से होने से लेकर मांसपेशियों में हो रहे खिंचाव या दर्द से भी राहत मिलती है। 

backpain

1. लोअर बैक पेन से दिलाए राहत (Relief From Lower Back Pain)

आजकल अमूमन लोग लोअर बैक पेन (Lower Back Pain) से परेशान हैं। कई लोगों को पीठ के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत रहती है। खास कर कोरोना काल के समय में कई यंगस्टर्स को इस परेशानी ने अपनी चपेट में लिया है। हालांकि यह समस्या कुछ गलत आदतों के कारण भी हो सकती है, जैसे गलत पोश्चर में सोना, काफी देर तक एक ही जगह पर बैठे रहना या सिगरेट पीना आदि। ऐसे में यदि आप अपने सोने के पोश्चर में सुधार करते हैं तो निश्चित तौर पर आपको इससे राहत मिलेगी। साथ ही इसके दर्द से राहत पाने के लिए आप रात को सोते समय अपने पैरों के बीच में तकिया लगाकर सो सकते हैं। इससे आपकी कमर का दर्द कम होगा और आपको काफी राहत मिलेगी। 

इसे भी पढ़ें - एंग्जायटी और ओवर थिंकिंग से हैं परेशान? सोने से पहले जरूर करें मेडिटेशन

2. रक्त का संचार अच्छा होता है (Improves Blood Circulation)

पैरों के बीच तकिया रखकर सोने से रक्त प्रभाव बढ़ता है। जब आप तकिया को दोनों पैरो के बीच में रखकर सोते है तो इससे आपकी नसों पर दबाव नहीं पड़ता है। आपने ध्यान दिया होगा कई बार जब सोकर सुबह उठते हैं तो हाथों पैरों में अकड़न आ जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि रक्त का संचार अच्छे से नहीं हो पाता। इसलिए तकिया को दोनों पैरो के बीच में रखकर सोने से आपके शरीर में रक्त का संचार सुचारू रूप से होता है। कई बार हमारे गलत सोने के तरीके से हृदय की नलिकाएं भी प्रभावित हो सकती हैं या फिर शरीर में  किसी भी हिस्से में खून के संचार में बाधा उत्पन्न हो सकती है। इसलिए रक्त प्रवाह को सुचारू बनाए रखने के लिए पैरों के बीच तकिया लगाकर सोना शुरू करें। 

periodcramps

3. पीरियड्स क्रैंप्स से दिलाए राहत (Get Rid of Period Cramp)

पीरियड्स बहुत ही दर्दनाक होते हैं। शुरूआत के दिनों में पीठ कमर और पेट में महिलाओं को बहुत दर्द होता है। ऐसे में पेट के बल या पीठ के बल सोने में और भी दर्द होता है। इस अवस्था में कई बार महिलाएं दर्द से राहत पाने के लिए गलत पोजिशन में भी लेटती हैं। जिससे यह दर्द और भी बढ़ जाता है। इसलिए पीरियड्स के दिनों में अगर आप पैरों के बीच तकिया रखकर एक करवट लेटती या सोती हैं तो आपके दर्द में बहुत राहत मितली है। इससे आपकी मसल्स पर पड़ने वाला दबाव कम होता है और दर्द से आराम मिलता है। 

4. प्रेग्नेंसी के दौरान आरामदायक (Comfortable during Pregnancy)

प्रेगनेंट महिलाओं को हमेशा एक तरफ पैरों के बीच तकिया रखकर सोने की सलाह दी जाती है। पैरों के बीच तकिया रखकर सोने से रक्त का संचार शिशु तक अच्छे से पहुंचता है। ऐसे में गलत पोजिशन में लेटने से आपके पेट की नसों पर दबाव पड़ता है और आपको दर्द भी हो सकता है। इसलिए ऐसे समय में आरामदायक आसन में ही सोना चाहिए और पैरों के बीच तकिया रखकर सोने से ज़्यादा आरामदायक और कुछ नहीं होगा। ऐसा करने से बच्चे का भी स्वास्थ्य सुरक्षित और आरामदायक अवस्था में रहता है। 

5. गुर्दे के दर्द से दिलाए आराम (Relief from Kidney Pain)

गुर्दे के दर्द में आपको पीठ के निचली पसलियों में दर्द होता है। गुर्दों का दर्द कई कारणों से होता है जैसे कि पथरी, इंफेक्शन ज़्यादा देर तक पेशाब रोकना आदि। कई बार तो लंबे समय तक बैठे रहने पर भी गुर्दों में दर्द होने लगता है। इसके लिए पैरों के बीच में तकिया रखकर सोने से दर्द में काफी राहत मिलती है। पसलियों पर दबाव कम होता है। इस पोजीशन में सोने से गुर्दे का दर्द ठीक हो जाता है। अगर आप गुर्दों के दर्द से पीड़ित हैं और रात में ठीक से सो नहीं पाते हैं तो यह आपके दर्द को दूर करने के लिए अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें - शिरोधारा थेरेपी से शरीर और मस्तिष्क को मिलते हैं कई फायदे, आयुर्वेदाचार्य से जानें इसे करने का तरीका

6. हिप रिप्लेसमेंट सर्जरी के बाद (After Hip Replacement Surgery)

हिप रिप्लेसमेंट सर्जरी एक ऐसी शल्य चिकित्सा है, जिसमें कार्टिलेज और कूल्हे के जोड़ की हड्डी को निकालकर उसकी जगह आर्टिफिशियल जोड़ (Artificial Joint) लगाया जाता है। हिप रिप्लेसमेंट की जरूरत तब पड़ती है जब हिप में बहुत दर्द हो या फ्रैक्चर (Fracture) आ जाए। इस सर्जरी के बाद सोने में, उठने, बैठने में तकलीफ हो सकती है। सोते समय आपको दर्द हो सकता है और नींद में बाधा आ सकती है। इसलिए हिप रिप्लेसमेंट के बाद आपको पैरों के बीच तकिया लगाकर सोना चाहिए। इससे आपके कूल्हों पर दबाव नहीं पड़ता और आप जल्दी ही हील होते हैं। 

kneepain

7. नी रिप्लेसमेंट सर्जरी (Knee Replacement Surgery)

जब अर्थराइटिस का दर्द गंभीर रूप ले लेता है और चलने बैठने में बहुत दर्द होने लगता है तब घुटनों को ऑपरेशन यानी नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की जाती है। इसमें डैमेज् बोन की जोड़ को हटकर आर्टिफिशियल जोड़ लगाया जाता है। इस सर्जरी के बाद आपको कई दिनों तक सोने में तकलीफ हो सकती है। इसके लिए आप अपने पैरो के बीच तकिया रखकर आराम से सो सकते है। आपके घुटनों और जांघो को बहुत आराम मिलेगा। ऑपरेशन के बाद सोने में तकलीफ होना लाजमी है। इसीलिए घुटनों पर जोर न पड़े इसलिए पैरों के बीच तकिया लगाकर सोना अच्छा माना जाता है। ऐसा करने से आपके दोनों घुटने एक दूसरे से नहीं टकराते हैं और दर्द होने की संभावना भी काफी हद तक कम हो जाती है। 

दोनों पैरों के बीच में तकिया लगाकर सोने से आप कई तरह के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। इसलिए स्वस्थ रहने के लिए सही पोजिशन में सोएं और तकिया का सहारा लें। ऐसा करने से आप इस लेख में दी गई सभी समस्याओं से होने वाले दर्द में राहत पा सकेंगे। 

Read more Articles on Body and Mind in Hindi

Disclaimer