बॉडी शेमिंग का (शारीरिक बनावट, रंग, रूप आदि को लेकर चिढ़ाना) व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य पर कैसे पड़ता है असर?

बॉडी शेमिंग की वजह से व्यक्ति को कई गंभीर मानसिक समस्याएं हो सकती हैं, आइये जानते हैं इस समस्या को हैंडल करने के तरीके के बारे में।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Sep 01, 2021 11:49 IST
बॉडी शेमिंग का (शारीरिक बनावट, रंग, रूप आदि को लेकर चिढ़ाना) व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य पर कैसे पड़ता है असर?

शरीर की बनावट, वजन, रंग और रूप को लेकर ट्रोल करना 'बॉडी शेमिंग' कहा जाता है। आज के समय में बॉलीवुड से लेकर सड़क तक, मोहल्ले से लेकर कॉलेज और दफ्तरों में भी रोजाना लोग इसका शिकार होते हैं। नाक, कान और चेहरे की बनावट को लेकर चिढ़ाने और ट्रोल करने से लेकर वजन और शरीर की शेप को भी मजाक का विषय बनाना बॉडी शेमिंग (Body Shaming) का हिस्सा है। दोस्तों और सहकर्मियों के बीच भी अक्सर लोग इस बात का शिकार होते हैं। आपका वजन अगर कुछ ज्यादा है तो जरूरी आपको मोटे या मोटी कहकर बुलाया गया होगा। अगर किसी के शरीर की लंबाई कम है तो उसे भी नाटे या नाटी कहकर बुलाया जाता है। भले ही ये बातें मजाक में कही जा रही हैं या चिढ़ाने के उद्देश्य से। सामने वाले के मन में इन बातों का बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है। मजाक में भले ही अपने दोस्त या सहकर्मी को उसके शरीर के रंग-रूप और बनावट को लेकर ट्रोल किया हो लेकिन आपकी ये बातें उसके मानसिक स्वास्थ्य को भी बुरी तरह से प्रभावित कर सकती हैं। बॉडी शेमिंग का शिकार व्यक्ति कई तरह की मानसिक समस्याओं का शिकार हो सकता है। आइये जानते हैं बॉडी शेमिंग से मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ने वाले असर और इसके बचाव के बारे में।

बॉडी शेमिंग का मानसिक स्वास्थ्य पर असर (Effects of Body Shaming on Mental Health)

Body-Shaming-Effects-on-Mental-Health

(image source - freepik.com)

हर व्यक्ति के शरीर की बनावट उसके चेहरे की बनावट और उसका रंग-रूप अलग-अलग होता है। इसलिए जब समाज में या कार्यक्षेत्र पर किसी भी महिला या पुरुष को उसके शरीर, रंग या शरीर के बाहरी अंगों की बनावट को लेकर ट्रोल किया जाता है तो उसका सीधा असर उस व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है। लगातार बॉडी शेमिंग का शिकार होने से इंसान के मन के भीतर हीन भावना बैठ जाती है। जो लोग अपने वजन, शरीर और रंग आदि को लेकर बॉडी शेमिंग के कारण शर्मिंदगी महसूस करने लगते हैं ऐसे लोगों में आत्मविश्वास की कमी के साथ-साथ तमाम मानसिक समस्याएं पैदा हो सकती हैं। ऐसे लोग डिप्रेशन, चिंता, तनाव और अवसाद से ग्रसित हो सकते हैं। ऐसे लोगों को दिल से जुड़ी बीमारियों के साथ डायबिटीज और स्ट्रोक का खतरा भी रहता है। किसी भी व्यक्ति पर बॉडी शेमिंग से ये प्रभाव पड़ते हैं। 

इसे भी पढ़ें : आंतरिक रूप से प्रेरित (Intrinsic Motivation) होने के हैं कई फायदे, जानें इसके बारे में

1. बॉडी शेमिंग के कारण डिप्रेशन की समस्या 

कोई भी व्यक्ति जो अपने शरीर के वजन, रंग-रूप और बनावट को लेकर ट्रोल किया जा रहा है उसे डिप्रेशन की समस्या हो सकती है। लगातार हो रही बॉडी शेमिंग के कारण ऐसे व्यक्ति डिप्रेशन की समस्या का शिकार हो सकते हैं। घर हो या कॉलेज या दफ्तर किसी भी जगह पर कि गयी बॉडी शेमिंग का नकारात्मक असर सामने वाले व्यक्ति के दिमाग पर पड़ता है।

Body-Shaming-Effects-on-Mental-Health

(image source - freepik.com)

2. बॉडी शेमिंग की वजह से चिंता की समस्या

अधिक वजन, टेढ़ी नाक और रंग आदि की वजह से जब कोई भी व्यक्ति बॉडी शेमिंग का शिकार होता है तो उसे चिंता जैसी मानसिक समस्या का खतरा बढ़ जाता है। इसकी वजह से इंसान का आत्मविश्वास टूट जाता है और इंसान खुद की शरीर को ही लेकर चिंता करने लगता है।

इसे भी पढ़ें : खुद की भावनाओं को व्यक्त न कर पाना हो सकता है इमोशनल ब्लंटिंग, जानें इसके कारण और लक्षण

3. सामाजिक अलगाव की भावना 

बॉडी शेमिंग के कारण इंसान के भीतर सामाजिक अलगाव की भावना उत्पन्न हो सकती है। लगातार नकारात्मक टिप्पणियां लोगों को इस हद तक चिंतित कर सकती हैं कि वे इसके कारण सामाजिक अलगाव की भावना से ग्रसित हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : तनाव और चिड़चिड़ापन से बचने के लिए जानें टिप्स

Body-Shaming-Effects-on-Mental-Health

(image source - freepik.com)

4. पैनिक अटैक की संभावना 

जब किसी भी व्यक्ति को लगातार उसके शरीर, वजन और बनावट के कारण चिढ़ाया या परेशान किया जाता है तो वह तमाम तरफ की परेशानियों से गुजरता है। ऐसे में चिंता, अवसाद और तनाव के कारण इंसान को पैनिक अटैक भी आ सकता है। 

इसे भी पढ़ें : सफलता पाने के डर और तनाव (Fear of Success) को कम करने में मदद करेंगी ये टिप्स

5. बॉडी शेमिंग के कारण एनोरेक्सिया की समस्या 

बॉडी शेमिंग का शिकार होने के बाद इंसान को ईटिंग डिसआर्डर जैसे एनोरेक्सिया की समस्या हो सकती है। अगर आपके वजन के कारण आपको ट्रोल किया जा रहा है या चिढ़ाया जाता है तो इसके बाद आप वजन कम करने के खाना छोड़ सकते हैं जो आपको बीमारी से ग्रस्त कर सकता है। आप बॉडी शेमिंग के कारण एनोरेक्सिया निर्जलीकरण, कब्ज, अल्पपोषण, सूजन और यहां तक कि महिलाएं अनियमित मासिक धर्म आदि शिकार हो सकते हैं।

बॉडी शेमिंग रोकने के उपाय (Tips to Handle Body Shaming)

बॉडी शेमिंग किसी भी व्यक्ति को उसके शरीर, वजन, बनावट और उसके रंग-रूप को लेकर क्रिटिकल कमेंट करना, ट्रोल करना या मजाक उड़ाना है। बॉडी शेमिंग के कारण आपका मानसिक स्वास्थ्य बुरी तरह से प्रभावित हो सकता है। लगातार बॉडी शेमिंग का शिकार होने पर व्यक्ति गंभीर मानसिक समस्याओं का शिकार हो सकता है। इस समस्या को रोकने और इससे बचने के लिए आप इन तरीकों को अपना सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : मन में पछतावे की भावना को दूर करने के 7 तरीके, जानें एक्सपर्ट से

1. सेल्फ एक्सेप्टेन्स सीखें 

आपकी बॉडी किस शेप में है, आपका रंग क्या है या आपके शरीर की बनावट कैसी है उसे लेकर खुद चिंता करने के बजाय उसे एक्सेप्ट करना सीखें। अगर आप अपने शरीर, रंग-रूप या बनावट जो जैसी है उसे उसी रूप में एक्सेप्ट करते हैं तो आप किसी के भी क्रिटिकल कमेंट से आप अफेक्ट नहीं होंगे और सामने वाले व्यक्ति को सही ढंग से जवाब भी दे पाएंगे।

इसे भी पढ़ें : दिख रहे हैं ये 8 लक्षण तो आप भी हो सकते हैं 'टॉक्सिक पॉजिटिविटी' के शिकार, जानें इसे रोकने के उपाय

2. खुद की किसी से तुलना न करें

जब आप अपनी तुलना किसी और इंसान से करते हैं तो ऐसे में आपके मन में असुरक्षा की भावना आ सकती है। एक बात को समझना जरूरी है कि कमियां हर किसी भी व्यक्ति में होती हैं और हर व्यक्ति अपनी कमियों को दूर कर सकता है। तो ऐसे में कमियों को पहचाने और उसे दूर करने या उससे डील करने के बारे में सोचें।

3. फिट रहने के लिए करें लगातार मेहनत

आप अपनी फिटनेस को लेकर दूसरों द्वारा किये गए कमेंट को नजरअंदाज करें और अपनी फिटनेस को लेकर लगातार मेहनत करते रहें। आप फिट रहने के लिए जितनी भी मेहनत करते हैं उसका सीधा असर आपके सेहत पर दिखता है तो जब आपके ऊपर कोई भी व्यक्ति टिपण्णी करे तो उसे नजरअंदाज कर खुद को बेहतर कर आप उन्हें जवाब दे सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : स्टेज पर या भीड़ के सामने बोलने में लगता है डर? एक्सपर्ट से जानें कैसे कम करें स्टेज फियर

बॉडी शेमिंग का असर न सिर्फ शेमिंग करने वाले व्यक्ति पर होता है बल्कि शेमर्स पर भी इसका नकारात्मक असर होता है। इसके अलावा ऐसे व्यक्ति जो लगातार किसी को उसकी शरीर, वजन, शारीरिक बनावट आदि को लेकर ट्रोल करते रहते हैं वे खुद भी कई मानसिक समस्याओं के शिकार हो सकते हैं। बॉडी शेमिंग से घबराने के बजाय अगर आप ऐसी स्थितियों का सही ढंग से मुकाबला करेंगे तो आपको ये मानसिक समस्याएं नहीं होंगी।

(main image source - freepik.com)

Read More Articles on Mind and Body in Hindi

Disclaimer