पित्त की थैली (गोल ब्लैडर) निकलवाने के बाद हो सकती हैं ये 7 परेशानियां, जानें बिना ब्लैडर स्वस्थ रहने के टिप्स

गोल ब्लैडर निकलवाने के बाद आपको कभी कब्ज तो, कभी दस्त की समस्या रह सकती है। ऐसे में आप बिना ब्लैडर स्वस्थ रहने के टिप्स के बारे में भी जानें। 

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariUpdated at: Aug 25, 2021 17:22 IST
पित्त की थैली (गोल ब्लैडर) निकलवाने के बाद हो सकती हैं ये 7 परेशानियां, जानें बिना ब्लैडर स्वस्थ रहने के टिप्स

पित्त की थैली (gallbladder) हमारे शरीर के बाकी अंगों जितना ही जरूरी है। गोल ब्लैडर बाइल जूस को संग्रहित करता है यानी कि पित्त को जमा करता है। जब हम खाना खाते हैं, तो पित्ताशय (गोल ब्लैडर) आपके पाचन तंत्र में पित्त भेजने का काम करता है, जिससे खाना पचाने में आसानी होती है। पर जब गोल ब्लैडर में बहुत अधिक कोलेस्ट्रॉल जमा हो जाता है और  पथरी बनने लगते हैं तो इसके काम काज में खराबी आने लगती है। ऐसे में कई बार हमें पित्ताशय की पथरी और पित्ताश्य में सूजन जैसी कई बीमारियां होने लगती हैं। ऐसे में जब इन बीमारियों के लक्षण गंभीर हो जाते हैं तो, पित्त की थैली (गोल ब्लैडर) निकालना पड़ता है। 

inside3gallbladderremovalpain

हालांकि , आपका पित्ताशय एक ऐसा अंग है जिसके बिना आप रह सकते हैं। क्योंकि पित्त, पर्याप्त मात्रा आपके लिवर से बाहर निकल सकती है और आपके बाइल डक्ट से होते हुए बिना गोल ब्लैडर से गए हुए आपकी आंतों से बाहर जा सकती है। इसलिए ज्यादातर लोगों को गॉलब्लैडर रिमूवल सर्जरी कराने के बाद खाना खाने या पचाने में कोई दिक्कत नहीं होती है। लेकिन कभी-कभी समस्याएं होती हैं और तब आप अपने शरीर में पित्त की थैली निकालने के बाद नुकसानों (side effects of gallbladder removal) को महसूस करते हैं। इन्हीं नुकसानों के बारे में जानने के लिए हमने गैस्ट्रोलॉजिस्ट डॉक्टर विपुल शर्मा, उद्यान हेल्थ केयर सेंटर, लखनऊ से बात की। 

पित्त की थैली निकालने के बाद नुकसान- Gallbladder removal side effects in hindi

1. पेट दर्द 

पित्त की थैली निकालने के बाद आपको लंबे समय के लिए पेट दर्द हो सकता है। कई बार खाने के बाद आप इसे पेट दर्द को ज्यादा महसूस कर सकते हैं। दरअसल, ये कुछ लोगों को सर्जरी के बाद पहले महीने के दौरान  फैट युक्त खाद्य पदार्थों को पचाने में थोड़ी अधिक कठिनाई होने के कारण हो सकता है। ऐसे में आपको गोल ब्लैडर रिमूवल के बाद कम फैट वाला और सिंपल खाना खाने की कोशिश करनी चाहिए। साथ ही कोशिश करें कि कोई भी खाना ऐसा ना खाएं जिसे पचाने में पेट को ज्यादा मेहनत करनी पड़े। 

2. कब्ज की समस्या 

कब्ज की समस्या गोन ब्लैडर निकलवाने के बाद बहुत आम सी परेशानी है। दरअसल, ये सब खाना सही से ना पच पाने और मेटाबोलिज्म के प्रोसेस का धीमा होने की वजह से होता है। साथ ही कुछ लोगों को पित्ताशय की थैली की सर्जरी के बाद ली जाने वाली दर्द निवारक दवाओं के कारण भी कब्ज की समस्या हो सकती है। ऐसे में आपको इस परेशानी को ठीक करने के लिए फाइबर से भरपूर आहार जैसे  बीन्स, चोकर वाला आटा, साबुत अनाज और फाइबर से भरपूर फल और सब्जियां का सेवन करना चाहिए। साथ ही आपक सर्जन आपकी मदद करने के लिए स्टूल सॉफ्टर भी दे सकता है।

inside1constipation 

इसे भी पढ़ें : लेजर सर्जरी क्या है? जानें बवासीर सहित किन बीमारियों के इलाज में की जाती है ये सर्जरी

3. दस्त

गोल ब्लैडर निकालने के बाद बहुत से लोगों का पेट खराब रहता है और उन्हें अक्सर दस्त की समस्या होती रहती है। दरअसल, असल में दस्त के जरिए आपका पित्त बाहर निकलता है। होता ये है कि जब गोल ब्लैडर निकल जाता है तो तो शरीर में बाइल जूस कंट्रोल नहीं हो पाता है जिससे यह आपकी छोटी आंत में अधिक लगातार, लेकिन कम मात्रा में प्रवाहित होगी। इससे कई लोगों में सर्जरी के बाद पहले कुछ दिनों तक दस्त हो सकते हैं। ये कुछ लोगों में दो तीन दिनों से अधिक समय तक रह सकता है और ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। साथ ही कुछ लोग जो पहले दिन में एक बार ही पॉटी करते थे वे वे पित्ताशय की थैली निकलवाने के बाद दिन में अधिक बार मल त्याग करते हुए खुद को पाएंगे। इस दौरान आपका मल कभी-कभी ढीला और पानीदार हो सकते है। साथ ही कुछ मोटे लोगों में या बूढ़े लोगों में सर्जरी के बाद महीनों से लेकर सालों तक दस्त भी हो सकते हैं। ऐसे में कम फैट वाला आहार खाने से लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है और दवाओं के साथ बाइल जूस के निकलने को कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। 

4. तेल मसाला पचाने में मुश्किल

गोल ब्लैडर निकलवाने से आपको ज्यादा तेल मसाला वाले खाने को पचाने में मुश्किल हो सकती है। दरअसल, गोल ब्लैडर निकलवाने से पहले तो आपका शरीर बाइल जूस की मदद से फैट को तोड़ कर पचा लेता था पर अब शरीर को डाइरेक्ट आंतों द्वारा फैट पचाने में मुश्किल हो सकती है। इसमें शरीर को समय लग सकता है। साथ ही  सर्जरी के दौरान आपको जो दवाएं दी गई थीं, वे भी अपच का कारण बन सकती हैं। यह आम तौर पर लंबे समय तक नहीं रहता है, लेकिन कुछ रोगियों में दीर्घकालिक दुष्प्रभाव विकसित होते हैं, जो आमतौर पर पित्त नलिकाओं में पीछे रह गए अन्य अंगों या पित्त पथरी में पित्त के रिसाव के कारण होता है।

5. हमेशा बीमार महसूस करना 

गोल ब्लैडर निकलवाने के बाद आप लंबे समय तक बीमार महसूस कर सकते हैं। ये सब दवाओं के कारण होता है, जो कि आपके शरीर पर दूसरे नुकसान पहुंचाते हैं। जैसे कि भारी दवाओं के कारण आपको नींद आ सकती है, आपको शरीर भारी-भारी लग सकता है। मन बेचैन हो सकता है और आप लंबे समय के लिए बीमार हो सकते हैं। 

inside2gallbladderremoval

इसे भी पढ़ें : बच्चों और बड़ों के पेट में कीड़े होने के लक्षण और इसे ठीक करने के 8 आयुर्वेदिक नुस्खे

6. जॉन्डिस (पीलिया)

गोल ब्लैडर निकलवाने के बाद आपको जॉन्डिस (पीलिया) हो सकता है। दरअसल,  कुछ मामलों में, गोल ब्लैडर की सर्जरी के बाद आपके बाइल डक्ट में कुछ पथरी रह जाते हैं। यह आपकी छोटी आंत में पित्त के प्रवाह को ब्लॉक कर सकता है और इसके परिणामस्वरूप सर्जरी के तुरंत बाद दर्द,  बुखार, मतली, उल्टी, सूजन और पीलिया हो सकता है।  ब्लॉकेज और इंफेक्शन पैदा भी कर सकता है। इसके कारण आपको बुखार और जॉन्डिस के लक्षण महसूस हो सकते हैं। 

7. थकान और मूड स्विंग्स

गोल ब्लैडर निकलवाने के बाद आपको लंबे समय तक  थकान,  चिड़चिड़ापन और मूड स्विंग्स महसूस हो सकते हैं।  ये सब दवाओं  के कारण और शरीर में खराब पाचन क्रियाओं के कारण हो सकता है। ऐसे में अपने डॉक्टर से पूछ कर अपनी डाइट सही करें। 

बिना ब्लैडर स्वस्थ रहने के टिप्स-Gallbladder removal recovery tips

  • -साधारण सब्जियों और फलों के साथ अपनी दिन की शुरुआत करें।
  • -ज्यादा मसालेदार, नमकीन, मीठे या फैट से भरपूर खाद्य पदार्थों को खाने से बचें। 
  • -सर्जरी के बाद फाइबर ज्यादा खाएं जैसे कि साबुत अनाज, नट्स, सीड्स, गोभी, ब्रोकोली और फूलगोभी आदि। 
  • -हल्के व्यायाम करें, जैसे वॉकिंग। लेकिन सावधान रहें और बहुत इंटेंस एक्सरसाइज ना करें। 

गोल ब्लैडर निकलवाने के बाद कुछ दिनों तक अपना खास ध्यान रखें। जैसे कि अगर आपको बहुत ज्यादा पेट दर्द, मतली और उल्टी हो रही है, तो डॉक्टर को तुंरत दिखाएं। या फिर गैस की समस्या ज्यादा हो रही है या शरीर में जॉन्डिस के लक्षण नजर आ रहे हैं तो, तुरंत अपने डॉक्टर को दिखाएं। 

Main image credit: getty images

Read more articles on Other-Diseases in Hindi

Disclaimer