7-8 घंटे सोने के बाद भी क्यों आती है नींद? जानें इसके 7 कारण

कई लोगों को 7-8 घंटे सोने के बाद भी बार-बार उबासी आती रहती है। वे नींद की इच्छा जाहिर करते हैं। आखिर ऐसा क्यों होता है, जानें इसके कारण-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 15, 2022Updated at: Jun 15, 2022
7-8 घंटे सोने के बाद भी क्यों आती है नींद? जानें इसके 7 कारण

Why Am I Still Sleepy After Sleeping all Day: आपने अकसर अपने ऑफिस के सहकर्मियों को बार-बार उबासी लेते हुए देखा होगा। उबासी नींद आने का एक संकेत होता है। ऐसे जब वे बार-बार कहते भी रहते हैं, कि उन्हें नींद आ रही है। जब उनसे पूछा जाता है कि क्या आप रात में नहीं सोएं? तो वे कहते हैं कि रात में भी मैं पूरे 7-8 घंटे सोई या सोया हूं, लेकिन फिर भी मुझे नींद आ रही है। तो क्या आपको भी पूरी नींद लेने के बाद भी उबासी आती रहती है? तो चलिए जानते है आखिर ऐसा क्यों होता है-

1. अच्छी नींद न लेना

कई बार लोग सोते तो 7-8 घंटे हैं, लेकिन उस दौरान उन्हें अच्छी नींद नहीं आती है। सोते समय या तो उन्हें सपने आते हैं या फिर बीच-बीच में नींद टूट जाती है। इससे व्यक्ति को थोड़ा सा काम करने के बाद थकान लग सकती है और नींद आ सकती है। जब नींद गहरी और अच्छी नहीं आती है, तो व्यक्ति को दिन के समय नींद आ सकती है।  

feeling sleepy all day

2. पोषक तत्वों की कमी

जिन लोगों के शरीर में पोषक तत्वों की कमी होती है, उन्हें पूरी नींद लेने के बाद भी सुस्ती और आलस महसूस हो सकता है। इसकी वजह से उन्हें रात में सोने के बाद दिन के समय नींद अधिक आ सकती है। जब शरीर में आयरन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, पैंटोथेनिक एसिड, फोलेट, विटामिन बी12 और विटामिन डी की कमी होती है तो व्यक्ति को सोने के बाद भी नींद आ सकती है। 

इसे भी पढ़ें- ब्लैक कॉफी या दूध वाली कॉफी, सेहत के लिए कौन सी है ज्यादा हेल्दी? जानें एक्सपर्ट से

3. तनाव (does sleeping all day cause depression)

तनाव या स्ट्रेस में व्यक्ति को 7-8 घंटे सोने के बाद भी नींद आ सकती है। तनाव की वजह से व्यक्ति के मस्तिष्क पर असर पड़ता है। इससे थकान महसूस होती है। अगर आप तनाव में रहते हैं, तो हो सकता है आपको अधिक नींद आए। जो लोग तनाव में रहते हैं, उन्हें दूसरे लोगों की तुलना में नींद अधिक आती है।  

4. बीमारियां

कुछ चिकित्सीय स्थितियां भी नींद पूरी न होने के कारण हो सकते हैं। जब कोई व्यक्ति बीमार होता है, तो उसे अन्य लोगों की तुलना में अधिक नींद आ सकती है। जैसे स्लीप एपनिया, हाइपोथायरायडिज्म, कैंसर, क्रोनिक फटीन सिंड्रोम, स्ट्रेस और लिवर की बीमारियां। लोगों को इन चिकित्सीय स्थितियों में 7-8 घंटे सोने के बाद भी नींद आ सकती है। 

इसके अलावा जो लोग दवाइयां खाते हैं, उन्हें बार-बार नींद आ सकती है। दवाई खाने से पर्याप्त नींद लेने के बाद भी थकान महसूस हो सकती है, व्यक्ति नींद की इच्छा जाहिर कर सकता है।

sleepy all day

5. डिहाइड्रेशन

डिहाइड्रेशन भी नींद आने का कारण बन सकता है। क्योंकि ऊर्जा के स्तर को बनाए रखने के लिए अच्छी तरह से हाइड्रेट रहना बहुत जरूरी है। जो लोग हाइड्रेट रहते हैं, वे अधिक एनर्जेटिक रहते हैं। जब व्यक्ति डिहाइड्रेट होता है, तो ऐसे में उसे सोने के बाद भी नींद आ सकती है। ऐसे में आपको तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए। दिनभर में 8-10 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए।

6. मोटापा या अधिक वजन

जो लोग मोटे होते हैं, उन्हें फिट लोगों की तुलना में अधिक नींद आ सकती है। अकसर मोटे लोगों को बार-बार नींद की शिकायत करते हुए देखा जा सकता है। अगर आपको भी 8 घंटे सोने के बाद भी नींद आती रही है, तो ऐसे में अपना वजन कंट्रोल में रखने की कोशिश करें।

इसे भी पढ़ें- आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए खाएं ये 5 तरह के बीज, बुढ़ापे तक तेज रहेगी नजर

7. अनहेल्दी डाइट लेना

स्वस्थ रहने के लिए हेल्दी या बैलेंस डाइट लेना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए आपको अपनी डाइट में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन्स और मिनरल्स को जरूर शामिल करना चाहिए। अगर आप अनहेल्दी फूड्स खाते हैं, तो आपको अधिक नींद आ सकती है। इसलिए अगर आपको सोने के बाद भी नींद आती रहती है, तो ऐसे में फास्ट फूड, प्रोसेस्ड फूड आदि का सेवन करना बंद कर दें।

अगर आपको भी 7-8 घंटे सोने के बाद नींद आती रहती है, तो इसके कई कारण हो सकते हैं। अगर आपको साथ हर रोज ही ऐसा होता है तो एक बार डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करें।

Disclaimer