रेगुलर रनिंग करने वाले कैसे रखें अपने पैरों का ख्याल? एक्सपर्ट से जानें खास फुट केयर टिप्स

रेगुलर रन‍िंग के बाद पैरों में होती है थकान, खुजली की समस्‍या तो आपको भी अपनाने चाह‍िए खास ट‍िप्‍स

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Mar 29, 2022Updated at: Mar 29, 2022
रेगुलर रनिंग करने वाले कैसे रखें अपने पैरों का ख्याल? एक्सपर्ट से जानें खास फुट केयर टिप्स

अगर आप रन‍िंग करते हैं तो हो सकता है क‍ि आपको पैर में दर्द, रैशेज, क्रैम्‍प, मोच आद‍ि समस्‍या हो,इसके कई कारण हो सकते हैं। अगर आप वॉर्म अप नहीं करते हैं तो आपको पैरों में दर्द की समस्‍या हो सकती है। मोच, क्रैम्‍प आद‍ि से बचने के ल‍िए भी रन‍िंग करने से पहले वॉर्म अप, स्‍ट्रेच‍िंग जरूरी है। इस लेख में हम कुछ आसान ट‍िप्‍स बताने जा रहे हैं ज‍िनकी मदद से आप रन‍िंग के कारण पैरों में होने वाली समस्‍या से बच सकते हैं।   

leg stretching

image source: www.eriecbdd.org 

रन‍िंग के बाद पैरों का ख्‍याल कैसे रखें? (How to take care of legs after running) 

आपको वर्कआउट या रन‍िंग के बाद भी अपने पैरों को र‍िलैक्‍स करना चाह‍िए। कुछ रनर्स को ड्राय लैग्‍स की समस्‍या भी होती है ज‍िसे दूर करने के ल‍िए आपको पैरों को सही तरीके से मॉइश्‍चराइज करना चाह‍िए। पैरों को हाइड्रेट रखना जरूरी है। आपको रन‍िंग के बाद पैरों को अच्‍छी तरह से साफ करके मॉइश्‍चराइज एप्‍लाई करना चाह‍िए। ऐसा करने से आपके पैरों में स्‍क‍िन से जुड़ी समस्‍याएं जैसे रैशेज, रेडनेस या ड्राय स्‍क‍िन की समस्‍या नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें- स्किन से टैनिंग की समस्या दूर करता है पपीता, जानें इस्तेमाल के 5 तरीके

1. कॉटन मोजों का इस्‍तेमाल (Use cotton socks)

अगर आप रनर हैं और आपको रोजाना दौड़ना होता है तो पैरों की देखभाल करना बहुत जरूरी है। आपको अपने मोजों को रोजाना बदलना चाह‍िए, मोजों के कारण भी मॉइश्‍चर, एथलीट फुट फंगस जैसी समस्‍या पैरों में हो जाती है। आपको हर मौसम में केवल कॉटन मोजों का ही इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। कॉटन के मोजों से हीट एब्‍सॉर्ब हो जाती है और आपको पैर में पसीना या हीट ज्‍यादा महसूस नहीं होती। इसके साथ ही आपको इस बात का ध्‍यान रखना भी जरूरी है क‍ि आपके शूज सही साइज और शेप के हों ताक‍ि आपको दौड़ते समय क‍िसी भी तरह की समस्‍या न हो।

2. वॉर्म अप करें (Try warm up)

रेगुलर रन‍िंंग के कारण अगर आपके पैर में दर्द होता है तो आपको वॉर्म अप करना चाह‍िए। अगर आप वॉर्म अप नहीं करते हैं तो आपके पैर में दर्द हो सकता है। जब भी लंबे समय या ज्‍यादा ड‍िस्‍टेंस के ल‍िए रन‍िंग करें तो पहले वॉर्म अप जरूर करें इससे पैरों में दर्द की समस्‍या नहीं होगी। वॉर्म करने से पैरों को मजबूती म‍िलती है और आप लंबे समय तक रन‍िंग कर पाते हैं। ब‍िना वॉर्म अप अचानक से रन‍िंग करने के कारण आपके पैर में दर्द, मोच या क्रैम्‍प की समस्‍या हो सकती है।  

3. स्‍ट्रेच‍िंग करें (Try stretching) 

अगर आप स्‍ट्र‍ेच‍िंग नहीं करते हैं तो भी रन‍िंग के दौरान या उसके बाद पैर में दर्द उठ सकता है, आपको पैरों की देखभाल के ल‍िए स्‍ट्रेच‍िंग एक्‍सरसाइज करनी चाह‍िए। स्‍ट्रेच‍िंग करने के ल‍िए आप पैर की उंगल‍ियों और मसल्‍स को सहलाएं और ज्‍वॉइंट्स को स्‍ट्रेच करें। 

इसे भी पढ़ें- स्किन व्हाइटनिंग के लिए चेहरे पर लगाएं कॉफी से बने ये 2 फेस पैक, निखरने लगेगी आपकी रंगत

4. फुट सोक का इस्‍तेमाल (Use foot soak)

foot soak use

image source: healthista

रेगुलर रन‍िंग के कारण पैर में दर्द, खुजली, रैशेज आद‍ि समस्‍या होती है तो आपको फुट सोक का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। फुट सोक बनाने के ल‍िए आप पानी को गुनगुना करें और उसमें एप्सम सॉल्ट म‍िलाएं और पैरों को 15 म‍िनट के ल‍िए डुबोकर रखें इससे दर्द ठीक हो जाएगा।

5. ब्रेक जरूरी है (Break is important) 

अगर आप लगातर या ज्‍यादा समय के ल‍िए रन‍िंग करते हैं तो भी पैर में खुजली, रैशेज, पेन या क्रैम्‍प आद‍ि समस्‍या हो सकती है। आपको ब्रेक जरूर लेना चाह‍िए। अगर आप 2 घंटे रन‍िंग करते हैं तो हर आधे घंटे में दो बार ब्रेक लें। ब्रेक को आप एक से दो म‍िनट के ल‍िए रख सकते हैं। 

6. हेल्‍दी डाइट की जरूरत (Take healthy diet)

डाइट का असर भी मसल्‍स पर पड़ता है। अगर आपके शरीर में व‍िटाम‍िन डी, कैल्‍श‍ियम, एंटीऑक्‍सीडेंट्स की कमी है तो आपको हेल्‍दी डाइट लेनी चाह‍िए। हेल्‍दी डाइट के ल‍िए आप अपनी डाइट में फाइबर र‍िच फूड्स, मैग्‍न‍िश‍ियम र‍िच डाइट, डेयरी प्रोडक्‍ट्स आद‍ि शाम‍िल करें।       

पैरों के मामले में क‍िसी भी तरह की लापरवाही न बरतें, आपको रन‍िंग के बाद पैरों की सफाई और रन‍िंग से पहले स्‍ट्रेच‍िंग, वॉर्म अप आद‍ि का ख्‍याल रखना चाह‍िए।

main image source: cloudfront.net 

Disclaimer