महिलाओं की कई समस्याओं को दूर करने में असरदार है हड़जोड़, जानें इसके 10 फायदे और नुकसान

हड़जोड़ का इस्तेमाल आयुर्वेद में कई बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। चलिए जानते हैं इसके फायदे और नुकसान-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Aug 26, 2021 14:39 IST
महिलाओं की कई समस्याओं को दूर करने में असरदार है हड़जोड़, जानें इसके 10 फायदे और नुकसान

हड़जोड़ एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है, जिसका इस्तेमाल आयुर्वेद में औषधी के रूप में किया जाता है। गाजियबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य राहुल चतुर्वेदी बताते हैं कि हड़जोड़ को आयुर्वेद में अस्थिसंहार के नाम से जाना जाता है।  इसका प्रमुख रूप से हड्डियों को जोड़ने के लिए किया जाता है। इसके अलावा इसका प्रयोग बवासीर, मोच, अल्सर, पेट से जुड़ी बीमारी को दूर करने के लिए किया जाता है। आयुर्वेदाचार्य का कहना है कि अस्थिसंहार की तासीर गर्म होती है। स्वाद की बात की जाए, तो यह हल्का मीठा, कड़वा और तीखा होता है। इससे आपके पाचन प्रणाली मजबूत होती है। चलिए इस लेख के जरिए जानते हैं अस्थिसंहार के ( veld grape ayurveda herbs ) फायदे और कुछ नुकसान-

हड़जोड़ के फायदे (Health Benefits of Hadjod)

1. पेट के विकारों को करे दूर

हड़जोड़ के इस्तेमाल से पेट से जुड़े विकारों को दूर किया जाता है। अक्सर हम में से कई लोगों को मसालेदार खाना खाने या असमय खाना खाने से पेट में गैस, कुपच जैसी समस्या होने लगती है। इन समस्याओं को ठीक करने के लिए आप हड़जोड़ की मदद से घरेलू उपचार कर सकते हैं। इसके लिए हड़जोड़ के पत्तों से करीब 5 से 10 मिली रस निकाल लीजिए। अब इस रस में थोड़ा सा शहद मिक्स करके पी जाएं। इससे पाचन क्रिया ठीक होगी। साथ ही पेट से जुड़ी अन्य परेशानियों को आराम मिलेगा।

2. घाव में है असरदार

हड़जोड़ घाव को सूखाने में असरदार हो सकता है। अगर आपको किसी कीट के काटने पर घाव हो गया है, तो उस स्थान पर हड़जोड़ का रस लगाएं। इससे घाव जल्द ठीक हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - घाव, सूजन, त्वचा रोग जैसी इन 5 समस्याओं को दूर करती है 'गोरख इमली', जानें इस औषधि के प्रयोग का तरीका

3. बवासीर को करे ठीक

अधिक मसालेदार और तीखा खाने वाले लोगों को पाइल्स की समस्या हो सकती है। ऐसे लोगों को कम मसालेदार खाने पर जोड़ देना चाहिए। अगर आपको भी किसी कारण से पाइल्स यानि बवासीर की शिकायत हो गई है, तो हड़जोड़ का सेवन करें। हड़जोड़ का सेवन करने के लिए इसकी पत्तियों को पीसकर रस निकाल लें। अब इस रस में गाय का दूध मिक्स करके पी जाएं। इस दूध को पीने से बवासीर की समस्या से राहत पाया जा सकता है।

4. व्हाइट डिस्चार्ज से राहत

कई महिलाओं को योनि से सफेद पानी निकलने की समस्या होती है। व्हाइट हिस्चार्ज की वजह से महिलाओं को काफी ज्यादा कमजोरी का सामना करना पड़ता है। इन कमजोरी से राहत पाने के लिए आप हड़जोड़ का सेवन कर करते हैं। हड़जोड़ के सेवन से शारीरिक कमजोरी दूर होगी। साथ ही सफेद पानी की परेशानी से भी राहत पाया जा सकता है। इसके लिए 5 से 10 मिली हड़जोड़ का रस लें। इस रस को नियमित रूप से पीने से आपको सफेद पानी की समस्या से लाभ मिलेगा।

इसे भी पढ़ें - गर्भावस्था को भी प्रभावित कर सकता है व्हाइट डिस्चार्ज (सफेद पानी आना), जानें इसके 4 प्रकार और बचाव के उपाय

5. डिलीवरी के बाद होने वाले दर्द दिलाए राहत

डिलीवरी के बाद कई महिलाओं को पेड़ू और पेट के आसपास काफी ज्यादा दर्द महसूस होता है। इस दर्द से राहत पाने के लिए आप हड़जोड़ के पत्तों को पीसकर उसका लेप अपने प्रभावित हिस्से पर लगा सकते हैं। इससे आपको काफी ज्यादा आराम मिलेगा।

6. पाचन शक्ति को बढ़ाए हड़जोड़

पाचन शक्ति को मजबूत करने में हड़जोड़ फायदेमंद हो सकता है। इसका सेवन करने से आपकी भूख बढ़ती है। साथ ही आपके पेट अंदर से मजबूत होता है। इसलिए इसके रस का नियमित रूप से सेवन करें। हालांकि, सेवन करने से पहले एक बार चिकित्सीय परामर्श जरूर लें। 

7. गठिया के दर्द से दिलाए आराम

बढ़ती उम्र के कारण कई लोगों को गठिया की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लेकिन आपको बता दें कि गठिया की परेशानियों से राहत पाने के लिए आप हड़जोड़ का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको काफी आराम मिल सकता है। गठिया की समस्याओं से राहत पाने के लिए हड़जोड़ का एक भाग छिलका रहित तना लें। अब इसे उड़द दाल के पास पीसकर तिल के तेल में वटिका की तरह छान लें। इस वटिका का सेवन करने से वात रोगों से लाभ मिलेगा। लगातार 15 दिनों तक इसका सेवन करने से गठिया की समस्याओं से राहत मिल सकता है। 

8. हड्डियों को जोड़ने में असरदार

हड़जोड़ जैसा की नाम से ही ज्ञात होता है कि यह हड्डियों को जोड़ने में असरदार है। इसके लिए 10 से 15 मिली हड़जोड़ के रस को घी के साथ पिएं। इसके अलावा इसके रस में अलसी का तेल मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाएं और इसे बांध दें। इससे टूटी हड्डियां जुड़ सकती है। इसके अलावा हड़जोड़ के चूर्ण को दूध के साथ मिलाकर पीने से टूटी हुई हड्डियां जुड़ सकती हैं।

9. मोच के दर्द को करे कम

अगर आपको किसी कारण से मोच लग गई है, तो हड़जोड़ आपके मोच के दर्द को कम करने में सहायक हो सकता है। इसके लिए हड़जोड़ के रस को तिल के तेल में मिला लें। अब इस तेल को पकाकर छान लें। इसके बाद इस अपने मोच से प्रभावित स्थान पर लगाएं। इससे आपको वेदना और दर्द से राहत मिल सकता है।

इसे भी पढ़ें - हाथ-पैर की मोच का देसी घरेलू इलाज है हल्दी और चूना, इस्तेमाल से तुरंत मिलेगा आराम

10. ब्लीडिंग को करे कम

अगर आपके शरीर में कटने या फिर छिलने की वजह से काफी ज्यादा ब्लीडिंग हो रही है, तो इस स्थिति में हड़जोड़ आपके लिए गुणकारी हो सकता है। इसके लिए हड़जोड़ के तनों या जड़ से रस निकाल लें। अब इस रस को अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे रक्तस्त्राव की शिकायत दूर हो सकती है।  

हड़जोड़ के नुकसान (Side Effects of Hadjod)

हड़जोड़ स्वास्थ्य के लिए गुणकारी हो सकता है। यह विषैली जड़ी-बूटी नहीं है। लेकिन इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से जरूरी सलाह लें। गर्भावस्था, स्तनपान, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज से लोगों को इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरूरी है। खाली पेट इसका सेवन करने से बचें। इसके कारण आपको उल्टी-मतली की शिकायत हो सकती है। अधिक मात्रा में हड़जोड़ का सेवन करने से और बिना डॉक्टरी सलाह के इसका सेवन करने से आपको कई समस्याएं हो सकती हैं। जैसे-

  • पित्त को बढ़ावा देने वाली समसया एसिडिटी
  • दिल की धड़कन तेज होना। 
  • पेट में सूजन
  • हाथ-पैर में जलन
  • अल्सर और  छाले हैं तो भी इसका सेवन न करें।

ध्यान रखें कि  हड़जोड़ आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद है। लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन न करें। इससे आपकी कई  समस्याएं बढ़ सकत ी हैं। साथ ही हड़जोड़ का सेवन करने से पहले एक बार  चिकित्सीय परामर्श जरूर लें।

Image Credit - Pixabay

Read More Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer